ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरजानें- UPSC कैसे जांचता है व्यक्ति IAS, IPS, IFS बनने के काबिल है या नहीं

जानें- UPSC कैसे जांचता है व्यक्ति IAS, IPS, IFS बनने के काबिल है या नहीं

UPSC Interview Process: यूपीएससी की परीक्षा मुश्किल परीक्षा में एक होती है। जिसे क्लियर करने के लिए दिन रात एक करने पड़ते हैं। यूपीएससी की परीक्षा में तीन चरण होती हैं, प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू। ये

जानें- UPSC कैसे जांचता है व्यक्ति IAS, IPS, IFS बनने के काबिल है या नहीं
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 03 Oct 2022 11:10 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

UPSC Interview Process: यूपीएससी की परीक्षा मुश्किल परीक्षा में एक होती है। जिसे क्लियर करने के लिए दिन रात एक करने पड़ते हैं। यूपीएससी की परीक्षा में तीन चरण होती हैं, प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू। ये तीनों चरण बहुत महत्वपूर्ण है। जो उम्मीदवार यूपीएससी की तैयारी कर हैं या भविष्य में करने वाले हैं, आइए विस्तार से जानते हैं  UPSC कैसे जांचता है कि व्यक्ति IAS, IPS, IFS, IRS बनने के काबिल है या नहीं। बता रहे हैं विजेंद्र सिंह चौहान, जो दिल्ली यूनिवर्सिटी के जाकिर हुसैन कॉलेज में हिंदी के एसोसिएट प्रोफेसर हैं।

विजेंद्र सिंह चौहान ने बताया हम उन उम्मीदवारों को  यूपीएससी इंटरव्यू, (पर्सानालिटी टेस्ट) के लिए मार्गदर्शन करते हैं जो मेंस परीक्षा पास करके आए हैं।

पढ़ें- UPSC ESE 2023: कल है आवेदन करने की तारीख, upsc.gov.in पर भरें फॉर्म

कैसे होता है UPSC का इंटरव्यू

यूपीएससी इंटरव्यू के दौरान ये बोर्ड उम्मीदवार के व्यक्तितत्व का मूल्यांकन करता है। विजेंद्र सिंह चौहान ने कहा, हालांकि यूपीएससी स्वंय ही बता देता है कि कि इंटरव्यू कैसा होगा। अगर आप यूपीएससी के नोटिफिकेशन को देखें,  तो उसमें लिखा होता है इंटरव्यू में क्या जांचा जाएगा।

नोटिफिकेशन में पहला वाक्य ये साफ- साफ बता देता है कि ये एक व्यक्तित्व परीक्षण है न कि कोई पूछताछ की प्रक्रिया। बता दें, ये व्यक्तित्व परीक्षण जांचने की कोशिश करता है कि आपके अंदर भौतिक ईमानदारी और नैतिक ईमानदारी है या नहीं है। ये परीक्षण ये बताने की कोशिश करेगा कि आप तार्किकता, संवेदनशील से भरे हुए हैं या नहीं।

उम्मीदवार बिल्कुल ऐसा न सोचें बड़ी शहरों की यूनिवर्सिटी से नहीं पढ़ने वाले लोग इस इंटरव्यू में अच्छा नहीं कर सकते हैं। विजेंद्र ने कहा, "हमने अक्सर देखा है जो छोटे शहरों के उम्मीदवार यूपीएससी मेंस क्लियर कर इंटरव्यू में पहुंचते हैं, वह अच्छा प्रदर्शन करते हैं।

कैसे करते हैं उम्मीदवार के गुणों की पहचान

- सबसे पहले आपको बता दें, जो उम्मीदवार यूपीएससी के इंटरव्यू में शामिल होने जा रहे हैं, वह पहले अपने बारे में लिखित जानकारी (जिसे डिटेल्ड एप्लीकेशन फॉर्म (DAF) बोर्ड मेंबर्स को भेजते हैं।

- उम्मीदवारों को बता दें,  किसी भी कीमत पर फेक व्यक्तितत्व मत बताईए, नकली घोषणा मत कीजिए।

- अपना व्यक्तितत्व या अपने जीवन को बोर्ड मेंबर से ढकिए मत। अपने व्यक्तितत्व से शर्माइए मत। बोर्ड मेंबर्स को इसके बारे में जानने दें।

-  अक्सर उम्मीदवारों को लगता है, बहुत खुलकर बोलना आपके व्यक्तितत्व का शानदार गुण है। सच्चाई ये है कि न तो extrovert होना और न ही introvert होना। व्यक्तितत्व का अच्छा या बुरा गुण है। ये दोनों महत्वपूर्ण गुण है।

-   जब भी आप बोर्ड मेंबर के सामने जाए तो वाचिक संप्रेषण या गैर  वाचिक संप्रेषण पर ध्यान देना जाइए। वाचिक संप्रेषण होता है मुंह से बोलना और गैर वाचिक संप्रेषण है, आंखों और हाथ पैरे हिलाने के माध्यम से अपनी बात रखना। इन दोनों संप्रेषण (बॉडीलैंग्वेज) में आपको तालमेल बिठाना होगा। जिसमें खास तौर पर बैठने का तरीका, बोलने का तरीका, आपकी आवाज का वॉल्यूम और आई कॉन्टेक्ट देखा जाता है।

- इसी के साथ हम बात करते हैं हाथों की मूवमेंट की और प्रवाह (FLOW) की ।

विजेंद्र सिंह चौहान ने कहा ये मूल बिंदू है जिसपर बोर्ड मेंबर बात करते हैं,  इन सब के बावजूद ज्ञान भी जरूरी है।

 

 

 

epaper