DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन देशों में पढ़ते हुए भी कर सकेंगे काम

विदेशी में पार्ट टाइम वर्क
विदेशी में पार्ट टाइम वर्क

विदेशों में पढ़ाई का खर्च काफी ज्यादा होता है। ऐसे में छात्र अक्सर वहां पार्ट टाइम काम की तलाश में रहते हैं ताकि वो अपना अतिरिक्त खर्च वहन कर सकें। पढ़ाई के दौरान पार्ट टाइम काम करने के भी कई फायदे होते हैं। पार्ट टाइम काम से अतिरिक्त पैसा कमाने के अलावा उन देश के भाषा के बारे में आपकी जानकारी बढ़ती है और साथ सोशल स्किल में भी बढ़ोतरी होती है। विभिन्न देशों में पार्ट टाइम काम करने के कई नियम होते हैं। 
अपने समय का आकलन करें
अपने अकादमिक समय सारिणी को ध्यान में रखते हुए अपने खाली समय का आकलन करें। अगर आप सुबह में क्लास करने के बाद दोपहर से देर शाम तक खाली रहते हैं तो उस हिसाब से कोई नौकरी ढूंढने की कोशिश करें। लेकिन, ये बात ध्यान रखने कि जरूरत है कि पार्ट टाइम काम के चक्कर में कहीं पढ़ाई को नुकसान न हो। काम शुरू करने से पहले कॉलेज के सीनियरों से परामर्श ले सकते हैं। वहीं, कोई भी पार्ट टाइम जॉब ज्वाइन करने से पहले उस देश के नियमों के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें। अलग-अगल देशों की अलग जरूरतें और परिस्थितियां होती हैं। अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट हैंडलर से पार्ट टाइम काम के नियमों के बारे में पूरी जानकारी लें। जिस देश में आप पढ़ाई कर रहे हैं वहां पर स्थित एंबेसी में जाकर आप सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

विभिन्न देशों के नियम जानने के लिए आगे पढ़ें

यूनाइटेड किंगडम
यूनाइटेड किंगडम

यूनाइटेड किंगडम में पढ़ाई के दौरान पार्ट टाइम काम करने की अनुमति है। अगर छात्र यूके में टीयर 4 स्टूडेंट वीजा पर छह महीने से ज्यादा रहकर पढ़ाई कर रहा हैं तो वो  पार्ट टाइम काम कर सकता है। अपने निवास समय के दौरान छात्र हफ्ते में 10 से 20 घंटे तक काम कर सकता है। वहीं, कॉलेज या यूनिवर्सिटी की छुट्टी के दौरान यह समय बढ़कर प्रति हफ्ते 40 घंटे तक हो जाता है।
जर्मनी
जर्मनी में भाषा की पढ़ाई करने आने वाले छात्रों को पार्ट टाइम काम करने की अनुमति नहीं मिलती । इसके अलावा अन्य विषयों के छात्रों को फुल टाइम के आधार पर साल में 120 दिन काम करने की अनुमति है और अगर कोई छात्र पार्ट टाइम काम करना चाहता हो तो वो साल में 240 दिन तक काम कर सकता है।
इटली
इटली में पढ़ाई करते हुए काम करने के नियम अन्य देशों की तुलना में सख्त हैं। यहां दूसरे देशों के छात्रों को पार्ट टाइम काम करने के लिए सरकार से मंजूरी लेनी पड़ती है। ज्यादातर इटली में पढ़ने वाले छात्रों को यहां पार्ट टाइम काम करने के नियम बेहद सख्त लगते हैं। हालांकि, कानूनी रूप से यहां पार्ट टाइम काम करना वैध है।

और जानने के लिए आगे पढ़ें

फ्रांस
फ्रांस

फ्रांस में वो छात्र ही पार्ट टाइम काम कर सकते हैं जो छात्र ऐसे संस्थान से ताल्लुक रखता हो जिसके पास सामाजिक सुरक्षा है या फिर उसके पास रेसीडेंसी कार्ड है। ऐसे छात्रों को हफ्ते में 20 घंटे काम करने की अनुमति होती है। हालांकि, नौकरी से होने वाली कमाई में से 20 फीसदी हिस्सा टैक्स भरने में चला जाता है।
आयरलैंड
आयरलैंड में एक साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद छात्र हफ्ते में 20 घंटे तक पार्ट टाइम काम कर सकते हैं। वहीं, कॉलेज में छुट्टियों के दौरान फुल टाइम काम कर सकते हैं।
स्पेन
स्पेन में पढ़ाई के दौरान काम करने के लिए वर्क परमिट लेना पड़ता है। अगर छात्र के पास वर्क परमिट हैं तो वो हफ्ते में 20 घंटे काम कर सकता है। हालांकि, ये काम छात्र के कोर्स से संबंधित होना चाहिए।
आस्ट्रेलिया
आस्ट्रेलिया में पढ़ाई के दौरान छात्र दो हफ्ते में 40 घंटे तक काम कर सकते हैं। वहीं, कॉलेजों की छुट्टियों के दौरान फुल टाइम काम कर सकते हैं।
सिंगापुर
अगर कोई छात्र सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी विश्वविद्यालय में एक फुल टाइम डिग्री कोर्स कर रहा है तो उसे हफ्ते में 16 घंटे काम करने की अनुमति होती है।
 

