DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली रोकने के लिए प्रोफेसरों ने CM योगी और UPPSC, UPHESC, UPSESSB को भेजे ये 4 सुझाव

tet exam

प्रतियोगी परीक्षाओं में होने वाले खेल को रोकने के लिए बरेली कॉलेज और केजीके कॉलेज के प्रोफेसरों ने मुख्यमंत्री सहित तमाम आयोगों को एक महत्वपूर्ण प्रत्यावेदन भेजा है। उन्होंने सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले बहुविकल्पीय प्रश्नों में चार की जगह पांच विकल्प देने का सुझाव दिया। कहा कि किसी प्रश्न को हल न कर पाने की स्थिति में उस प्रश्न के पांचवें विकल्प को अनिवार्य रूप से चुनना होगा। ऐसे में एक बार हल की गई कॉपी पर दोबारा कोई गड़बड़ी नहीं की जा सकेगी। 

बरेली कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. डीके सिंह और केजीके कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर गिरीश चंद्र पांडेय ने मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश संघ लोक सेवा आयोग, लोकसेवा आयोग, उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग, माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड सहित तमाम अध्यक्षों को पत्र भेजा है। अपने संयुक्त प्रत्यावेदन में ओएमआर प्रणाली से उत्तर देने के दौरान विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में ओएमआर को खाली छोड़ने और बाद में उससे छेड़छाड़ की घटनाओं में लगातार वृद्धि का हवाला दिया है। कहा कि बहुविकल्पीय प्रश्नों के लिए चार के बजाय पांच विकल्प देने के बाद किसी हाल में छेड़छाड़ संभव नहीं होगी। मध्य प्रदेश के व्यापमं घोटाले में भी ऐसे मामले सामने आए थे जब परीक्षार्थियों ने ओएमआर आंसरशीट के गोले खाली छोड़ दिए थे और बाद में उनको भरवाया गया था। उत्तर प्रदेश में भी परीक्षार्थी ऐसी ही शिकायत करते हैं और कई बार इस तरह की अफवाह भी सुनने को मिलती है। ऐसे हालात उत्तर प्रदेश की प्रतियोगी परीक्षाओं में न बनें, इसके लिए यह बदलाव बेहद आवश्यक है। लगभग सभी परीक्षाओं में अब माइनस मार्किंग प्रणाली है जिससे परीक्षार्थियों को प्रश्न खाली छोड़ने का अधिकार है। उस पर लगाम लगाने में यह प्रणाली कारगर है।

ये दिए गए हैं सुझाव
सुझाव 1: ओएमआर सीट में प्रत्येक प्रश्न के 5 विकल्प क्रमशः ए, बी, सी, डी और ई  दिए जाएं। अभ्यर्थी विकल्प ई तब भरे जब कोई परीक्षार्थी किसी प्रश्न को हल करने का इच्छुक नहीं होगा। इससे निगेटिव मार्किंग का कोई असर नहीं होगा।

सुझाव 2: परीक्षार्थी को प्रत्येक प्रश्न में उपलब्ध पांचों विकल्पों में से किसी एक विकल्प को अनिवार्य रूप से चुनेगा। यदि कोई परीक्षार्थी ओएमआर में कोई प्रश्न खाली छोड़ता है तो उसकी उत्तर पुस्तिका कक्ष निरीक्षक अलग कर लेंगे। ऐसे सभी परीक्षार्थीयों के नामों की सूची एक अलग प्रोफार्मा पर बनाकर आयोग के संज्ञान में लाई जाएं। अलग किए गए ओएमआर मूल्यांकन के संबंध में आयोग द्वारा अपनी पूर्ण बैठक में निर्णय लिया जाए। छोड़े गए प्रश्नों के लिए उसे निगेटिव अंक हर स्थिति में प्रदान किए जाने चाहिए। 

सुझाव 3: ओएमआर शीट में हल किए गए कुल प्रश्नों की संख्या और छोड़े गए कुल प्रश्नों की संख्या को दर्ज करने की व्यवस्था ओएमआर में सबसे नीचे सुनिश्चित की जाए तथा इसे कक्ष निरीक्षक द्वारा अंत में सत्यापित करने के लिये एक अतिरिक्त कॉलम भी बनाया जाए। 

सुझाव 4: ओएमआर शीट की स्कैनिंग परीक्षा समाप्त होने के बाद करवाकर भारत सरकार के डिजिटल लॉकर में सुरक्षित रखवाई जाए जिससे कि बाद में किसी भी प्रकार के विवाद की स्थिति में न्यायालय या आयोग द्वारा उसका प्रयोग किया जा सके। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि ओएमआर शीट की कार्बन कॉपी प्रत्येक अभ्यर्थी को प्रदान की जाए तथा सभी अभ्यर्थियों को निर्देशित किया जाए कि वह कार्बन कॉपी को वह सुरक्षित रखेगा। 

हरियाणा में असिस्टेंट ब्लॉक रिसोर्स कोऑर्डिनेटर की 1207 वैकेंसी

डॉ  गिरीश चंद्र पांडेय (एसोसिएट प्रोफेसर, केजीके कॉलेज, मुरादाबाद) ने कहा- उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने विज्ञापन संख्या 49  के अंतर्गत प्राचार्य पद हेतु विज्ञापन किया गया है। जिसकी परीक्षा शीघ्र ही आयोग द्वारा प्रस्तावित है। प्राचार्य पद की परीक्षा में कुल 100 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। जिनका उत्तर ओएमआर शीट पर देना होगा। ऐसे में सरकार इस प्रत्यावेदन पर विचार करती है तो प्राचार्य पद की परीक्षा में भी किसी गड़बड़ी की संभावना खत्म हो जाएगी।      

12वीं पास व ग्रेजुएट्स के लिए LDC और असिस्टेंट के पदों पर भर्तियां

डॉ डी के सिंह (एसोसिएट प्रोफेसर, बरेली कॉलेज) ने कहा- प्रतियोगी परीक्षाओं की शुचिता, पारदर्शिता और भ्रष्टाचार रहित कराने के लिए ओएमआर में सुधार हेतु कुछ कदमों का उठाया उठाया जाना जरूरी है। प्रवेश परीक्षा कराते समय ऐसा देखा है कि परीक्षार्थी ओएमआर खाली छोड़ देते हैं। परीक्षार्थी कहने के बाद भी ओएमआर नहीं भरते हैं। कक्ष निरीक्षक कानूनी रूप से दबाव नहीं डाल सकते पर इसे नियम में ला दिया जाएगा तो भरना अनिवार्य होगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Uttar Pradesh: UP college professors sent ideas to cm yogi UPPSC UPHESC and UPSESSB to stop cheating in competitive exams