ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ में ईडी का छापा, टिल्लू अग्रवाल के घर में हुई रेड, कस्टम मिलिंग घोटाले की चल रही जांच

छत्तीसगढ़ में ईडी का छापा, टिल्लू अग्रवाल के घर में हुई रेड, कस्टम मिलिंग घोटाले की चल रही जांच

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में ईडी ने एक बार फिर छापा मारा है। ईडी की टीम राईस मिल एसोसिएशन जुड़े लोगों के घर छापा मार कर कस्टम मिलिंग मामले की जांच कर रही है। ईडी की टीम ने आज टिल्लू अग्रवाल के घर....

छत्तीसगढ़ में ईडी का छापा, टिल्लू अग्रवाल के घर में हुई रेड, कस्टम मिलिंग घोटाले की चल रही जांच
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरThu, 13 Jun 2024 06:39 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ में ईडी की टीम ने आज सुबह राजनांदगांव जिले में छापा मारा है। कस्टम मिलिंग मामले की जांच को लेकर ईडी की टीम ने इस बार राईस मिल एसोसिएशन के मेंबर टिल्लू अग्रवाल के घर छापा मारते हुए कार्रवाई कर रही है। छत्तीसगढ़ में कस्टम मिलिंग मामले में ईडी ने जून माह में दूसरी बार रेड करते दस्तावेज खंगालने का काम कर रही है। 

इससे पहले भी हो चुकी रेड

छत्तीसगढ़ में कस्टम मिलिंग मामले को लेकर ईडी की टीम पहले भी कार्रवाई कर चुकी है। हाल ही में 8 जून को जिला राईस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल के डोंगरगढ़ स्थित निवास में ईडी ने सुबह सुबह छापा मारा था और देर रात को उनके घर से दो बैग भरकर दस्तावेज व कुछ नगदी ले जाने की सूचना मिली थी। बताया जा रहा था कि मनोज अग्रवाल को छोड़ दिया गया था। उसके बाद आज सुबह जिला राईस मिल एसोसिएशन के ही कोषाध्यक्ष संतोष उर्फ टिल्लू अग्रवाल के अनुपम नगर स्थित घर पर छापामार कार्यवाही की गई हैं जो अब तक जारी है। इसके अलावा एक और व्यापारी के घर पर भी ईडी ने दबिश दी है।

ईडी की रेड में अब तक क्या मिला नहीं हुआ खुलासा

कस्टम मिलिंग की प्रोत्साहन राशि में घोटाले को लेकर यह कार्यवाही कर रही हैं जिसकी शुरुआत उन्होंने राईस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल के घर से की और वहां से जो दस्तावेज प्राप्त हुए कहीं ना कहीं उन्ही दस्तावेजों के आधार पर एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष संतोष अग्रवाल के घर पर यह कार्यवाही हो रही है। बताया जा रहा है संतोष अग्रवाल की राईस मिल छुरिया के अलावा महाराष्ट्र में भी है। लगभग छह अधिकारियों का दल मिलर के घर पर सुबह छह बजे से जांच में जुटी है। एक सप्ताह के भीतर ईडी की यह दूसरी रेड है।  हालांकि ईडी अंधेरे में आती हैं और अंधेरे में जाती है मीडिया से पूरी कार्यवाही को दूर रखा जाता है इसलिए अब तक यह स्पष्ट नही हो पाया है कि आखिर मनोज अग्रवाल के घर से कौन से दस्तावेज मिले और कितना कैश मिला और ना ही यह बता सकतें है कि संतोष अग्रवाल के घर से कितना कैश और कौन कौन से दस्तावेज ईडी के हाथ लगेंगे।