ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरहल्द्वानी के अक्षत को NEET में पहले प्रयास में 99.99 परसेंटाइल, 2 साल से कर रहे थे तैयारी

हल्द्वानी के अक्षत को NEET में पहले प्रयास में 99.99 परसेंटाइल, 2 साल से कर रहे थे तैयारी

उत्तराखंड के हल्द्वानी में आर्यमन विक्रम बिरला स्कूल ऑफ लर्निंग के पास रहने वाले अक्षत पंगरिया ने मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट कोर्स नीट में पहले प्रयास में शत प्रतिशत अंक (99.99 पर्सेंटाइल) हासिल किए हैं।

हल्द्वानी के अक्षत को NEET में पहले प्रयास में 99.99 परसेंटाइल, 2 साल से कर रहे थे तैयारी
Pankaj Vijayवरिष्ठ संवाददाता,हल्द्वानीWed, 05 Jun 2024 10:54 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड के हल्द्वानी में आर्यमन विक्रम बिरला स्कूल ऑफ लर्निंग के पास रहने वाले अक्षत पंगरिया ने मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट कोर्स नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) में पहले प्रयास में शत प्रतिशत अंक (99.99 पर्सेंटाइल) हासिल किए हैं। अक्षत ने 720 में से 720 अंक अर्जित किए हैं। वह दो वर्ष से नीट की तैयारी कर रहे थे। अक्षत मूल रूप से चम्पावत जिले के पातल गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता डॉ.जीबी पंगरिया किच्छा के अस्पताल में डॉक्टर जबकि मां सोनू पंगरिया गृहिणी हैं। अक्षत ने बताया, वह डॉक्टर बन पहाड़ के अस्पतालों में सेवा देना चाहते हैं। अक्षत हल्द्वानी में निजी इंस्टीट्यूट से कोचिंग के साथ पांच-छह घंटे सेल्फ स्टडी करते थे। उनके इंस्टीट्यूट के ग्रुप हेड निखिल हैड़िया ने दावा किया है कि उत्तराखंड में पहली बार ऐसा हुआ है कि नीट में किसी छात्र ने पूरे 720 अंक अर्जित किए हैं। 

नीट-यूजी में 67 उम्मीदवारों को मिले 99.99 पर्सेंटाइल
राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने मंगलवार को मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट (स्नातक) के नतीजे घोषित कर दिए। 99.99 प्रतिशत अंक के साथ 67 उम्मीदवारों ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया है। एनटीए ने बताया कि शीर्ष रैंक प्राप्त करने वालों में 14 लड़कियां भी शामिल हैं और कुल 56.4 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है। यह परीक्षा पांच मई आयोजित की गई थी। एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मेरिट सूची टाई-ब्रेकिंग फॉर्मूले का उपयोग करके तैयार की जाएगी। इसमें जीव विज्ञान में उच्च अंक या प्रतिशत प्राप्त करने वालों को वरीयता दी जाएगी। उसके बाद रसायन विज्ञान और भौतिकी को प्राथमिकता दी जाएगी। फिर परीक्षा में सभी विषयों या जीव विज्ञान, उसके बाद रसायन विज्ञान और भौतिकी में गलत उत्तरों और सही उत्तरों की संख्या के कम अनुपात वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाएगी। 67 टॉपरों में से सबसे अधिक 11 राजस्थान से हैं, उसके बाद तमिलनाडु से आठ और महाराष्ट्र से सात हैं। इस साल 24.06 लाख उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था।

Virtual Counsellor