ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़CM भूपेश की PM मोदी को चिट्ठी, कहा- आकांक्षी जिलों के विकास को परखने सांस्कृतिक उत्थान भी बने पैमाना

CM भूपेश की PM मोदी को चिट्ठी, कहा- आकांक्षी जिलों के विकास को परखने सांस्कृतिक उत्थान भी बने पैमाना

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। सीएम ने आकांक्षी जिलों में विकास की निगरानी के लिए तय इंडिकेटर में नये विषयों को जोड़ने का सुझाव दिया है।

CM भूपेश की PM मोदी को चिट्ठी, कहा- आकांक्षी जिलों के विकास को परखने सांस्कृतिक उत्थान भी बने पैमाना
Sandeep Diwanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरWed, 13 Apr 2022 01:31 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। सीएम ने आकांक्षी जिलों में विकास की निगरानी के लिए तय इंडिकेटर में नये विषयों को जोड़ने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि नये इंडिकेटर जोड़ने से आकांक्षी जिलों के विकास की अच्छे से निगरानी हो सकेगी। सीएम ने कहा कि आकांक्षी जिलों के विकास को परखने सांस्कृतिक उत्थान को भी पैमाना बनाया जाए। छत्तीसगढ़ में इस पर शानदार काम हुआ है।   

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि हमारे वनांचल और ग्राम्य जीवन में संस्कृति और परंपराओं का विशेष महत्व है। ऐसे में आकांक्षी जिलों की अवधारणा में सांस्कृतिक उत्थान के बिंदु को महत्व दिया जाना चाहिए। ट्रांसफार्मेशन ऑफ एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम (टीएडीपी) के मॉनिटरिंग इंडिकेटर में स्थानीय बोली में शिक्षा, मलेरिया व एनिमिया में कमी, वनोपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी, लोक कला, लोक नृत्य और पुरातत्व का संरक्षण-संवर्द्धन, जैविक खेती और वनाधिकार पट्‌टे आदि को भी शामिल किया जाना चाहिए। भूपेश ने कहा कि इन सभी मापदंडों पर छत्तीसगढ़ में शानदार काम हुआ है। 

10 आकांक्षी जिलों में 8 नक्सल प्रभावित
छत्तीसगढ़ में 10 जिलों को आकांक्षी जिला घोषित किया गया है, जिसमें 7 जिले बस्तर संभाग में आते हैं। आकांक्षी जिलों में कोरबा, राजनांदगांव, महासमुंद, कांकेर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, बस्तर, कोण्डागांव और सुकमा शामिल है। इन 10 जिलों में से 8 जिले नक्सल हिंसा से भी प्रभावित हैं। सीएम भूपेश ने कहा कि इन सूचकांकों के जोड़े जाने से आकांक्षी जिलों के विकास पर ध्यान रहेगा और जिस उद्देश्य से आकांक्षी जिलों की अलग से निगरानी व्यवस्था शुरू की गई है, वह भी सफल होगी। 

epaper