ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़कोरबा में हाथी ने ग्रामीण को कुचला, कटघोरा वन मंडल में 24 हाथियों का दल मौजूद, विभाग ने जारी किया अलर्ट

कोरबा में हाथी ने ग्रामीण को कुचला, कटघोरा वन मंडल में 24 हाथियों का दल मौजूद, विभाग ने जारी किया अलर्ट

छत्तीसगढ़ में हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरबा जिले के कटघोरा वन मंडल में हाथी के हमले से एक ग्रामीण की मौत हो गई। ग्रामीण जंगल की तरफ जा रहा था, तभी हाथी ने हमला कर दिया।

कोरबा में हाथी ने ग्रामीण को कुचला, कटघोरा वन मंडल में 24 हाथियों का दल मौजूद, विभाग ने जारी किया अलर्ट
Sandeep Diwanलाइव हिन्दुस्तान,कोरबाWed, 17 Aug 2022 08:23 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ में हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरबा जिले के कटघोरा वन मंडल में हाथी के हमले से एक ग्रामीण की मौत हो गई। ग्रामीण जंगल की तरफ जा रहा था। इसी दौरान हाथियों से उसका सामना हो गया। ग्रामीण कुछ समझ पाता उससे पहले ही हाथी ने उसे सूंड से उठाकर पटक दिया और पैरों से कुचल दिया। ग्रामीण की घटना स्थल पर मौत हो गई। घटना कटघोरा वन मंडल के पसान रेंज के ग्राम खमरिया में हुआ है।

मिली जानकारी के मुताबिक पसान फॉरेस्ट रेंज में पिछले कुछ दिनों से 24 हाथियों का दल डेरा जमाए हुए है। रघुवर सिंह जंगल की तरफ जा रहा था, तभी उसका हाथियों से सामना हो गया। हाथी ने रघुवर सिंह पर अचानक हमला कर दिया। उसे सूंड से उठाकर पटक दिया और पैरों से कुचल कर मार डाला। हाथी काफी देर तक लाश के पास मौजूद रहे। सूचना पर वन विभाग व पुलिस की टीम गांव पहुंची। पुलिस ने शव पीएम के लिए भिजवाया।

जंगल की तरफ नहीं जाने कराई गई मुनादी 
बता दें कि 24 हाथियों का दल क्षेत्र में लगातार विचरण कर रहा है। हाथियों ने फसलों को भी रौंद दिया है, जिससे किसानों को काफी नुकसान हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि हाथियों के कारण उनका जीना मुश्किल हो गया है, लेकिन वन विभाग कुछ नहीं कर पा रहा है। हाथियों ने कई घरों को भी तोड़ दिया है। ग्रामीण की मौत के बाद वन विभाग ने गांव के लोगों को हाथियों की मौजूदगी वाले जंगल की ओर नहीं जाने के लिए मुनादी भी करवाई है।

बालोद और राजनांदगांव जिले में हाथियों से दहशत 
दुर्ग संभाग के राजनांदगांव और बालोद जिले में भी हाथियों का उत्पात जारी है। पिछले सप्ताह दोनों ही जिलों में हाथियों के कुचलने से बुजुर्ग महिला समेत 2 लोगों की मौत हो चुकी है। राजनांदगांव के मोहला मानपुर क्षेत्र के ग्राम भैंसबोड़ में हाथियों ने संतराम मंडावी (45 वर्ष) को कुचल दिया था। वहीं बालोद जिले में 11 अगस्त को हाथी के कुचलने से बुजुर्ग महिला की मौत हुई थी। 1 अगस्त को हाथियों ने बालोद के मुल्ले में एक किसान को कुचल दिया था।

epaper