DA Image
हिंदी न्यूज़ › करियर › छात्रों के IAS IPS बनने के सपनों को पंख लगाएगी दिल्ली सरकार, UPSC परीक्षा के टिप्स देने के लिए बनाई ये योजना
करियर

छात्रों के IAS IPS बनने के सपनों को पंख लगाएगी दिल्ली सरकार, UPSC परीक्षा के टिप्स देने के लिए बनाई ये योजना

वरिष्ठ संवाददाता,नई दिल्लीPublished By: Pankaj Vijay
Fri, 25 Dec 2020 06:26 AM
छात्रों के IAS IPS बनने के सपनों को पंख लगाएगी दिल्ली सरकार, UPSC परीक्षा के टिप्स देने के लिए बनाई ये योजना

यूपीएससी पास कर आईएएस , आईपीएस बनने का सपना देखने वाले छात्रों के सपनों को दिल्ली सरकार पंख लगाएगी। इसके लिए दिल्ली सरकार ने एक नया कार्यक्रम शुरू किया। जिसके तहत सरकार छात्रों के साथ प्रत्येक महीने युवा आईएएस, आईपीएस अधिकारियों का संवाद सत्र आयोजित कराएगी। जिसमें अधिकारी अपनी पढ़ाई और तैयारी से जुड़े अनुभव साझा करेंगे। साथ ही अधिकारी छात्रों को स्कूली शिक्षा के दौरान ही यूपीएससी की तैयारी और जीवनचर्या संवारने के टिप्स देंगे। 

 इस कार्यक्रम की पहली कड़ी के तहत गुरुवार को  शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश ने छात्रों के साथ अपनी यूपीएससी की तैयारी संबंधी अनुभव साझा किए। कार्यक्रम में कक्षा 9 से 12 वीं तक के लगभग 60 छात्र शामिल हुए। तो वहीं 5000 छात्र भी लाइव यूट्यूब के माध्यम से जुड़े। अपनी यूपीएससी की तैयारियों से जुड़े अनुभव बताते हुए 2007 बैच के आईएएस उदित प्रकाश ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दीं। उन्होंने कहा कि मैंने दसवीं के बाद ही आईएएस बनने का लक्ष्य बना लिया था। इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद मैंने यूपीएससी में सफलता हासिल की। उन्होंने कहा कि सबसे पहले आप इस भ्रम को निकाल दें कि आईएएस बनने वाले लोग किसी अन्य ग्रह के प्राणी हैं। हमलोग किसी दूसरे ग्रह से नहीं आए बल्कि आप जैसे छात्रों की तरह मैं भी एक साधारण छात्र था। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बच्चों में कुछ कर दिखाने की काफी लगन है और आपके भीतर यूपीएससी में सफल होने के सभी गुण मौजूद हैं। इसीलिए आपमें इसकी समझ पैदा करने के लिए यह कार्यक्रम शुरू किया गया है।

कार्यक्रम के अंत में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी छात्रों से कहा कि जो छात्र आईएएस बनने का सपना देखते हैं उन्हें इससे भी आगे का बड़ा सपना देखना चाहिए। उन्हें पहले यह लक्ष्य तय करना चाहिए कि आईएएस बनकर क्या करना है। यह सपना गांवों का विकास करना या देश से गंदगी हटाने या भ्रष्टाचार मिटाने का हो या फिर नफरत और हिंसा खत्म करने का। 
 

संबंधित खबरें