ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPPSC का बड़ा फैसला: सीधी भर्ती में स्क्रीनिंग परीक्षा के जुड़ेंगे 75% मार्क्स

UPPSC का बड़ा फैसला: सीधी भर्ती में स्क्रीनिंग परीक्षा के जुड़ेंगे 75% मार्क्स

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में साक्षात्कार के 25 अंकों के आधार पर उम्मीदवारों को चयन होगा। जो उम्मीदवार UPPSC परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, वह इस परीक्षा से जुड़ी जरूरी बातें जान लें।

UPPSC का बड़ा फैसला: सीधी भर्ती में स्क्रीनिंग परीक्षा के जुड़ेंगे 75% मार्क्स
Priyanka Sharmaहिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजSun, 05 Nov 2023 03:39 PM
ऐप पर पढ़ें

UPPSC: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की सीधी भर्ती में अब स्क्रीनिंग परीक्षा के 75 प्रतिशत और साक्षात्कार के 25 फीसदी अंकों के आधार पर चयन होगा। प्रतियोगी छात्रों की लंबे समय से चली आ रही मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए आयोग के अध्यक्ष संजय श्रीनेत ने यह फैसला किया है। इस व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। कुछ विशिष्ट योग्यता वाले पदों को छोड़कर समूह ‘ख राजपत्रित के 90 प्रतिशत से अधिक पदों की चयन प्रक्रिया में यह नियम लागू रहेगा।

इससे पहले सीधी भर्ती में साक्षात्कार के 100 प्रतिशत अंकों के आधार पर चयन होता था। आवेदकों की संख्या अधिक होने पर स्क्रीनिंग परीक्षा कराई जाती थी, लेकिन इसके अंक नहीं जुड़ते थे। कुछ प्रतियोगी छात्र साक्षात्कार में भेदभाव का आरोप लगाते हुए स्क्रीनिंग के अंक भी जोड़ने की मांग कर रहे थे। राजकीय डिग्री कॉलेजों की असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में भी यह नियम लागू होगा।

अब तक अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की ओर से लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के माध्यम से असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती होती थी। जबकि यूपीपीएससी की ओर से राजकीय डिग्री कॉलेज में स्क्रीनिंग परीक्षा और साक्षात्कार के आधार पर चयन होता था। अब इस फैसले से दोनों भर्तियों में एकरूपता आ जाएगी।

इंटरव्यू बोर्ड में भी दो-दो सदस्य और विशेषज्ञ

सीधी भर्ती के इंटरव्यू बोर्ड में दो-दो सदस्य और विशेषज्ञ होंगे। पहले एक सदस्य और एक विशेषज्ञ साक्षात्कार लेते थे। आयोग की चयन प्रक्रिया में शुचिता और पारदर्शिता को बनाए रखने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया गया है। इससे पहले भी आयोग अध्यक्ष संजय श्रीनेत साक्षात्कार प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले ले चुके हैं।

बता दें, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) का आयोजन राज्य में विभिन्न सिविल सेवाओं में प्रवेश स्तर की नियुक्तियों के लिए किया जाता है। इस भर्ती परीक्षा के माध्यम से एसडीएम (SDM), डीएसपी (DSP), एआरटीओ (ARTO), बीडीओ (BDO) जैसे उच्च पदों पर उम्मीदवारों का चयन होता है।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें