ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़BJP नेता के काफिले का वाहन पलटने से हुई थी कांस्टेबल की मौत, ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट पर केस

BJP नेता के काफिले का वाहन पलटने से हुई थी कांस्टेबल की मौत, ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट पर केस

बीते दिनों छत्तीसगढ़ भाजपा के अध्यक्ष अरुण साव के काफिले का वाहन पलटने से एक कांस्टेबल की मौत हो गई थी। अब छत्तीसगढ़ पुलिस ने NHAI की ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट पर केस दर्ज कर लिया है।

BJP नेता के काफिले का वाहन पलटने से हुई थी कांस्टेबल की मौत, ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट पर केस
Krishna Singhहिंदुस्तान,अंबिकापुरThu, 26 Jan 2023 03:32 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

अंबिकापुर-रायपुर राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच-130 पर 19 जनवरी की देर रात को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव के काफिले का एक वाहन पलट गया था। इस हादसे में एक हेड कांस्टेबल की मौत हो गई थी। अब इस मामले में पुलिस ने एनएच ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट लिमिटेड के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है। संभवतः छत्तीसगढ़ का यह पहला मामला है, जब राष्ट्रीय राजमार्ग का काम देख रही ठेका कंपनी की लापरवाही के लिए जवाबदेह मानते हुए केस दर्ज किया गया है। 

एएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर संकेतक नहीं लगाए जाने के कारण यह हादसा हुआ था। बता दें कि भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने अंबिकापुर आ रहे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव के काफिले की पायलटिंग कर रही पुलिस की गाड़ी उदयपुर की नर्सरी के पास पलट गई थी। वाहन में ड्राइवर समेत कुल 4 पुलिसकर्मी सवार थे। दुर्घटना में 55 वर्षीय प्रधान आरक्षक रविशंकर प्रसाद की मौत हो गई थी। हादसे में तीन अन्य लोग घायल हो गए थे। 

सरगुजा एएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि मामले में उदयपुर पुलिस ने एनएच निर्माण की ठेका कंपनी डीबी प्रोजेक्ट लिमिटेड के खिलाफ धारा 304ए, 336, 337 के तहत मामला दर्ज किया है। एएसपी ने बताया कि पुलिस जांच में यह स्पष्ट हुआ कि मौके पर एक तरफ सीसी सड़क बनी थी। दूसरी तरफ सड़क निर्माण के लिए मिट्टी डालकर रखा गया था। पुलिस का कहना है कि संकेतक नहीं लगाए जाने के कारण पुलिस का वाहन मिट्टी डालकर बनाई सड़क में चली गई। 

आगे निर्माण सामाग्री पड़े होने के कारण वाहन चालक ने सीसी सड़क पर वाहन चढ़ाने की कोशिश की तो वाहन पलट गया। पुलिस ने कहा है कि ठेका कंपनी ने संकेतक नहीं लगाए थे, इस वजह से यह हादसा हुआ। इसी वजह से ठेका कंपनी के अधिकारियों एवं जिम्मेदार लोगों के खिलाफ यह अपराध दर्ज किया गया है। पहले भी हुए हैं कई हादसे- अंबिकापुर-कटघोरा तक निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग अब तक पूरा नहीं हुआ है। इस मार्ग पर पहले भी कई हादसे हो चुके हैं। पूर्व में कलेक्टर ने भी ठेका कंपनी एवं एनएच के अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश दिया था।