ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPPSC : यूपी आरओ एआरओ भर्ती में 1 पद के 2600 दावेदार, जानें क्यों हुई पीसीएस से डेढ़ गुना ज्यादा भीड़

UPPSC : यूपी आरओ एआरओ भर्ती में 1 पद के 2600 दावेदार, जानें क्यों हुई पीसीएस से डेढ़ गुना ज्यादा भीड़

यूपीपीएससी आरओ एआरओ भर्ती के कुल 411 पदों के लिए 10,69,725 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। स्पष्ट है कि प्रत्येक पद पर 2600 से अधिक दावेदार मैदान में हैं। यह पीसीएस से डेढ़ गुना ज्यादा आवेदन हैं।

UPPSC : यूपी आरओ एआरओ भर्ती में 1 पद के 2600 दावेदार, जानें क्यों हुई पीसीएस से डेढ़ गुना ज्यादा भीड़
Pankaj Vijayप्रमुख संवाददाता,प्रयागराजWed, 29 Nov 2023 09:01 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की समीक्षा अधिकारी (आरओ) के 334 और सहायक समीक्षा अधिकारी (एआरओ) भर्ती के 77 यानी कुल 411 पदों के लिए 10,69,725 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। स्पष्ट है कि प्रत्येक पद पर 2600 से अधिक दावेदार मैदान में हैं। यह पहली बार है जब उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग को आरओ/एआरओ भर्ती के लिए इतनी बड़ी संख्या में आवेदन मिले हैं। आवेदकों की बड़ी संख्या का मुख्य कारण यह है कि आरओ के लिए केवल स्नातक पास ही आवेदन के योग्य थे। लंबे समय से शिक्षक समेत दूसरी भर्ती नहीं आने के कारण स्नातक पास युवाओं ने इस भर्ती में अपनी किस्मत आजमाने के लिए आवेदन कर दिया।

समीक्षा अधिकारी के 334 पदों में से 322 उत्तर प्रदेश सचिवालय, नौ लोक सेवा आयोग और तीन पद राजस्व परिषद में हैं। एआरओ के लिए डोएक का ओ-लेवल प्रमाणपत्र अथवा इसके समकक्ष अर्हता और हिन्दी टंकण में न्यूनतम पच्चीस शब्द प्रति मिनट की गति अनिवार्य होने के कारण इसमें कम आवेदन हुए हैं।

आरओ/एआरओ की लिखित परीक्षा फरवरी में संभावित है। क्योंकि सात जनवरी को अपर निजी सचिव (एपीएस) की लिखित परीक्षा प्रस्तावित है। यूपीपीएससी ने 2021 के बाद इस साल आरओ/एआरओ की भर्ती निकाली है। ऑनलाइन आवेदन नौ अक्तूबर से नौ नवंबर तक मांगे गए थे, लेकिन वन टाइम रजिस्ट्रेशन में आ रही दिक्कत को देखते हुए आवेदन की अंतिम तिथि 24 नवंबर तक बढ़ा दी गई थी।

UPPSC : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की इस बड़ी भर्ती में 514 पद घटे, अब 1 पद के 40 नहीं 52 दावेदार

आरओ/एआरओ के लिए 11,07,212 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया था जिनमें से 10,69,919 ने फीस जमा की और 10,69,725 अभ्यर्थियों ने अंतिम रूप से फॉर्म जमा किया। इसमें प्रारंभिक परीक्षा के आधार पर मुख्य परीक्षा में प्रवेश के लिए रिक्तियों के 15 गुना अभ्यर्थी सफल घोषित किए जाएंगे। प्रारंभिक परीक्षा प्रयागराज, लखनऊ, आगरा, अयोध्या, आजमगढ़, गाजियाबाद, गोरखपुर, मेरठ, ग्रेटर नोएडा (गौतम बुद्ध नगर) समेत प्रदेश के 40 जिलों में कराई जाएगी।

पीसीएस से डेढ़ गुनी आरओ-एआरओ में भीड़
इतने अधिक आवेदन तो आयोग की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा (पीसीएस) में भी नहीं होते। पीसीएस 2019 में 544664, 2020 में 595696, 2021 में 691173 व 2022 में 603536 जबकि पीसीएस 2023 की प्रारंभिक परीक्षा के लिए 565659 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

एलटी ग्रेड भर्ती से भी ज्यादा आवेदक
2018 में हुई सहायक अध्यापक (प्रशिक्षित स्नातक) यानी एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में सबसे अधिक 763317 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। हालांकि इस भर्ती में एलटी ग्रेड शिक्षकों के कुल 10768 पद थे। पदों और आवेदकों की संख्या के लिहाज से यह आयोग की सबसे बड़ी भर्ती थी लेकिन आरओ-एआरओ की इस भर्ती ने आवेदकों की संख्या का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें