ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ चुनाव के बाद ऐक्शन में कांग्रेस; बागियों को पार्टी से निकाला, BJP को किसका इंतजार?

छत्तीसगढ़ चुनाव के बाद ऐक्शन में कांग्रेस; बागियों को पार्टी से निकाला, BJP को किसका इंतजार?

छत्तीसगढ़ चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों को बगावत का सामना करना पड़ा। 17 नवंबर को दूसरे चरण का मतदान हो जाने के बाद कांग्रेस ऐक्शन मोड में आ गई है।बीजेपी भी चुनाव बाद ऐक्शन ले सकती है।

छत्तीसगढ़ चुनाव के बाद ऐक्शन में कांग्रेस; बागियों को पार्टी से निकाला, BJP को किसका इंतजार?
Mohammad Azamलाइव हिंदुस्तान,रायपुरMon, 20 Nov 2023 03:17 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों को बगावत का सामना करना पड़ा। 17 नवंबर को दूसरे चरण का मतदान हो जाने के बाद कांग्रेस ऐक्शन मोड में आ गई है। पार्टी ने बगावत करने वाले कुछ नेताओं को नोटिस देकर जवाब मांगा है और कुछ को बाहर का रास्ता भी दिखा दिया है। पार्टी के कुछ नेता बगावत कर पार्टी के प्रत्याशियों के खिलाफ भी चुनाव लड़े जिन्हें पार्टी ने 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। अब दोनों पार्टियां 3 दिसंबर को आने वाले चुनावी नतीजों का इंतजार कर रही हैं। नतीजों के बाद दोनों ही पार्टियों से सैकड़ों की संख्या में नेताओं की नकेल कसी जा सकती है।

इन नेताओं पर कांग्रेस की बड़ी कार्रवाई
छत्तीसगढ़ में विधासभा चुनाव के बाद कांग्रेस ने 20 से ज्यादा सीटों पर अपने नेताओं पर कार्रवाई की है। इन नेताओं को नोटिस भी जारी किया गया है। कांग्रेस पार्टी ने सबसे पहले अंतर्गत विधानसभा चुनाव से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने वाले अनूप नाग को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 सालों के लिए निष्कासित किया। उसके बाद 20 से ज्यादा कांग्रेसियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। 

भाजपा को है नतीजों का इंतजार
छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी विधानसभा चुनाव 2023 में विरोध कर चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है ,लेकिन अब तक इस चुनाव में भितरघात करने वालों पर चुप्पी साधे बैठी है। सूत्रों का मानना है कि भाजपा के पास उन सभी नेताओं की लिस्ट है, जिन्होंने साल 2023 में अपनी ही पार्टी के खिलाफ भितरघात किया है। ऐसा माना जा रहा है कि भाजपा 3 दिसंबर को नतीजे जारी होने के बाद ऐसे नेताओं पर कठोर कार्रवाई कर सकती है। प्रदेश में लगभग दो दर्जन से ज्यादा भितरघातियों की जानकारी प्रत्याशियों ने आला कमान को सौंप दी है। सूत्र यह भी बता रहे हैं कि टिकट बंटने के बाद से ही ऐसे लोग जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी को अंदरुनी रूप से डैमेज किया है। ऐसे लोगों द्वारा विरोध कर दूसरे दलों से चुनाव लड़ने वाले नेताओं का समर्थन किया गया है। इन नेताओं के खिलाफ कार्यवाही करने की योजना प्रदेश भाजपा की इकाई में बना कर तैयार कर ली है। 

यह भी बताया जाता है कि चुनाव के दौरान अंदरुनी रूप से विरोध करने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की लिस्ट तैयार कर ली गई है। माना जा रहा है कि उस बीच इन पर भाजपा नतीजे आने के बाद करेगी। लेकिन बीजेपी फिलहाल प्रदेश के चुनाव के नतीजे का इंतजार कर रही है। यह भी बताया जा रहा है कि ऐसे लोगों की लिस्ट चुनाव सहसंचालक मनसुख मांडवीया को सौंपी जा चुकी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें