ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़Chhattisgarh Budget 2024 Live: बजट में मिला रामलला दर्शन योजना के लिए पैसा , महतारी वंदन योजना को 117 करोड़

Chhattisgarh Budget 2024 Live: बजट में मिला रामलला दर्शन योजना के लिए पैसा , महतारी वंदन योजना को 117 करोड़

Chhattisgarh Budget 2024 Live: छत्तीसगढ़ में आज वित्त मंत्री ओपी चौधरी वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट पेश कर रहे हैं। करीब सवा लाख करोड़ का बजट ओपी चौधरी सदन में पेश कर रहे है।

Chhattisgarh Budget 2024 Live: बजट में मिला रामलला दर्शन योजना के लिए पैसा , महतारी वंदन योजना को 117 करोड़
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरFri, 09 Feb 2024 02:05 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ की विष्णुदेव साय सरकार का पहला बजट वित्त मंत्री ओपी चौधरी पेश कर रहे हैं। आज वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट विधानसभा में पेश होगा। इस बजट को लेकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यह करीब सवा लाख करोड़ का बजट होगा। इस बजट में मोदी की गारंटी वाली योजनाओं के साथ किसानों को धान खरीदी पर मिलने वाला फायदा और महतारी वंदन योजना शामिल की गई है। 

विधानसभा में आज पांचवे दिन की कार्यवाही शुरू हो गई है। बजट सत्र की शुरूआत के साथ ही प्रश्नकाल चल रहा है। करीब 12 बजकर 30 मिनट से वित्त मंत्री ओपी चौधरी सदन में बजट को पेश करेंगे। अब तक चली विधानसभा की कार्यवाही में आज पहला सवाल जगदलपुर से विधायक किरण सिंहदेव ने किया है। सिंहदेव ने प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री से सवाल पूछा है कि विभाग के द्वारा संभाग के कौन-कौन से अशासकीय संस्थान है जो जनवरी 2021 से 15 जनवरी तक बंद किए गए हैं। इसके साथ ही साल 2024 तक किस काम के लिए कितनी राशि उपलब्ध करायी गई है। वही इसमें किस-किस कार्य के लिए कितनी राशि खर्च की गई है। फिलहाल कितनी राशि शेष रह गई है। अब वित्त मंत्री ओपी चौधरी विष्णुदेव साय सरकार का पहला बजट सदन में पेश कर रहे हैं।

बजट में यह बड़े ऐलान

>>शासकीय अस्पतालों में लैब टेक्निशियन के 373 पदों पर भर्ती की जाएगी। दीनदयाल उपाध्याय कृषि मजदूर योजना प्रारंभ करने का इस बजट में प्रावधान किया गया है। प्रत्येक परिवारों को प्रतिवर्ष 10000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। 500 करोड़ का प्रावधान। अटल श्रम शक्ति योजना के लिए 123 करोड रुपए का बजट प्रावधान। श्रमेव जयते पोर्टल के विकास के लिए 2 करोड रुपए प्रावधान किया गया है। 

स्वास्थ्य सुविधा को दखते हुए बजट में प्रावधान

>>छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए 1500 करोड रुपए का प्रावधान बजट में किया गया है। सिम्स के नवनिर्माण के लिए 700 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। मेकाहारा रायपुर के लिए 773 करोड़ दिए गए हैं। साथ ही मनेंद्रगढ़, कुनकुरी में 220 बिस्तर वाले अस्पताल की स्थापना की जाएगी।

>>मुख्यमंत्री जन पर्यटन योजना प्रारंभ की जाएगी, जिसके लिए 5 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। हिंदी व छत्तीसगढ़ी से गोंडी भाषा के ट्रांसलेशन के लिए सॉफ्ट वेयर का निर्माण किया जाएगा। साथ ही तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों को चरण पादुका देने के लिए 35 करोड रुपए का बजट में लाया गया है। 

>>रायपुर, बिलासपुर स्मार्ट सिटी के लिए 402 करोड़ का प्रावधान किया गया है। साथ ही पर्यटन एवं संस्कृति मुख्यमंत्री जन पर्यटन योजना प्रारंभ की जाएगी।

>>प्रदेश के पांच शक्तिपीठों के विकास के लिए योजना के लिए 5 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। गोंडी भाषा के विकास हेतु 2 करोड़ 50 लाख का प्रावधान। आदिभाषाओ के संरक्षण और विकास के लिए प्रावधान। संवर्धन से जुड़े कार्यों के क्रियान्वयन के लिए कैम्पा में 1 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान। चरण पादुका के लिए 35 करोड़ का प्रावधान। हाथी मानव द्वंद से बचाव के लिए रैपिड रिस्पांस टीम के गठन के लिए 20 करोड़ का प्रावधान।

