DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज में B.Tech की 850 सीटें खाली

इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी समेत उत्तर प्रदेश के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों में बीटेक की सीटें नहीं भर पाई है। आईईटी में कम्प्यूटर साइंस, इलेक्ट्रानिक्स समेत अन्य ब्रांचों में एक दर्जन से अधिक सीटें खाली रह गई है। इसके अलावा कमला नेहरू इंस्टीट्यूट व आधा दर्जन से अधिक राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेजों में बीटेक समेत एमबीए व एमसीए की सीटें खाली है। हालांकि इन सीटों को भरने के लिए गुरुवार से स्पॉट काउंसलिंग की जाएगी। 

राज्य प्रवेश परीक्षा एसईई में इस साल भी निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों समेत सरकारी संस्थानों में बीटेक समेत अन्य कोर्सों की बड़ी संख्या में सीटें खाली रह गई है। आईईटी में कम्प्यूटर साइंस विषय में ओपन कैटागिरी की एक दर्जन से अधिक सीटें खाली रह गई है। इसके अलावा केमिकल साइंस, आईटी, इलेक्ट्रिकल ब्रांच में भी सीटें खाली है। 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 : IAS से जानें कैसे भरें यूपीएससी Mains DAF , पढ़ें खास बातें

कुछ ऐसा ही हाल राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेजों का है, जहां पर बीटेक की सीटें खाली रह गई है। वहीं, निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों का हाल भी काफी बुरा है। कई कॉलेज तो ऐसे है जहां पर बीटेक में न के बराबर दाखिले हुए हैं। वहीं, एमबीए व एमसीए कोर्सों की हालत भी काफी खराब है। आईईटी समेत निजी संस्थानों में एमबीए की काफी सीटें खाली रह गई है। एकेटीयू प्रशासन के मुताबिक खाली सीटों पर गुरुवार से स्पॉट काउंसलिंग शुरू की जाएगी। जो 14 अगस्त तक चलेगी। वहीं, निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों को सीधा दाखिला लेने के लिए छात्रों को एकेटीयू की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:uttar pradesh: 850 BTech seats are vacant in up government engineering colleges