DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UPPSC RO ARO answer key : यूपीपीएससी आरओ एआरओ की उत्तर कुंजी uppsc.up.nic.in पर जारी, रिजल्ट का रास्ता साफ

UPPSC seats may increase (File Pic)

UPPSC RO ARO answer key : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) ने ढाई साल के बाद सोमवार को समीक्षा अधिकारी-सहायक समीक्षा अधिकारी प्रारंभिक परीक्षा 2016 (आरओ-एआरओ प्री) की उत्तर कुंजी जारी कर दी। उत्तर कुंजी जारी होने के साथ ही इस भर्ती का परिणाम घोषित होने का रास्ता साफ हो गया है। हालांकि प्रतियोगी छात्र 2016 की परीक्षा को निरस्त कर फिर से कराने की मांग कर रहे थे। लेकिन उत्तर कुंजी जारी कर आयोग ने अपना इरादा स्पष्ट कर दिया है।

चार गलत प्रश्न हटाए गए
आयोग ने इस भर्ती में चार गलत प्रश्न पूछे थे। उत्तर कुंजी जारी होने से पूर्व विशेषज्ञों से पेपर को हल करवाया गया। विशेषज्ञों ने चार प्रश्नों को गलत बताया था। इसके साथ ही दो प्रश्नों के चार उत्तर विकल्पों में से दो-दो को सही माना गया है। इनमें से पहला बुकलेट सीरिज ए का 72वां प्रश्न है, जिसके ए और सी विकल्प को सही माना गया है तो दूसरा इसी सीरिज का 125वां प्रश्न है, जिसके ए और डी विकल्प को सही ठहराया गया है। आरओ-एआरओ 2016 प्री परीक्षा 27 नवंबर 2016 को प्रयागराज सहित प्रदेश के 21 जिलों में बनाए गए 827 परीक्षा केंद्रों पर हुई थी। 385191 आवेदकों में से 203261 परीक्षा में शामिल हुए थे।

UPPSC PCS J Result : बगैर जांच रिजल्ट से बढ़ा अभ्यर्थियों का आक्रोश

अब सिर्फ ई-मेल से ली जाएंगी आपत्तियां
आयोग ने भर्ती प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन कर अभ्यर्थियों का आयोग में व्यक्तिगत संपर्क समाप्त करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। इसकी शुरुआत आरओ-एआरओ प्री 2016 की उत्तर कुंजी से हुई है। उत्तर कुंजी पर 26 जुलाई तक सिर्फ ई-मेल के जरिए ही आपत्तियां ली जाएंगी जबकि पूर्व में डाक से तो आपत्तियां ली ही जाती थीं। अभ्यर्थी आयोग दफ्तर में आकर भी आपत्ति दे सकते थे लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब आपत्तियां सिर्फ ई-मेल पर ही ली जाएंगी। इसके लिए विशेष ई-मेल keyroaro2016@gmail.com बनाया गया है। 

UP PCS J result 2018 : टापर आकांक्षा से जानें उनकी सफलता के राज

दो साल बाद आई पेपर लीक की रिपोर्ट
परीक्षार्थियों ने लखनऊ के एक सेंटर से परीक्षा से पूर्व वाट्सएप पर पेपर लीक होने के आरोप लगाए थे। आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने साक्ष्य सहित लखनऊ में मुकदमा दर्ज कराया था। कोर्ट ने मामले की सीबीसीआईडी जांच के आदेश दिए थे। सीबीसीआईडी ने दो साल के बाद मई 2019 में कोर्ट में अंतिम जांच रिपोर्ट दी, जिसमें इंस्पेक्टर रामबक्श सिंह ने कहा है कि पेपर लीक के बारे में कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिला। आलोक कुमार के मोबाइल से जिस शिवनाथ मौर्य द्वारा वाट्सएप पर पेपर भेजे जाने की बात कही गई थी, 24 नवंबर 2017 को उसकी मृत्यु हो जाने से विवेचना की श्रृंखला का महत्वपूर्ण साक्ष्य नष्ट हो गया। इसलिए अमिताभ ठाकुर की ओर से लगाए गए आरोप सिद्ध नहीं हुए। हालांकि पिछले दिनों अमिताभ ठाकुर ने आयोग के सचिव को पत्र लिखकर कहा था कि वे जांच से संतुष्ट नहीं है इसलिए अपील कर रहे हैं लिहाजा परिणाम घोषित न किया जाए।

इस वजह से लटकी है 2017 की भर्ती
आरओ-एआरओ प्री 2016 का परिणाम घोषित न होने के कारण आरओ-एआरओ 2017 की भर्ती लटकी हुई है। 2017 की मुख्य परीक्षा फरवरी 2019 में हो चुकी है पर इसका परिणाम इसलिए जारी नहीं किया जा रहा है क्योंकि अगर यह भर्ती पहले पूरी होती है तो 2016 के अभ्यर्थी 2017 से जूनियर हो जाएंगे। 

1170 पदों पर फंसा है चयन
आरओ-एआरओ 2016 और 2017 को मिलाकर कुल 1170 पदों पर चयन अटका हुआ है। आरओ-एआरओ 2016 में 361 तो 2017 में 809 पद शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UPPSC RO ARO answer key : Uttar Pradesh Public Service Commission released RO ARO answer key now ready for result