DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  UPSC Civil Services Exam 2020: ये हैं महत्वपूर्ण तारीखें और अन्य खास बातें
करियर

UPSC Civil Services Exam 2020: ये हैं महत्वपूर्ण तारीखें और अन्य खास बातें

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Pankaj
Wed, 18 Dec 2019 08:37 AM
UPSC Civil Services Exam 2020: ये हैं महत्वपूर्ण तारीखें और अन्य खास बातें

UPSC Civil Services Exam 2020: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा क्रैक कर आईएएस ( IAS ), आईपीएस ( IPS ), आईआरएस ( IRS ), आईएफएस ( IFS ) बनना इस देश के लाखों युवाओं का सपना होता है। हर वर्ष फरवरी माह में संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी करता है और 10  लाख से ज्यादा युवा इस सर्वोच्च सिविल सेवा भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। हर वर्ष यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों -- प्रारंभिक, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार-- में आयोजित की जाती है। इसके जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) और भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है। इंडियन फॉरेस्ट सर्विसेज का सेलेक्शन भी सिविल सर्विस एग्जाम के साथ साथ होता है। आईएफएस मेन एग्जाम के लिए सेलेक्शन यूपीएससी सिविल सर्विस प्रीलिम्स ( UPSC Civil Services prelims ) के जरिए ही होता है। 

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के सभी आवेदकों को सबसे पहले प्रीलिम्स एग्जाम में बैठना होता है। इसमें पास होने वाले उम्मीदवारों को मेन्स एग्जाम में बैठने के लिए बुलाया जाता है। मेन्स में जो पास होता है वह इंटरव्यू (पर्सनैलिटी टेस्ट) तक पहुंचता है। फाइनल मेरिट लिस्ट इंटरव्यू और मेन्स एग्जाम में प्रदर्शन के आधार पर बनती है। मेन्स एग्जाम 1750 मार्क्स और इंटरव्यू 275 मार्क्स का होता है। 

Civil Services Exam 2020 Important Dates: जानें सिविल सेवा परीक्षा की अहम तारीखें 
नोटिफिकेशन (UPSC Civil Services NOtification 2020) जारी होने की डेट- 12 फरवरी, 
रजिस्ट्रेशन डेट - 12 फरवरी से 3 मार्च  
प्रीलिम्स एग्जाम डेट - 31 मई, 2019

upsc civil services exam 2020

प्रीलिम्स एग्जाम एक स्क्रीनिंग टेस्ट है। इसके मार्क्स फाइनल मेरिट में नहीं जुड़ते। लेकिन इसमें पास होने वाले को ही मेन्स एग्जाम में एंट्री मिलती है। 

नोटिफिकेशन जारी होने पर उम्मीदवार upsc.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। 

यह परीक्षा देश में में नौकरशाही के सर्वोच्च पदों के लिए आयोजित की जाती है। सिविल सेवा परीक्षा के जरिए ही देश में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस), भारतीय इंजीनियरिंग सेवा (आईईएस) और भारतीय रेलवे यातायात सेवा (आईआरटीएस) के लिए अफसर चुने जाते हैं। 

सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदक के पास किसी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। प्रारंभिक परीक्षा के लिए किसी तरह के न्यूनतम अंकों की जरूरत नहीं होती है। आईएएस और आईपीएस पद के लिए आवेदक का भारत का नागरिक होना जरूरी है। अन्य पदों के लिए वे नेपाल या भूटान का नागरिक भी हो सकते हैं। 

प्रारंभिक परीक्षा में 400 अंकों के कुल दो पेपर (जनरल स्टडीज पेपर 1 और जनरल स्टडीज पेपर 2) होते हैं। दोनों पेपर 200 अंकों के होते हैं। इसमें बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग भी होती है। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काट लिए जाते हैं। 
 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें