ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPSC परीक्षा में एक साथ बैठे थे ये तीन दोस्त, 2 बने IAS और एक हैं IPS अधिकारी

UPSC परीक्षा में एक साथ बैठे थे ये तीन दोस्त, 2 बने IAS और एक हैं IPS अधिकारी

क्या आप भी परीक्षा के दिनों में दोस्तों से नहीं मिलते हैं, अगर ऐसा है तो आज हम आपको ऐसे तीन दोस्तों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने एक साथ यूपीएससी की परीक्षा दी और एक साथ परीक्ष में सफल भी ह

UPSC परीक्षा में एक साथ बैठे थे ये तीन दोस्त, 2 बने IAS और एक हैं IPS अधिकारी
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 05 Nov 2023 12:15 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC Success Story: जब कभी हम दोस्तों के साथ जरूरत से ज्यादा समय बिताते हैं, तो अक्सर मां- बाप ताना मारते हैं। उन्हें लगता है कि बच्चा अगर दोस्तों के साथ ज्यादा वक्त बीता रहा है तो वह पढ़ाई में बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहा है, लेकिन आज भी ऐसे दोस्ती हैं, जो अपने दोस्तों के लक्ष्यों को प्राप्त करने में उनकी मदद करती हैं। ।

आज हम आपको ऐसे तीन दोस्तों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने एक साथ यूपीएससी की परीक्षा दी और सफल हुए। आइए जानते हैं, IPS साद मियां खान, IAS विशाल मिश्रा और IAS गौरव विजयराम कुमार के बारे में।

जब किसी परीक्षा की तैयारी करते हैं, तो सबसे पहले आमतौर हम दोस्तों से मिलना बंद कर देते हैं, लेकिन साद मियां खान, विशाल मिश्रा और गौरव विजयराम कुमार की कहानी अनोखी है। ये तीनों साथ में यूपीएससी के लिए पढ़ाई किया करते थे।

आपको बता दें, तीनों दोस्तों में साद मियां की यूपीएससी में हाईएस्ट रैंक आई है। उन्होंने 25वीं रैंक के साथ यूपीएससी की परीक्षा पास की थी।

साद बिजनौर का रहने वाले हैं और कानपुर से दोस्त विशाल के साथ BTech की डिग्री हासिल की थी। साल 2007 में दोनों के बीच दोस्ती हुई थी, वहीं गौरव विजयराम से इन दोनों की मुलाकात दिल्ली में हुई थी। जिसके बाद ये तीनों आपस में पक्के दोस्त बन गए।

साद और विशाल मिश्रा ने 2012 में सिविल इंजीनियरिंग में  ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद यूपीएससी परीक्षा देने का फैसला किया और तैयारी के लिए दिल्ली चले आए। जहां उनकी मुलाकात गौरव से हुई। दिल्ली में तीनों ने यूपीएससी सिविल सर्विसेज की तैयारी शुरू कर दी थी।

साद मियां के बारे में जानें

साद मियां खान ने साल 2013 में यूपीएससी की परीक्षा पहली बार दी थी। जिसमें वह असफल रहें। इसके बाद वह चार बार यूपीएससी सीएसई में उपस्थित और साल 2017 में अपने पांचवें प्रयास में सफल हुए। जिसमें उन्होंने 25वीं रैंक हासिल की थी। यूपीएससी में इतनी अच्छी रैंक होने के बाद भी साद IAS की  बजाय IPS का पद चुना।

ये थे साद मियां के मार्क्स

यूपीएससी मेन्स के जीएस पेपर 1 में साद ने 129 मार्क्स हासिल किए थे। उनके जीएस 2, जीएस 3 और जीएस 4 मार्क्स क्रमशः 120, 127 और 94 थे। उस समय उनका ऑप्शनल सब्जेक्ट जियोग्राफी था।

जानते हैं IAS अधिकारी गौरव विजयराम कुमार के बारे में

गौरव विजयराम कुमार ने साल 2017 में यूपीएससी की परीक्षा पास की थी। जिसमें उन्होंने 34वीं रैंक हासिल की थी। एक इंटररव्यू में जब गौरव कुमार से उनकी तैयारी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "मैं अपने दोस्तों के साथ सभी योजनाओं, मुद्दों और प्रश्नों पर चर्चा करता था। उन्होंने मुझे बेहतर रणनीति बनाने में मेरी काफी मदद की"

बता दें, गौरव ने चौथे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास की थी। उन्हें अपने पहले तीन प्रयासों में उन्हें सफलता नहीं मिली थी। उन्होंने कहा, "शुरुआती प्रयास में, मैं मुख्य परीक्षा के लिए अच्छी तरह से तैयार नहीं था और बाद के प्रयास में, मुझे जनरल स्टडीज के के पेपर में अच्छे मार्क्स नहीं मिले थे"

जानते हैं IAS अधिकारी विशाल मिश्रा के बारे में

IAS विशाल मिश्रा उत्तराखंड से हैं और उन्होंने कानपुर में साद मियां खान के साथ पढ़ाई की है। वह पेशे से इंजीनियर हैं और उन्होंने आईआईटी कानपुर से एमटेक की डिग्री ली और फिर यूपीएससी की तैयारी शुरू की। यूपीएससी सीएसई 2017 में उन्होंने 49वीं रैंक के साथ परीक्षा पास की थी। जिसके बाद वह आईएएस अधिकारी बन गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें