DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  पीसीएस इंटरव्यू में पूछा- क्या महिला को घर के कार्यों के लिए सैलरी मिलनी चाहिए, रामायण और रामचरित मानस में क्या अंतर है

करियरपीसीएस इंटरव्यू में पूछा- क्या महिला को घर के कार्यों के लिए सैलरी मिलनी चाहिए, रामायण और रामचरित मानस में क्या अंतर है

वरिष्ठ संवाददाता,प्रयागराजPublished By: Pankaj Vijay
Tue, 06 Apr 2021 01:25 PM
पीसीएस इंटरव्यू में पूछा- क्या महिला को घर के कार्यों के लिए सैलरी मिलनी चाहिए,  रामायण और रामचरित मानस में क्या अंतर है

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ( यूपीपीपीएससी ) में चल रहे पीसीएस 2020 के साक्षात्कार के पांचवें दिन सोमवार को चार अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। पहली पाली में 56 में से एक और दूसरी में 56 में से 3 अभ्यर्थी साक्षात्कार देने नहीं आए। इंटरव्यू बोर्ड ने एक महिला अभ्यर्थी से पूछा -‘क्या महिला को घर के कार्यों का वेतन मिलना चाहिए?’
श्रम कानून क्या है, उनमें संशोधन की क्यों आवश्यकता पड़ी, कैलाश सत्यार्थी कौन हैं, कृषि कानून का विरोध क्यों, जीआई टैग और एक जिला एक उत्पाद में क्या अंतर है, गाजियाबाद जिले को छोटा दिल्ली क्यों कहते हैं, पोषण मिशन क्या है, जीडीपी और फिसकल डेफिसिट क्या है, बाल श्रम संबंधी कानून के बारे में बताएं, अभी प्रधानमंत्री कहां कहां गए थे आदि प्रश्न रहे। 

यह भी पूछा गया कि पीडीएस में क्या-क्या चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, इस समय किस फसल की खरीद चल रही है, एमएसपी क्या होता है, गेहूं का एमएसपी क्या है, किसान आंदोलन क्यों खत्म नहीं हो रहा है, क्या तीनों विधेयक सही नहीं हैं, पीएम फसल बीमा योजना के बारे में बताएं, खसरा और खतौनी में क्या अंतर है, पराली की समस्या कैसे दूर होगी, बुंदेलखंड पिछड़ा क्यों है जैसे प्रश्न पूछे गए।

रामचरित मानस की लोकप्रियता का कारण बताएं, रामायण और रामचरित मानस में क्या अंतर है, मानस का एक दोहा सुनाएं और अभ्युदय योजना का नाम सुना है, ये क्या है जैसे सवालों से अभ्यर्थियों को दो-चार होना पड़ा।

संबंधित खबरें