DA Image
27 अक्तूबर, 2020|7:44|IST

अगली स्टोरी

UPSC सिविल सेवा प्री के प्रशिक्षण में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

upsc

चार अक्टूबर को होने वाली संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा ( UPSC Civil Services Prelims Exam 2020 ) के प्रशिक्षण में ही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गईं। सोमवार को मोती लाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के जिस सभागार में प्रशिक्षण प्रशिक्षण हुआ उसकी क्षमता 350 लोगों की बताई जा रही है। जबकि प्रशिक्षण में 600 से अधिक लोगों को बुलाया गया। तमाम ऐसे शिक्षक रहे जो यहां की हालत देखकर केवल हस्ताक्षर कर लौट आए। प्रशिक्षण में शामिल नहीं हुए। 

सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा चार अक्टूबर को प्रयागराज जिले के 97 केंद्रों पर होगी। परीक्षा में लगभग 47 हजार परीक्षार्थियों को बुलाया गया है। प्रशासन ने परीक्षा को सफलता पूर्वक कराने के लिए सोमवार को एमएनएनआईटी के सभागार में प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों और कर्मचारियों को बुलाया था। प्रशासन का दावा है कि हॉल की क्षमता लगभग सात सौ लोगों की थी, जबकि एक पाली के प्रशिक्षण में महज 300 लोगों को बैठाया गया था। वही प्रशिक्षण पर गए कर्मचारियों का इससे ठीक उलट कहना है। उनका कहना है कि यहां पर न तो सेनेटाइजर का बंदोबस्त था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का बंदोबस्त किया गया था। वहीं एडीएम सिटी एके कनौजिया ने कहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन प्रशिक्षण में किया था। हॉल की क्षमता से आधे को ही एक पाली के प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया था।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:upsc civil services prelims exam 2020 : social distancing rules did not followed in mnnit allahabad training session