>>छत्तीसगढ़िया क्रीड़ा प्रोत्साहन योजना के लिए 20 करोड़ प्रावधान बजट में किया गया है। इसके साथ ही 5 नवीन जिलों में जिला कार्यालयों की स्थापना होगी। वही छत्तीसगढ़ युवा रत्न सम्मान के लिए 1 करोड़ 50 लाख और कला साहित्य खेल के क्षेत्र में युवाओं के योगदान को प्रोत्साहित और उन्हें सम्मान देने के लिए 1 करोड़ 50 लाख का प्रावधान किया गया है। 

 >>छत्तीसगढ़ के बजट में राज्य पुलिस बल में 1089 पदों की वृद्धि करने की बात कही गई है। 

>>छत्तीसगढ़ में  UPSC की तैयारी के लिए द्वारिका, दिल्ली में यूथ हॉस्टल में 65 बच्चों के सीटों को बढ़ाकर 200 बच्चों को तैयारी कराने का प्रावधान। 5 वर्षों तक निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराएंगे की बात कही गई है। फोर्टिफाइड चावल के लिए 209 करोड़ का प्रावधान किया गया है। वहीं शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 5000 करोड़ से अधिक का प्रावधान किया गया है। 

>>मोदी की गारंटी के तहत महतारी वंदन योजना के अंतर्गत पात्र महिलाओं को 12000 रुपए वार्षिक दिया जाएगा। जिसके लिए 117 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही ग्राम पंचायत स्तरीय महिला सदन बनाने के लिए 50 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। 

>>पंचायत एवं ग्रामीण विकास के अंतर्गत 17 हजार 539 करोड़ का प्रावधान, 70 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार हेतु 2887 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सड़कों के लिए 841 करोड़ का प्रावधान किया गया है। कचरा प्रबंधन की योजनाओं के लिए 400 करोड़ का प्रावधान किया गया है। 

>>कृषि बजट में 33% की वृद्धि हुई है,अब इसका कुल 13,438 करोड़ रुपए का प्रावधान हुआ है। इसके साथ ही कुनकुरी,रामचंद्रपुर, खडग़ांव, शीलफिलि में कृषि एवं उद्यानिकी महाविद्यालय की

>>पंचायत एवं ग्रामीण विकास के अंतर्गत 17 हजार 539 करोड़ का प्रावधान, 70 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार हेतु 2887 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सड़कों के लिए 841 करोड़ का प्रावधान किया गया है। कचरा प्रबंधन की योजनाओं के लिए 400 करोड़ का प्रावधान किया गया है। 

>>कृषि बजट में 33% की वृद्धि हुई है,अब इसका कुल 13,438 करोड़ रुपए का प्रावधान हुआ है। इसके साथ ही कुनकुरी,रामचंद्रपुर, खडग़ांव, शीलफिलि में कृषि एवं उद्यानिकी महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी। दुर्ग एवं सरगुजा जिले में कृषि यंत्री कार्यालय की स्थापना।

>>14 विकासखंड में नवीन नर्सरी की स्थापना की जाएगी। सिंचाई परियोजनाओं के लिए 300 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। केलो परियोजना के तहत रायगढ़ में सिंचाई परियोजनाओं को गति देने के लिए 100 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। 
 

>>वर्ष 2030 तक सकल घरेलू उत्पाद के लक्ष्य को हासिल करने के लिए हमें पूंजीगत में पर्याप्त वृद्धि करनी होगी। 

>>हमारी जीडीपी में अभी भी सेवा क्षेत्रों का योगदान 31% है इसे बढ़ाने की आवश्यकता है।

>>आवास योजना के लिए दूसरे अनुपूरक में हमने 3800 करोड़ रुपए का प्रावधान किया था। अब 8369 करोड़ का प्रावधान अब कर रहे हैं। 

>>कृषि उन्नति योजना के लिए 10 हजार करोड़ का प्रावधान।

>>नल जल योजना के लिए 4, 500 करोड़ रुपए का प्रावधान।

1:00- 5 सालों में जीडीपी को 5 लाख करोड़ से 10 लाख करोड़ तक पहुंचाने दोगुना करने का लक्ष्य।

