ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरजानें- कैसे इन IPS अधिकारी ने 4 बार बैक टू बैक क्लियर की थी UPSC परीक्षा

जानें- कैसे इन IPS अधिकारी ने 4 बार बैक टू बैक क्लियर की थी UPSC परीक्षा

UPSC CSE Success Story: अमृत जैन जिन्होंने एक या दो बार नहीं बल्कि लगातार चार बार यूपीएससी की परीक्षा पास की है। अमृत ​​जैन अब एक आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में ASP यानी असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट ऑफ

जानें- कैसे इन IPS अधिकारी ने 4 बार बैक टू बैक क्लियर की थी UPSC परीक्षा
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 13 May 2024 08:52 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC CSE Success Story: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा कठिन परीक्षाओं में से एक हैं और ऐसी धारणा है कि इस परीक्षा को पास करने के लिए कोचिंग लेना जरूरी होता है। वहीं आज हम आपको ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने बिना कोचिंग के यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की है। हम बात कर रहे हैं, आईपीएस अधिकारी अमृत जैन की, जिन्होंने चार बार यूपीएससी की परीक्षा पास की। आइए जानते हैं उनके बारे में।

अमृत जैन वर्तमान में उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में ASP यानी असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के पद पर कार्यरत हैं। वह राजस्थान के भीलवाड़ा से हैं। उन्होंने एनआईटी वारंगल से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक की पढ़ाई पूरी की और बाद में Czech टेक्निकल यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। अपनी पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने हैदराबाद की एक प्राइवेट कंपनी में अपने करियर की शुरुआत की थी, लेकिन नौकरी करने के कुछ समय बाद उन्हें महसूस हुआ कि उन्हें यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा देनी चाहिए।

एक साधारण परिवार से आने वाले अमृत जैन ने साल 2016 में यूपीएसस की पहले से पढ़ाई किए बिना यूपीएससी परीक्षा दी थी। उस समय उन्हें खुद पर भरोसा था कि यूपीएससी सीएसई प्रीलिम्स में मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन होंगे, जिनका वह आसानी से जवाब दे देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और वह परीक्षा में असफल हो गए थे।

जिसके बाद अमृत जैन ने एक साल तक अच्छे से पढ़ाई की और फिर साल 2017 में यूपीएससी प्रीलिम्स में शामिल हुए। हालांकि इस बार वह 0.66 अंकों से परीक्षा पास करने में असफल रहे थे। जिसके बाद अमृत समझ गए थे कि यूपीएससी की परीक्षा को एक सही रणनीति के साथ ही पास किया जा सकता है। उन्होंने अपनी गलतियों में सुधार किया और एक सही रणनीति बनाई। अपनी यूपीएससी की तैयारी को मजबूत बनाने के लिए उन्होंने 140 मॉक टेस्ट पूरे किए थे। परीक्षा के दौरान वह प्रत्येक प्रश्न को कम से कम तीन बार से ज्यादा पढ़ा करते थे।

उन्होंने यूपीएससी सीएसई सिलेबस पर अपनी नजरें बनाई रखी थी, क्योंकि यूपीएससी सीएसई का लगातार अपना पैटर्न बदल रहा था। उनका कहना है, जो उम्मीदवार यूपीएससी के सिलेबस को अच्छे से समझ लेते हैं उनके लिए ये परीक्षा पास करना थोड़ा सरल हो जाता है। बता दें, उन्होंने यूपीएससी परीक्षा के लिए, पॉलिटिकल साइंम को ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में चुना था।

अमृत जैन ने साल 2018 में तीसरी बार यूपीएससी की परीक्षा दी थी और इस बार उनकी मेहनत रंग लाई। उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास कर ली थी। बता दें, साल साल 2018 में उन्हें रिजर्व लिस्ट में रखा था, जिसके बाद वह इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस (IDAS) में शामिल हो गए थे। हालांकि इसके बाद उन्होंने तीन बार लगातार यूपीएससी की परीक्षा दी और तीनों की बार सफल रहे। उन्हें 2019 में 321वीं रैंक , 2020 में 96 रैंक और 2021 में 179 रैंक मिली थी। बता दें,  यूपीएससी की परीक्षा को पास करने के लिए उन्होंने कोई कोचिंग नहीं ली थी।

चार बार यूपीएससी परीक्षा पास करने के बाद उन्हें IPS अधिकारी का पद मिला, लेकिन उनका IAS बनने का सपना पूरा नहीं हुआ। एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में अमृत ने कहा, IAS अधिकारी नहीं बन पाया, इसका कोई पछतावा नहीं है। वह मानते हैं कि यूपीएससी की तैयारी करते समय हर किसी का लक्ष्य IAS अधिकारी बनना होता है, लेकिन हर कोई इसे हासिल नहीं कर पाता। वहीं यूपीएससी सीएसई परीक्षा में पास होना अपने आप में एक बड़ी बात है।

 

 

 

Virtual Counsellor