ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरमिलिए ऐसे भाई-बहनों से, जिन्होंने एकसाथ पास किया UPSC CSE, बने IAS-IPS अधिकारी

मिलिए ऐसे भाई-बहनों से, जिन्होंने एकसाथ पास किया UPSC CSE, बने IAS-IPS अधिकारी

आइए आज यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन में सफल होने वाले भाई-बहनों की सफलता की कहानियों पर एक नजर डालते हैं, जिन्होंने एक साथ इस परीक्षा को पास कर दिखाया है और बने IAS, IPS अधिकारी

मिलिए ऐसे भाई-बहनों से, जिन्होंने एकसाथ पास किया UPSC CSE, बने IAS-IPS अधिकारी
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 04 Feb 2024 12:47 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC Success story: हम हर दिन आपके लिए  यूपीएससी की सफलता की कई कहानियां लेकर आते हैं और ये उम्मीद करते हैं कि जो उम्मीदवार इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, वह इन कहानियों से प्रेरणा लें। वहीं आज हम आपको UPSC की परीक्षा में सफल होने वाले उन भाई-बहनों के बारे बताने जा रहे हैं, जिन्होंने एकसाथ परीक्षा पास की थी और IAS, IPS अधिकारी बनने का सपना पूरा किया।

सिमरन और सृष्टि

उत्तर प्रदेश के आगरा की रहने वाली सिमरन और सृष्टि दोनों ने 2020 में यूपीएससी परीक्षा पास की थी। सबसे बड़ी सिमरन ने अपने तीसरे प्रयास में 474वीं रैंक हासिल की थी। वहीं दूसरी ओर, छोटी बेटी सृष्टि ने अपने पहले ही प्रयास में 373वीं रैंक हासिल कर परीक्षा में सफलता हासिल की थी।

अंजलि मीना और अनामिका मीना

अंजलि मीना और अनामिका मीना राजस्थान के दौसा जिले से हैं। दोनों बहनों ने  साल 2019 में यूपीएससी सीएसई परीक्षा पास की थी। अनामिका ने 116वीं रैंक के साथ UPSC क्रैक किया था, वहीं अंजलि ने अपने पहले ही प्रयास में 494वीं रैंक हासिल की थी।

पंकज कुमावत और अमित कुमावत

राजस्थान के झुंझुनू जिले के पंकज और अमित कुमावत ने साल  2019 में यूपीएससी सीएसई में सफलता हासिल की थी। दिलचस्प बात यह है कि दोनों भाईयों ने 2018 में पहले प्रयास में ही सीएसई  परीक्षा पास कर ली थी। उस समय पंकज की 443वीं रैंक और अमित की 600 रैंक आई थी। पंकज को IPS पद मिल गया था। लेकिन फिर भी परिणाम से दोनों भाई संतुष्ट नहीं थे, जिसके बाद उन्होंने दोबार परीक्षा देने का फैसला किया।  दूसरी बार यूपीएससी सीएसई में अमित ने 423वीं रैंक औरक पंकज ने 424वीं रैंक हासिल की थी। जिसके बाद दोनों भाईयों को  आईपीएस कैडर मिला। जहां पंकज पहले से भी आईपीएस थे, वहीं  दूसरी बार में अमित भी आईपीएस अधिकारी बन गए। बता दें, दोनों भाईयों ने यूपीएससी सीएसई की तैयारी बिना कोचिंग के की थी। उनके पिता दर्जी का काम करते थे और उनकी आय का एकमात्र स्रोत सिलाई था।

अंकिता और वैशाली

अंकिता और वैशाली दोनों सगी बहनें हैं और दोनों ने एक साथ यूपीएससी सीएसई क्रैक किया है। जहां वैशाली ने दूसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा में 21वीं रैंक हासिल की थी, वहीं उनकी बड़ी बहन अंकिता जैन ने अपने चौथे प्रयास में तीसरी रैंक हासिल की थी। बता दें, दोनों बहनों ने IAS अधिकारी का पद हासिल किया है।

 

 

Virtual Counsellor