DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरUPSC IAS Exam : 7वें प्रयास में सफल होने वाली पल्लवी ने बताया यूपीएससी परीक्षा में फेलियर को कैसे बनाएं हथियार

UPSC IAS Exam : 7वें प्रयास में सफल होने वाली पल्लवी ने बताया यूपीएससी परीक्षा में फेलियर को कैसे बनाएं हथियार

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPankaj Vijay
Tue, 19 Oct 2021 07:24 AM
UPSC IAS Exam : 7वें प्रयास में सफल होने वाली पल्लवी ने बताया यूपीएससी परीक्षा में फेलियर को कैसे बनाएं हथियार

UPSC IAS Exam : जब आप यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में कुछेक नंबरों की कमी से असफल हो जाएं, तो इस तरह के फेलियर को कैसे डील किया जाए? यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान बार-बार मिलने वाली नाकामी से कैसे उबरा जाएं और फिर से एक योद्धा की तरह पूरे जोश के साथ अपने लक्ष्य की तरह बढ़ा जाए? इन प्रश्नों का जवाब 7वें प्रयास में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा (2020) पास करने वाली पल्लवी से बेहतर शायद ही कोई दे पाए। एमपी सरकार के सफलता के मंत्री कार्यक्रम में 340वीं रैंक हासिल करने वाली इंदौर की पल्लवी वर्मा ने कहा, 'मैंने इस परीक्षा की लंबी तैयारी के दौरान कई उतार चढ़ाव देखें। मैंने पहले दो प्रयासों में प्रीलिम्स भी पास नहीं कर पाई थी। इस असफलताओं के दौरान मेडिटेशन अहम होता है। डायरी राइटिंग व लोगों से बात करना अच्छा हो सकता है।'

पल्लवी ने कहा, 'दोस्तों, परिवार के लोगों और करीबियों से बात करने पर आपको पता चलेगा कि फेलियर लाइफ का हिस्सा है। इसे अपनाएं। इसे नकारेंगे तो आप खुद में सुधार नहीं कर पाएंगे। तीसरे अटेम्प्ट में मैं इंटरव्यू में रह गई। चौथे अटेम्प्ट में मेरा मेन्स क्लियर नहीं हुआ। पांचवें में तो प्रीलिम्स ही नहीं हो पाया। छठे में मेरा इंटरव्यू क्लियर नहीं हो पाया। तो मेरा आत्मविश्वास गिर रहा था। लेकिन मैं कमियों को स्वीकार कर रहा था। कभी इंटरव्यू और तो ऑप्शनल में कम हो जाया करता था। तैयारी समय लेती है। बिना लड़े हार न मानें। जुझारू बने रहें। धैर्य से ही सफलता मिलेगी।'

देवास के राजारामनगर में रहने वाले आयुष गुप्ता (98वीं रैंक) में इस पर कहा, 'मेरा फेलियर प्रीलिम्स में संबंधित नहीं था। लेकिन 2019 के यूपीएससी रिजल्ट में मेरा 7-8 मार्क्स से चयन रह गया था। उस समय काफी बुरा लगता है। लेकिन यह काफी प्रेरणा भी देता हूं। आप इसे इस तरह ले सकते हैं कि आप कामयाबी से कुछ ही नंबर दूर रह गए हैं। अब बस थोड़ी और मेहनत करनी है। और ज्यादा मेनहत करेंगे तो अच्छी रैंक भी आ सकती है। तो फेलियर से घबराने की बजाय प्रेरित होने की जरूरत है।'

UPSC इंटरव्यू में पूछा, साड़ी के बॉर्डर पर सवाल, जवाब देकर गाजियाबाद की लड़की ने हासिल किए हाईएस्ट मार्क्स, बनीं IAS

यूपीएससी हर वर्ष भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) , भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) समेत कई तरह की सिविल सेवओं के लिए अधिकारियों का चयन करने के लिए प्रतिवर्ष तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार सिविल सेवा परीक्षा आयोजित कराती है। इस भर्ती परीक्षा में हर साल करीब 9 से 10 लाख युवा बैठते हैं। वर्तमान में इस भर्ती परीक्षा के लिए आयु की न्यूनतम सीमा 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष तय की हुई है। एससी, एसटी वर्ग के उम्मीदवारों का पांच वर्ष और ओबीसी को तीन वर्ष की छूट है। किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट व्यक्ति इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें