DA Image
7 जुलाई, 2020|9:34|IST

अगली स्टोरी

UPPSC : पीसीएस इंटरव्यू में सदस्यों की कमी बन सकती है रोड़ा

uppsc pcs 2020

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) की पीसीएस 2018 मुख्य परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों का इंटरव्यू सदस्यों की कमी के कारण प्रभावित हो सकता है। आयोग में इस समय मात्र दो सदस्य ही बचे हैं। इंटरव्यू के लिए बोर्ड का गठन सदस्यों की अध्यक्षता में ही किया जाता है। हालांकि जुलाई के पहले सप्ताह तक शासन स्तर से आयोग में नए सदस्यों की तैनाती की उम्मीद जताई जा रही है।

आयोग में अध्यक्ष के अलावा आठ सदस्य होते हैं। सेवानिवृत और कार्यकाल समाप्त होने के कारण इस माह की शुरुआत तक चार सदस्य ही बचे थे। इन चार में से भी दो सदस्य इस माह सेवानिवृत हो चुके हैं। लिहाजा अब सिर्फ दो सदस्य ही बचे हैं। ऐसे में अगर आयोग इंटरव्यू शुरू कराता है तो कुल तीन इंटरव्यू बोर्ड ही बन सकेंगे, दो बोर्ड सदस्यों और एक अध्यक्ष की अध्यक्षता में बनेगा। 23 जून को घोषित पीसीएस 2018 मेंस के परिणाम में डिप्टी कलेक्टर और डिप्टी एसपी समेत 984 पदों के लिए 2669 अभ्यर्थी इंटरव्यू के लिए सफल किए गए हैं। अगर आयोग को नए सदस्य नहीं मिलते हैं और तीन बोर्ड से ही इंटरव्यू कराना पड़ता है तो इसमें काफी वक्त लग जाएगा और संभव है कि 25 अगस्त से प्रस्तावित पीसीएस 2019 मेंस से पूर्व पीसीएस 2018 का अंतिम परिणाम घोषित न हो सके। अगर छह नए सदस्य मिल जाते हैं तो अगले महीने शुरू कर एक माह में इंटरव्यू पूरा कर 25 अगस्त से पूर्व पीसीएस 2018 का अंतिम परिणाम घोषित हो सकता है।

सदस्यों की कमी की वजह से आयोग ने 23 जून को परिणाम घोषणा के वक्त इंटरव्यू की तिथि घोषित नहीं की थी। आम तौर पर मुख्य परीक्षा के परिणाम के साथ ही इंटरव्यू की तिथि घोषित कर दी जाती है। इंटरव्यू का कार्यक्रम बाद में जारी किया जाता है। सूत्रों के मुताबिक आयोग की ओर से शासन को वस्तुस्थिति से अवगत कराया जा चुका है। उम्मीद है कि जुलाई के पहले सप्ताह तक नए सदस्य मिल जाएंगे। इसके बाद आयोग जुलाई के दूसरे सप्ताह से इंटरव्यू शुरू कर सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UPPSC: PCS interview may be delayed due to lack of public service commission members