DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  UPSESSB भर्ती : रिकॉर्ड लेकर भाग गई एजेंसी, कैसे हो इंटरव्यू
करियर

UPSESSB भर्ती : रिकॉर्ड लेकर भाग गई एजेंसी, कैसे हो इंटरव्यू

संजोग मिश्र,प्रयागराजPublished By: Pankaj Vijay
Sat, 19 Jun 2021 06:12 AM
UPSESSB भर्ती : रिकॉर्ड लेकर भाग गई एजेंसी, कैसे हो इंटरव्यू

उत्तर प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में प्रधानाचार्य भर्ती के लिए 2013 में लिए गए आवेदन के कुछ रिकॉर्ड लेकर कम्प्यूटर एजेंसी भाग गई। अब उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के जिम्मेदार एजेंसी की खोजबीन कर रहे हैं ताकि उपलब्ध दस्तावेज से मिलान कर साक्षात्कार शुरू कराया जा सके।

प्रधानाचार्यों के 599 पदों पर भर्ती के लिए 31 दिसंबर 2013 को विज्ञापन जारी हुआ था। उस समय प्राइवेट एजेंसी ने आवेदन फीडिंग का कार्य किया था। लेकिन 9 अप्रैल 2018 को नए सिरे से चयन बोर्ड का गठन होने के बाद से एजेंसी का अता-पता नहीं है। सूत्रों के अनुसार एजेंसी संचालक जेल में है।

पिछले साल चयन बोर्ड ने इस भर्ती के लिए फाइलों की जांच-पड़ताल, फार्मों की छंटनी आदि का काम किया था। लेकिन फॉर्मों की फीडिंग का काम प्राइवेट एजेंसी ने ही किया था। अब प्रयास हो रहा है कि एजेंसी मिल जाए तो चयन बोर्ड के पास उपलब्ध रिकॉर्ड का मिलान फीड डाटा से कर लिया जाए। उसके बाद केजिंग करके इंटरव्यू शुरू कराया जाए। 15 जून को चयन बोर्ड की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई। सदस्य दिनेशमणि त्रिपाठी की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है ताकि समस्याएं दूर करते हुए साक्षात्कार प्रक्रिया शुरू की जा सके। इसका विकल्प भी खोजा जा रहा है। अगस्त में इंटरव्यू शुरू करने की कोशिश है।

अध्यक्ष ने एनआईसी से कराया सारा काम
चयन बोर्ड के अध्यक्ष वीरेश कुमार ने 9 अप्रैल 2018 को कुर्सी संभालने के बाद से कोई काम प्राइवेट एजेंसी से नहीं कराया। उन्होंने चयन से संबंधित सारे काम एनआईसी को दिए ताकि किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो सके। लेकिन पूर्व में जो गड़बड़ियां हो चुकी हैं, उससे परेशानी खड़ी है।

एक नजर में प्रधानाचार्य भर्ती 2013
599 पदों पर भर्ती के लिए शुरू हुई थी प्रक्रिया
25031 अभ्यर्थियों ने किया था आवेदन
4193 आवेदकों का होना है साक्षात्कार 
31 दिसंबर 2013 को निकला था विज्ञापन
25 फरवरी 2014 थी आवेदन की अंतिम तिथि

संबंधित खबरें