DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  सहूलियत: UP Borad से प्रमाणपत्र चाहिए तो ऑनलाइन सुविधा है ना, मोबाइल पर पाएं अंकपत्र

करियरसहूलियत: UP Borad से प्रमाणपत्र चाहिए तो ऑनलाइन सुविधा है ना, मोबाइल पर पाएं अंकपत्र

संजोग मिश्र,प्रयागराजPublished By: Alakha
Fri, 27 Mar 2020 09:42 AM
सहूलियत: UP Borad से प्रमाणपत्र चाहिए तो ऑनलाइन सुविधा है ना, मोबाइल पर पाएं अंकपत्र

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन ने लोगों का ध्यान ऑनलाइन सेवाओं की तरफ खींचा है। यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के मूल व डुप्लीकेट प्रमाण पत्र, अंकपत्र समेत सभी सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध हैं। इनके लिए आपको बोर्ड कार्यलय का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है।

आप घर बैठे यूपी बोर्ड की वेबसाइट www.upmsp.edu.in से या सहज सुविधा केंद्र से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन फीस जमा कराने के बाद आवश्यक दस्तावेज आपको मिल जाएंगे।

बोर्ड ने अक्टूबर 2018 में जनहित गारंटी योजना 2011 के तहत यह सुविधा शुरू की थी। मूल प्रमाण पत्र अभ्यर्थी के स्कूल को भेजा जाता है। क्योंकि प्रधानाचार्य के सत्यापन के बेगैर वह मान्य नहीं है। इसके अलावा सभी तरह के दस्तावेज आवेदक के पते पर सीधे डाक से भेजने की सुविधा है। अभ्यर्थी अपने मामा-पिता के नाम में प्रमाणपत्र जारी होने के तीन साल तक ही संशोधन करवा सकते हैं। नाम स्पेलिंग संशोधन की कोई समय सीमा नहीं है।

ऑनलाइन उपलब्ध हैं ये सेवाएं:
यूपी बोर्ड की नौ सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध हैं। इनमें मूल प्रमाणपत्र डुप्लीकेट प्रमाणपत्र, मूल अंकपत्र, डुप्लीकेट अंकपत्र, संशोधित प्रमाणपत्र, संशोधित अंकपत्र, निरस्त परीक्षाफल का निस्तारण, रोके गए परीक्षाफल का निस्तारण, प्रमाणपत्रों का सत्यापन, अपूर्ण, त्रुटिपूर्ण, परीक्षाफल को ठीक कराया जा सकता है।

डेढ़ साल में 2300 लोग उठा चुके लाभ 
ऑनलाइन
सुविधा शुरू होने के बाद से डेढ़ साल में अब तक 2300 लोग इसका लाभ उठा चुके हैं। बोर्ड की वेबसाइट पर आवेदन करने वाले 1231 लोगों में से 1106 को सुविधा मिल चुकी है। जबकि ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर आवेदन करने वाले 1367 लोगों में से 1194 को दस्तावेज जारी ही चुके हैं। कुल 2300 ऑनलाइन सुविधा का लाभ ले चुके हैं।

आवेदन के लिए मोबाइल व आईडी होना जरूरी 
ऑनलाइन सेवाओं के उपयोग के लिए अभिलेखों के अतिरिक्त अभ्यर्थी के पास मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड/वोटर आईडी अथवा अन्य कोई एक आईडी का होना अनिवार्य है। डुप्लीकेट प्रमाणपत्र के लिए 200 और डुप्लीकेट अंकपत्र के लिए 100 की फीस तय है।

हर काम का समय तय 
मूल प्रमाणपत्र ऑनलाइन आवेदन के 15 दिन में जारी करने का नियम है। डुप्लीकेट प्रमाणपत्र, मूल अंकपत्र, डुप्लीकेट अंकपत्र, संशोधित प्रमाणपत्र, संशोधित अंक पत्र आवेदन के 30 दिन में जारी होते हैं।

संबंधित खबरें