ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़लोकसभा चुनाव के बाद छत्तीसगढ़ में इन नेताओं की घर वापसी, कांग्रेस में अब भूल-चूक माफ

लोकसभा चुनाव के बाद छत्तीसगढ़ में इन नेताओं की घर वापसी, कांग्रेस में अब भूल-चूक माफ

छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुानव के बाद कांग्रेस पार्टी के बर्खास्त नेताओं की पार्टी में वापसी हो सकती‌ है। इसके संकेत पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बैज ने दिए हैं। 

लोकसभा चुनाव के बाद छत्तीसगढ़ में इन नेताओं की घर वापसी, कांग्रेस में अब भूल-चूक माफ
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरWed, 22 May 2024 05:13 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के बाद छत्तीसगढ़ में बागी नेताओं की घर वापसी के संकेत मिल रहे हैं। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी के वह नेता जिन्होंने प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान या तो निर्दलीय रूप से चुनाव लड़ा या फिर पार्टी और पार्टी के नेताओं पर टिप्पणी करने के आरोप में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बाहर कर दिए गए थे। लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद बहुत जल्द वापस कांग्रेस पार्टी में उन्हें बिना विरोध के शामिल किया जा सकता है। जिन नेताओं के पार्टी में वापसी की चर्चा चल रही है उनमें पूर्व विधायक बृहस्पति सिंह, पार्षद अजीत कुकरेजा, आनंद कुकरेजा समेत कई चर्चित नाम जिन पर कांग्रेस पार्टी ने अनुशासनहीनता की बात कहते हुए 6 साल के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया था। 

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दौरान कई कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर अंतर्कलह के साथ बागी होने की बजह से निष्कासन, निलंबन और जवाब दो नोटिस की कार्रवाई की गई थी। कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव से लेकर अब तक कुल 35 पार्टी के नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इसके अलावा 15 ऐसे नेता है जिन्हें पार्टी ने कारण बताओं नोटिस दिया था। वही कांग्रेस पार्टी ने दो नेताओं को निलंबित भी कर दिया था। इन नेताओं में अब तक कांग्रेस पार्टी ने पूर्व विधायक विनय जायसवाल, रामशरण यादव और प्रेम चंद जायसी‌ की वापसी कर चुकी है। यह नेता लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी के चुनाव प्रचार प्रसार में सक्रिय भी दिखाई दिए थे। 

इसके अलावा छत्तीसगढ़ में पार्टी से बाहर चल रहे बृहस्पति सिंह, सागर सिंह बैस, गोरेलाल बर्मन, किस्मत लाल नंद, हलधर साहू, मीना साहू, अनूप नाग, कांति नाग, अजीत कुकरेजा और आनंद कुकरेजा यह‌‌ कुछ बड़े नेता हैं जो‌ अब कांग्रेस पार्टी की सदस्यता से बाहर किए जा चुके हैं। इसके साथ ही पूर्व विधायक विनय जायसवाल के कांग्रेस पार्टी में वापसी के साथ ही उनके साथी बृहस्पति सिंह की भी चर्चा तेजी से हो रही है। वही रायपुर से पार्षद और पूर्व एमआईसी अध्यक्ष अजीत कुकरेजा और आनंद कुकरेजा भी वापस कांग्रेस पार्टी का हाथ थाम कर साथ आ सकते हैं। 

बागियों की घर वापसी पर सीनियर नेता करेंगे निर्णय

वही इस बीच पत्रकारों से चर्चा में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज‌ ने बगिया की घर वापसी को लेकर एक बात साफ कर दी है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज ने यह कहा कि इस बात को लेकर पार्टी विचार करेगी। अभी 4 जून को नतीजे आना बाकी है। नतीजे आने के बाद हम सीनियर नेताओं और प्रदेश के प्रभारी से इस बारे में चर्चा करेंगे। उसके बाद आगे जो भी फैसला होगा वह पार्टी के सीनियर नेता लेंगे।