>>इसके लिए 10 पिलर्स का निर्धारण किया गया है। 
 
>>आर्थिक विकास का केंद्र बिंदु - ज्ञान, नॉलेज।

>>गरीब युवा, अन्नदाता, महिलाओं के हित में कार्य।

>>गरीब, किसान, युवा, महिला हमारे केंद्र में है।

>>ऑनलाइन रॉयल्टी को हटाकर लाल फीताशाही ऑफलाइन तरीके को अपनाया गया।

>>हम ऑनलाइन माध्यम से सरकार के राजस्व में ऐतिहासिक वृद्धि करके दिखाएंगे।

>>विभिन्न विभागों को तकनीकी समृद्ध करने के लिए 266 करोड़ का प्रावधान।
पूंजीगत व्यय में गत वर्ष की तुलना में 20 प्रतिशत वृद्धि।

>>20 प्रतिशत कैपेक्स वृद्धि का लक्ष्य।

>>प्राकृतिक संसाधनों के लाभ का समान वितरण आमजनों के हित में।

>>ईको टूरिज्म के लिए रोडमैप तैयार करेंगे।

>>सरकार की सारी क्षमताओं के अतिरिक्त सुनिश्चित होगा निजी निवेश।

 >>पीपीपी मॉडल को बढ़ावा देंगे। प्राइवेट इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा मिलेगा। 

>>फोकस ऑन बस्तर, सरगुजा। आर्थिक विकास की दृष्टि से मजबूत करेंगे।

>>आठवां स्तंभ, जीडीपी। हर क्षेत्र की विशेषताओं के अनुरूप विकाज़ सुनिश्चित करेंगे।

>>फोकस ऑन बस्तर एंड सरगुजा

>>बस्तर में लघु वन उपज के प्रसंस्करण के लिए उद्योगों की स्थापना की जाएगी। 

>>विकेंद्रीकृत विकास पॉकेट 

>>रायपुर और भिलाई के आसपास के इलाकों को स्टेट कैपिटल रीजन के रूप में विकसित किया जाएगा

 

>>ओपी चौधरी पेश कर रहे बजट पेश

ओपी चौधरी ने कहा- हमे छत्तीसगढ़ की सेवा करने का अवसर दिया है। छत्तीसगढ़ को नई विकास की दिशा में ले जाना हमारा लक्ष्य है। अंधेरों के बीच उजाले का लक्ष्य हम रखते है। आज पीएम के नेतृत्व में किए जा रहे काम दुनिया देख रही है। देश आज नई संकल्प और नई ऊर्जा के साथ बढ़ रहा है। चौधरी ने कहा कि विकास यात्रा का शुक्ल पक्ष शुरू हो गया, विष्णुदेव सुशासन की शुरुआत हो गई है। हम 2047 तक कैसे विकसित राज्य बने इसका रोडमेप तैयार करेंगे। 

12:40- बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री ओपी चौधरी का बजट भाषण शुरू।

12:30- सदन के भीतर पहुंचे वित्त मंत्री ओपी चौधरी


>>मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के साथ वित्त मंत्री ओपी चौधरी बजट की पेटी पकड़े सदन में पहुंच गए है। 

>>विधायकों ने साय सरकार के पहले बजट पर शुभकामनाएं दी है।

>> डिजिटल बजट पेश करने को लेकर विधानसभा में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया है। विपक्ष ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति का अपमान करने का आरोप लगाया है। 

>>पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डिजिटल बजट पेश करने को लेकर सवाल उठाए है

>>भूपेश बघेल ने कहा कि विधानसभा में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है।

>>पलटवार करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि हम पेपर लेस की तरफ बढ़ रहे हैं।

>>बजट पेश करने से पहले राम मंदिर पहुंचे वित्त मंत्री

वित्त मंत्री ओपी चौधरी बजट पेश करने जाने से पहले रायपुर के वीआईपी रोड स्थित श्री राम मंदिर पहुंचे। ओपी चौधरी ने राज्य की खुशहाली और समृद्धि के लिए श्री राम एवं माता सीता का लिया आशीर्वाद है। राम मंदिर से सीधे ओपी विधानसभा पहुंच गए हैं। जहां वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने बजट पर हस्ताक्षर कर दिए है। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की उपस्थिति में बजट पर हस्ताक्षर किया गया है। 

>>बजट से पहले सीएम साय ने कहा

सीएम साय ने सोशल मीडिया में पोस्ट करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा 
"संवरेगा छत्तीसगढ़ का आज और कल क्योंकि यह है अमृतकाल का बजट!!!" उन्होंने वित्त मंत्री ओपी चौधरी को नई सरकार का पहला बजट प्रस्तुत करने के लिए शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि यह बजट विकसित छत्तीसगढ़ के निर्माण की नींव का पहला पत्थर साबित होगा,जो छत्तीसगढ़ सरकार के, प्रदेश के हर तबके की तरक्की के इरादे को और मजबूती देगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें