ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरRRB NTPC , Group D Exam : जानें कौन हैं पटना वाले खान सर, असली नाम अमित या फैजल या कुछ और, बना हुआ है रहस्य

RRB NTPC , Group D Exam : जानें कौन हैं पटना वाले खान सर, असली नाम अमित या फैजल या कुछ और, बना हुआ है रहस्य

RRB NTPC Railway Group D Exam : पटना वाले खान सर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उन पर रेलवे भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों को हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाने का आरोप लगा है। आरआरबी एनटीपीसी और ग्रुप...

RRB NTPC , Group D Exam : जानें कौन हैं पटना वाले खान सर, असली नाम अमित या फैजल या कुछ और, बना हुआ है रहस्य
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 27 Jan 2022 11:13 AM

RRB NTPC Railway Group D Exam : पटना वाले खान सर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उन पर रेलवे भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों को हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाने का आरोप लगा है। आरआरबी एनटीपीसी और ग्रुप डी भर्ती परीक्षा के छात्रों को भड़काने के आरोप में उन पर केस दर्ज किया गया है। हालांकि उन्होंने सभी आरोपों को सिरे से खारिज किया है। खान सर दरअसल ऑनलाइन कोचिंग की दुनिया में बेहद चर्चित नाम है। जीएस के टॉपिक को देसी अंदाज में समझाने के लिए खान सर बिहार-यूपी समेत पूरे देश में मशहूर हैं। वह अपने यूट्यूब चैनल 'Khan GS Research Centre' पर करेंट अफेयर्स या जीएस विषय पर वीडियो बनाकर डालते रहते हैं। उनके यूट्यूब चैनल के करीब 14 मिलियन (1 करोड़ 40 लाख) से ज्यादा सब्सक्राइबर्स हो चुके हैं। 

ऑनलाइन टीचिंग की दुनिया में चर्चित चेहरा
प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग की दुनिया में खान सर की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इनके वीडियो पर 50-50 लाख तक व्यूज आ जाते हैं। कुछेक वीडियो तो ऐसे हैं जिन्हें एक करोड़ लोगों ने देखा है। ट्विटर पर इनके चार लाख से ज्यादा और इंस्टाग्राम पर डेढ़ लाख से ज्यादा फोलोवर्स हैं। इसके आलावा खान सर के नाम से प्रतियोगी परीक्षाओं की कई पुस्तकें भी निकलतीं हैं। हालांकि यूट्यूब पर मशहूर होने से पहले वह कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ाते भी थे लेकिन लॉकडाउन में संस्थान बंद होने के बाद वह ऑनलाइन क्लास लेने लगे। 

RRB-NTPC: खान सर समेत कई कोचिंग संचालकों के खिलाफ केस दर्ज, पटना के हॉस्टलों में छापेमारी

असली नाम पर रहस्य
खान सर का असली नाम क्या है इस पर आज भी रहस्य बना हुआ है। कुछ लोग उनका नाम अमित सिंह तो कुछ फैजल खान या फैसल खान बताते हैं। मई 2021 में न्यूज चैनल आज तक की ओर से किए गए इंटरव्यू में खान सर के कुछ परिचितों ने उनका असल नाम फैसल खान बताया था। इंटरनेट पर एक ऐसा वीडियो भी है जिसमें वह कह रहे हैं कि 'खान सर' एक जुगाड़ का नाम है, लोग हमको अमित सिंह कहकर बुलाते हैं।' हालांकि खान सर ने अभी तक खुद आधिकारिक तौर पर ऐलान नहीं किया है कि उनका असली नाम क्या है। उन्होंने इतना जरूर बताया है कि उनका असली नाम खान सर नहीं है। 

एक वीडियो में खान सर बता रहे हैं कि कई बार क्लास में हंसी मजाक में बच्चे मुझे असल या पूरा नाम बताने के लिए जोर देने लगते हैं। उन्होंने कहा, 'पटना में जब थे तब दिवाली, सरस्वती पूजा, रक्षा बंधन हो या ईद हो, हर त्योहार मिलजुल कर मनाते थे। लॉकडाउन की वजह से ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आना पड़ा। नाम में कुछ नहीं रखा है। एक बार मैंने मजाक में कह दिया था कि मुझे लोग अमित सिंह के नाम से बुलाते हैं। लेकिन बुलाए जाने से मतलब यह कोई है कि मेरा नाम अमित सिंह हैं।'

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि वह डिफेंस में जाना चाहते थे। एनडीए का एग्जाम पास भी किया लेकिन हाथ टेढ़ा होने की वजह से उनका सेलेक्शन नहीं हो पाया। 

बेहद कम फीस
खान सर के द्वारा यूट्यूब पर अपलोड किए गए जीएस व करेंट अफेयर्स से जुड़े वीडियोज़ आप फ्री देख सकते हैं। वर्तमान में वह खान सर ऑफिशियल ऐप के जरिए बच्चों को ऑनलाइन कोचिंग दे रहे हैं। समय-समय पर निकलने वाली सरकारी भर्तियों के लिए वह बेहद कम फीस में ऑनलाइन कोचिंग देते हैं। जैसे आरआरबी एनटीपीसी भर्ती परीक्षा और ग्रुप डी भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिए वह 250 रुपये फीस ले रहे हैं। उनके एक-एक बैच में हजार से भी ज्यादा बच्चे एक बार में क्लास लेते हैं। एनडीए-1 2022 परीक्षा की तैयारी वह सिर्फ 1000 रुपये में करवा रहे हैं। एसएससी जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की कोचिंग की फीस 150 रुपये रखी गई है। इसी तरह अधिकतर बैच की फीस 150 रुपये से 1000 रुपये तक ही होते हैं। यही वजह है कि गरीब तबके के लाखों बच्चे इनकी वीडियो और क्लास के जरिए अपना सरकारी नौकरी पाने का सपना पूरा करते हैं। 

इससे पहले कब आए थे चर्चा में
24 अप्रैल 2021 को उनके द्वारा डाले गए एक वीडियो के बाद वह सुर्खियों में आए थे। इस वीडियो में उन्होंने पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत को देश से वापस भेजने के लिए हो रहे विरोध प्रदर्शन की की मिस्ट्री समझाई थी। उन्होंने इस वीडियो में एक बच्चे की तस्वीर को पॉइंट करते हुए जो टिप्प्णी की थी, उसे लेकर विवाद शुरू हुआ था। वायरल वीडियो में खान सर ने कहा था, 'ई रैली में ये बेचारा बचवा है। इसको क्या पता है कि राजदूत क्या चीज होता है। कोई पता नहीं है। लेकिन फ्रांस को राजदूत को बाहर ले जाएंगे। देखिए इसको। इनको कुछ पता नहीं है। बाबू लोग, तुम लोग पढ़ लो। अब्बा के कहने पर मत आओ। अब्बा तो पंचर साट ही रहे हैं। ऐसा ही तुम लोग भी करेगा तो बड़ा होकर तुम लोग भी पंचर साटेगा। तो पंचर मत साटो वरना तुमको तो पता ही है कि कुछ नहीं होगा तो चौराहा पर बैठकर मीट काटेगा तुम। बकलोल कहीं का। बताइए, ये उमर है बच्चों को यहां पर लाने का? बैनर से छोटा बेचारा तो ये है।' 

इसके बाद उन्होंने एक धर्म-विशेष के खिलाफ टिप्पणी की और 18-20 बच्चों के पैदा करने का हवाला दिया। एक वर्ग उन पर हमलावर हो गया था। वीडियो वायरल होने के बाद लोग इसे धर्म विशेष से जोड़कर लिखने लगे। ट्विटर पर #ReportOnKhanSir ट्रेंड करने लगा था। तब भी लोगों ने खान सर की कुंडली खंगालने का काम शुरू हुआ। लोग उनका असली नाम सर्च करने लगे थे। 

epaper