न्यूजीलैंड
न्यूजीलैंड

न्यूजीलैंड में पार्ट टाइम काम करने के नियम काफी सख्त हैं। अगर किसी के पास स्टूडेंट वीजा है तो वो हफ्ते में 20 घंटे तक काम कर सकता है। हालांकि, नियमों के बारे में ज्यादा जानने के लिए एंबेसी से संपर्क करना बेहतर होगा। 
अमेरिका 
अमेरिका में एफ-1 वीजाधारक स्टूडेंट पढ़ाई के पहले साल में सिर्फ ऑन कैंपस काम ही कर सकते हैं। पढ़ाई का एक साल पूरा होने के बाद छात्र ऑफ कैंपस पार्ट टाइम जॉब करने के लिए यूएस इमीग्रेशन ऑफिस से अनुमति लेनी पड़ती है।  फुल टाइम डिग्री कोर्स करने वाले छात्र ही पार्ट टाइम काम कर सकते हैं। छात्र हफ्ते में 20 घंटे और छुट्टियों के दौरान 40 घंटे काम कर सकते हैं। 
कनाडा
कनाडा में मान्यता प्राप्त संस्थान में फुल टाइम डिग्री कोर्स करने वाले छात्र बिना वर्क परमिट के ऑन कैंपस पार्ट टाइम जॉब कर सकते हैं। वहीं, सरकारी संस्थानों में फुल टाइम अकादमिक, प्रोफेशनल या वोकेशनल कोर्स करने वाले छात्र ऑफ कैंपस बिना वर्क परमिट के काम कर सकते हैं। छात्र सत्रों के दौरान हफ्ते में 20 घंटे और छुट्टियांे के दौरान फुल टाइम काम कर सकते हैं।
स्विट्जरलैंड
स्विट्जरलैंड में छह महीने रहने के बाद ही छात्रों को हफ्ते में 15 घंटे काम करने की अनुमति दी जाती है। हालांकि, इससे पहले शैक्षणिक संस्थानों को यह लिखकर देना पड़ता है कि छात्र पढ़ाई जारी रहने तक ही पार्ट टाइम जॉब करेगा। कॉलेज की छुट्टियों के दौरान छात्र फुल टाइम काम कर सकते हैं। 
स्वीडन
स्वीडन की किसी यूनिवर्सिटी में फुल टाइम कोर्स करने वाले छात्रों को पार्ट टाइम जॉब करने की अनुमति होती है। स्वीडन में पार्ट टाइम काम के घंटे निर्धारित नहीं हैं लेकिन यहां की भाषा नहीं आने के कारण अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए यहां काम मिलना बेहद मुश्किल काम है। हालांकि, छात्रों के सबसे बेहतर है कि वो ऑन कैंपस काम कर अपने खर्चे निकालें। इससे उन्हें पढ़ाई को भी पूरा समय देने का मौका मिलेगा।
पढ़ाई के दौरान काम करने से होने वाले फायदों के बारे में  जानने के लिए आगे पढ़ें

पढ़ाई के दौरान काम करने के फायदे
पढ़ाई के दौरान काम करने के फायदे

अतिरिक्त पैसा कमाना
विदेश में पढ़ाई करते हुए पार्ट टाइम काम करने से छात्र अपना खर्च वहन करने के लिए कुछ अतिरिक्त पैसे कमा लेते हैं। स्टूडेंट बजट के बाहर कुछ अतिरिक्त आर्थिक सहायता मिलना हमेशा अच्छी बात होती है। इससे छात्रों की आर्थिक सुरक्षा बढ़ती है। इन पैसों से छात्र अपने पुराने स्टडी लोन का उतार सकते हैं या अन्य किसी जरूरत को आसानी से पूरा कर सकते हैं।
अतिरिक्त कोर्स कर सकते हैं
एक फुल टाइम कोर्स में इनरोल हुए भी आप कोई साइड कोर्स कर अपनी योग्यता को बढ़ा सकते हैं। विदेशी में पार्ट टाइम जॉब से कमाए गए पैसों में छात्र कोई अतिरिक्त कोर्स कर अपना प्रोफाइल मजबूत कर सकते हैं। इन पैसों की मदद से छात्र कोई वीकेंड क्लास या वर्कशॉप में शामिल होकर अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं।
भाषा और सोशल स्किल को मजबूत करें
जब छात्र विदेशी जमीन पर पार्ट टाइम काम करना शुरू करते हैं तब वो नए सामाजिक और सांस्कृतिक परिदृश्य के लोगों के साथ संपर्क में आते हैं। नए लोगों के साथ संपर्क में आने पर छात्र नई भाषाएं सीख सकते हैं। इसके अलावा छात्र नई-नई परिस्थितियों में काम करना सीखेंगे। इन सबसे से छात्रों के सोशल स्किल बेहतर होगी।
नेटवर्क बनेगा
पार्ट टाइम जॉब करते वक्त छात्र कई तरह के लोगों से मिलेंगे। अपने ग्राहकों से सह यात्रियों से बातचीत कर वो नए देश में जान पहचान बढ़ाकर अपने नेटवर्क का विस्तार कर सकेंगे। ये नेटवर्क एक जॉब से दूसरा जॉब में स्विच करने में मदद करेगा। अच्छे प्रोफेशनल्स के साथ संपर्क में आने से पढ़ाई के बारे अच्छी नौकरी मिलने की संभावनाओं में इजाफा होगा।
वर्क कल्चर समझने में आसानी
हर देश का अपना वर्क कल्चर होता है। अगर छात्र पढ़ाई पूरी करने के बाद उसी देश में काम करना की इच्छा रखते हैं तो पार्ट टाइम जॉब करने से उन्हें उस देश के वर्क कल्चर के बारे में जानकारी मिल सकती है। काम करने का तरीका, काम करने का समय, काम करने के नियमों के बारे में जानने से छात्रों को बाद में फुल टाइम जॉब के दौरान काफी सहूलियत होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:You can also work in these countries while studying