UPSC: uttar pradesh uppsc exam pattern going to be like upsc civil services examination excluded 5 up pcs subjects also not in ias exam - UPSC की राह चला उत्तर प्रदेश का UPPSC , IAS में भी नहीं है बाहर किए गए 5 विषय DA Image
12 नबम्बर, 2019|4:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UPSC की राह चला उत्तर प्रदेश का UPPSC , IAS में भी नहीं है बाहर किए गए 5 विषय

upsc

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस 2019 प्रारंभिक परीक्षा ( UPPSC PCS Prelims 2019 Examination ) के विज्ञापन से साफ कर दिया है कि वह संघ लोक सेवा आयोग ( UPSC ) की राह पर चल पड़ा है। यूपीपीएससी ने मुख्य परीक्षा से अरबी, फारसी, सोशल वर्क, डिफेंस और कृषि अभियांत्रिकी विषयों को को बाहर कर दिया है। ये विषय संघ लोक सेवा आयोग की सबसे प्रतिष्ठित आईएएस ( UPSC IAS ) में भी नहीं है। आयोग ने 18 अक्तूबर से शुरू हो रही पीसीएस 2018 मुख्य परीक्षा में बदलाव किया है। नए पैटर्न में अब पीसीएस मेंस में दो के बजाए सिर्फ एक वैकल्पिक विषय है। इसके दो प्रश्न पत्र होंगे। जबकि सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों की संख्या दो से बढ़कर चार कर दी गई है। इसलिए मुख्य परीक्षा सिर्फ चार दिन में ही समाप्त हो रही है। पूर्व में परीक्षा में 18 से 20 दिन लग जाते थे।  

इससे पहले भी यूपीपीएससी ने चयन प्रक्रिया में यूपीएससी का अनुसरण करता रहा है। संघ लोक सेवा आयोग ने 2011 में आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा में सीटेट लागू किया था तो उसके एकसाल बाद 2012 में यूपीपीएससी ने इसे लागू किया। यूपीएससी ने 2012 में सीटेट को क्वालीफाईंग किया तो यूपीपीएससी ने 2014 में इसे क्वालीफाईंग कर दिया। 
सीटेट से प्रभावित छात्रों को संघ लोक सेवा आयोग ने दो अतिरिक्त अवसर देते हुए 30 की बजाय 32 वर्ष तक के अभ्यर्थियों से आवेदन स्वीकार किए तो उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने भी दो अतिरिक्त अवसर दिया था। प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी अवनीश पांडेय का कहना है कि जब यूपीपीएससी पूरी तरह से यूपीएससी का पैटर्न लागू कर रहा है तो वह वेटिंग लिस्ट जारी क्यों नहीं करता।

UPPCS 2019: यूपी PCS 2019 के 300 पदों पर आवेदन शुरू, ये हुए बदलाव

जबकि संघ लोक सेवा आयोग हमेशा वेटिंग लिस्ट जारी करता है। यदि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग वेटिंग लिस्ट जारी करने लगे तो हर साल 50 से 100 छात्रों का भला हो जाएगा। 

UP PCS: पीसीएस मुख्य परीक्षा से पांच विषय हटाए, आर्थिक गरीबों का कोटा

अभ्यर्थियों की मांग पर कार्रवाई का अध्यक्ष ने दिया आश्वासन
यूपीपीएससी के अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार ने बुधवार को अभ्यर्थियों से मुलाकात की। प्रयागराज के अलावा लखनऊ, आगरा, देवरिया, मिर्जापुर, जौनपुर, कौशाम्बी तथा प्रतापगढ़ आदि जिलों से आए अभ्यर्थियों ने अध्यक्ष के सामने अपनी समस्याएं रखीं। राजकीय पॉलीटेक्नक में व्याख्यात, राजकीय इंटरकॉलेजों में प्रवक्ता तथा अन्य विभागों की सीधी भर्ती के पदों पर चयन जल्द कराने का अनुरोध किया। अध्यक्ष ने चयन की कार्रवाई जल्द से जल्द कराने का आश्वासन दिया। 

UPPCS 2019: चयन से पहले ही UP PCS परीक्षा से बाहर हो गए 1500 प्रतियोगी, जानें कैसे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UPSC: uttar pradesh uppsc exam pattern going to be like upsc civil services examination excluded 5 up pcs subjects also not in ias exam