ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़रायपुर एयरपोर्ट पर पिछले 8 साल से खड़ा बांग्लादेशी विमान, 3 करोड़ तक पहुंचा किराया, उड़ने की नहीं बची गारंटी!

रायपुर एयरपोर्ट पर पिछले 8 साल से खड़ा बांग्लादेशी विमान, 3 करोड़ तक पहुंचा किराया, उड़ने की नहीं बची गारंटी!

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के एयरपोर्ट पर पिछले 8 साल से बांग्लादेशी विमान पार्क किया गया है। लंबे समय से खड़े-खड़े इस एयरक्रॉफ्ट का किराया बढ़कर 3 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है।

रायपुर एयरपोर्ट पर पिछले 8 साल से खड़ा बांग्लादेशी विमान, 3 करोड़ तक पहुंचा किराया, उड़ने की नहीं बची गारंटी!
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरTue, 20 Feb 2024 12:07 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के विमानतल में बांग्लादेशी विमान को खड़े आज 8 साल पूरे हो गए हैं। इन आठ सालों में इसका किराया 3 करोड़ रुपए के पार पहुंच चुका है। हैरत करने वाली बात यह है कि अब तक बांग्लादेश की सरकार अपने इस एयरक्रॉफ्ट को वापस लेकर जाने के लिए कानूनी दांवपेच की प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाई है। रायपुर एयरपोर्ट में पार्क यह बांग्लादेश का विमान खड़े-खड़े कबाड़ हालत में हो गया है। इस विमान की अब नीलामी की प्रक्रिया भी विभागीय तौर पर की जा रही है। माना जा रहा है कि यह एयरक्रॉफ्ट बहुत जल्द नीलाम भी किया जा सकता है लेकिन दूसरे देश से संबंधित होने के कारण इसमें काफी समय लग रहा है। 

साल 2015 में हुआ था बांग्लादेश का विमान लैंड

यह मामला 7 अगस्त 2015 का है। ढाका से मस्कट जा रहा 173 यात्रियों से भरा यह विमान में तकनीकी खराबी आ जाने के बाद इसे रायपुर विमानतल में उतारा गया है। रायपुर एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग के बाद सभी यात्रियों को सही सलामत वापस भेज दिया गया था। माना जा रहा था कि एयरलाइंस कंपनी अपने एयरक्रॉफ्ट को ज्लद वापस लेकर जाएगी, लेकिन अब तक ऐसा नहीं किया गया है। कई बार कंपनी से पत्राचार करने के बाद टीम को भी भेजा गया, लेकिन अबतक किसी भी तरह का जबाव नहीं आने के कारण एयरपोर्ट प्रबंधन पार्किंग किराए की वसूली के लिए नीलामी की प्रक्रिया को शुरू कर दिया है। 

क्यों अब तक विमान नहीं बेच सका एयरपोर्ट प्रबंधन

जानकारों की माने तो रायपुर विमानतल में खड़े बांग्लादेश के इस विमान का पार्किंग का किराया आज 3 करोड़ तक पहुंच चुका है। अब सवाल यह खड़ा होता है कि आखिरकार विमान को क्यों बेचा जा नहीं सका। इसके पीछे की वजह यह सामने निकलकर आई है कि बांग्लादेश का यह बड़ा एयरक्रॉफ्ट पूरी तरह कबाड़ हो चुका है। इसके दोबारा इस्तेमाल करने की कोई गुंजाईश नहीं बची है। इसलिए रकम की वसूली के लिए इसकी नीलामी ही एकमात्र रास्ता है। वहीं  अधिकारियों का इस मसले पर कहना है कि एयरक्रॉफ्ट दूसरे देश की एयरलाइंस का है, इसलिए बिना एयरलाइंस की अनुमति के इसे बेचा नहीं जा सकता है। इस मामले में उन्हें नोटिस भेजा जा रहा है, मगर उनकी ओर से किसी तरह का संतोषजनक जवाब नहीं आ रहा है। इसको लेकर कानूनी प्रक्रिया भी की जा रही है। माना जा रहा है कि जल्द इसकी नीलामी की जाएगी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें