ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ में पहले चरण की 16 सीटें जिन पर महिला वोटर्स का दबदबा, कर सकती हैं बड़ा उलटफेर

छत्तीसगढ़ में पहले चरण की 16 सीटें जिन पर महिला वोटर्स का दबदबा, कर सकती हैं बड़ा उलटफेर

छत्तीसगढ़ में चुनाव के पहले चरण के 20 विधानसभा क्षेत्रों में से 16 विधानसभा सीट ऐसी हैं जहां महिलाएं बड़ा उलटफेर करने में सक्षम हैं। इन सीटों पर महिला वोटर्स की संख्या पुरुषों की तुलना में अधिक है।

छत्तीसगढ़ में पहले चरण की 16 सीटें जिन पर महिला वोटर्स का दबदबा, कर सकती हैं बड़ा उलटफेर
Krishna Singhभाषा,रायपुरTue, 07 Nov 2023 04:12 AM
ऐप पर पढ़ें

Chhattisgarh Assembly First Phase Elections 2023: छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के 20 विधानसभा क्षेत्रों में से 16 विधानसभा सीट ऐसी हैं जहां महिलाएं निर्णायक भूमिका में हैं। इन सीटों पर महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों की तुलना में अधिक है। राज्य के 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए सात और 17 नवंबर को दो चरणों में मतदान होगा। पहले चरण में 20 सीटों पर तथा दूसरे चरण में 70 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। पहले चरण की 20 सीटों पर 19,93,937 पुरुष, 20,84,675 महिला और 69 थर्ड जेंडर मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। पहले चरण में कुल 40,78,681 मतदाता हैं।

इन सीटों पर महिला वोटर निर्णायक
पहले चरण के 20 निर्वाचन क्षेत्रों में से 16 निर्वाचन क्षेत्र मोहला-मानपुर, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, राजनांदगांव, खुज्जी, पंडरिया, कवर्धा, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाता से अधिक हैं। इनमें से कवर्धा सीट पर सबसे अधिक महिला मतदाता हैं। कवर्धा में कुल मतदाताओं की संख्या 3,31,615 है। जिनमें से 1,66,843 महिला और 1,64,770 पुरुष मतदाता हैं जबकि थर्ड जेंडर के दो मतदाता हैं। पहले चरण के शेष चार विधानसभा क्षेत्रों अंतागढ़, डोंगरगढ़, खैरागढ़ और डोंगरगांव में महिलाओं की तुलना में पुरुष मतदाता अधिक हैं।

पहले चरण में 223 उम्मीदवार
अधिकारियों ने बताया कि पहले चरण में 25 महिलाओं समेत 223 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। पहले चरण के लिए 5304 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन मतदान केंद्रों में से 200 'संगवारी' मतदान केंद्र होंगे जिनका प्रबंधन महिला कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा। 20 मतदान केंद्रों का प्रबंधन दिव्यांग जन द्वारा किया जाएगा और 20 का प्रबंधन युवा कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा।

पहले चरण में थर्ड जेंडर के 69 वोटर
अधिकारियों ने बताया कि पहले चरण में थर्ड जेंडर के 69  मतदाताओं में से सबसे ज्यादा जगदलपुर सीट पर 29 मतदाता, अंतागढ़ और बीजापुर में आठ-आठ, डोंगरगढ़ और नारायणपुर में चार-चार, केशकाल में तीन, कवर्धा, राजनांदगांव, कांकेर, कोंडागांव और बस्तर में दो-दो तथा चित्रकोट, दंतेवाड़ा और कोंटा में एक-एक मतदाता हैं।
     
थर्ड जेंडर वोटर 'रेनबो' मॉडल मतदान केंद्र पर देंगे वोट
उन्होंने बताया कि कांकेर जिले के अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के सभी आठ ट्रांसजेंडर मतदाता विशेष रूप से तैयार किए गए 'रेनबो' मॉडल मतदान केंद्र पर अपना वोट डाल सकेंगे। कांकेर की जिलाधिकारी प्रियंका शुक्ला ने बताया कि अंतागढ़ सीट के तृतीय लिंग के सभी आठ मतदाता पखांजूर क्षेत्र में रहते हैं। इसीलिए पखांजूर-3 में 'रेनबो' मॉडल मतदान केंद्र स्थापित किया गया है।

अपनी तरह की पहली पहलकदमी
कांकेर की जिलाधिकारी प्रियंका शुक्ला ने कहा कि इस पहले से थर्ड जेंडर वोटर्स को यह महसूस कराया जा सके कि वे लोकतंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। शुक्ला ने इस पहल को संभवत: देश में अपनी तरह का पहला प्रयास बताया। उन्होंने बताया कि इस मतदान केंद्र पर तृतीय लिंग के चार पुलिसकर्मी भी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। शुक्ला ने बताया कि इस मतदान केंद्र पर 887 मतदाता हैं, जिनमें 421 पुरुष, 458 महिला और तृतीय लिंग के आठ मतदाता शामिल हैं। अधिकारी ने बताया कि इस मतदान केंद्र को इंद्रधनुष के सात रंगों में रंगा गया है तथा उसी रंग में तंबू भी बनाया गया है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें