DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UPSC exams 2019: प्रतिभागियों को परीक्षा से नाम वापस लेने की इजाजत देगा यूपीएससी

upsc

UPSC exams 2019: सिविल सेवा परीक्षा के लिए फॉर्म भरने वाले 10 लाख प्रतिभागियों में से सिर्फ पांच लाख के ही परीक्षा में बैठने का दावा करते हुए यूपीएससी ने सोमवार को कहा कि उसने प्रतिभागियों को परीक्षा से नाम वापस लेने की इजाजत देने का फैसला किया है। एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई। इसमें कहा गया कि यह व्यवस्था इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा, 2019 से शुरू होगी।

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, बयान में कहा गया कि सोमवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अरविंद सक्सेना ने कहा कि सिविल सेवा परीक्षा को लेकर यूपीएससी का अनुभव रहा है कि प्रारंभिक परीक्षा के लिये आवेदन फॉर्म भरने वाले 10 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों में से मोटे तौर पर 50 फीसदी ही वास्तव में परीक्षा में बैठते हैं।

यूपीएससी द्वारा प्रति वर्ष तीन चरणों- प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार - में सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसके जरिये भारतीय प्रशासनिक सेवा(आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) समेत दूसरी अखिल भारतीय सेवाओं के लिये अधिकारियों का चयन किया जाता है।
         
उन्होंने कहा कि इस सेवा का लाभ उठाने के लिये प्रतिभागी को अपने आवेदन का विवरण देना होगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UPSC allows withdrawal of applications by candidates