ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPP UP Police Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षार्थी बोले, पहले ही व्हाट्सएप पर आ गए थे पेपर, दी यह चेतावनी

UPP UP Police Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षार्थी बोले, पहले ही व्हाट्सएप पर आ गए थे पेपर, दी यह चेतावनी

UP Police paper leak 2024 : यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए युवाओं ने कई जिलों में प्रदर्शन किया। प्रतापगढ़ में युवा तहसील पहुंचे और एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

UPP UP Police Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षार्थी बोले, पहले ही व्हाट्सएप पर आ गए थे पेपर, दी यह चेतावनी
Pankaj Vijayप्रतापगढ़ - कुंडा,हिन्दुस्तान टीमTue, 20 Feb 2024 11:19 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Police paper leak 2024 : उत्तर प्रदेश में 17 और 18 फरवरी को आयोजित यूपी पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए युवाओं ने मंगलवार को भी कई जिलों में प्रदर्शन किया। प्रतापगढ़ में युवा नारेबाजी करते हुए तहसील पहुंचे और एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद भी सीआरओ के आने तक युवा तहसील में ही नारेबाजी करते रहे। सीआरओ के आश्वासन पर लोग मान गए लेकिन कहा कि यदि परीक्षा रद्द नहीं हुई तो वह लखनऊ तक पैदल मार्च करेंगे। एक कोंचिग संचालक शक्ति ओझा की अगुवाई में पुलिस भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी हाथों में तख्ती लिए नारेबाजी करते हुए पूरे नगर में प्रदर्शन किया। युवाओं ने पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा के पेपर लीक करने, लाखों अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने परीक्षा रद्द करने, मामले की जांच कर विधिक कार्रवाई करने, दोबारा परीक्षा कराए जाने की मांग की। 

नगर भ्रमण करते हुए रैली लेकर निकले युवा रोडवेज बस स्टेशन परिसर पहुंचे। सभा करते हुए वक्ताओं ने कहा कि बड़े पैमाने पर यूपी पुलिस की सिपाही भर्ती की परीक्षा के पेपर लीक हुए हैं, परीक्षा के पहले ही लोग के टेलीग्राम, व्हाट्सएप ग्रुप पर पहुंच गए थे, जिसके पूरे प्रमाण उनके पास हैं। 

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। सभा करने के बाद भी पुन:युवा जुलूस के रुप में नारेबाजी करते हुए तहसील परिसर पहुंचे। प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी करने लगे तो समाधान में बैठे एसडीएम भरतराम पहुंचे, युवाओं से ज्ञापन लेकर उनको डीएम तक भेजने को आश्वस्त किया। एसडीएम के जाने के बाद युवा फिर नारेबाजी करने लगे, सीआरओ को बुलाने की बात कही। शिकायतों का निस्तारण कर रहे सीआरओ राकेश कुमार गुप्ता, एएसपी संजय राय पहुंचे तो युवा तत्काल परीक्षा रद्द करवाने की मांग करते हुए आक्रोशित हो गए। दोनों अधिकारियों ने लोगों को समझाया और ज्ञापन डीएम के माध्यम से सरकार तक भेजने का भरोसा दिया तो लोग माने। 

गोरखपुर में भी मंगलवार को अभ्यर्थियों ने गोरखपुर यूनिवर्सिटी के सामने पंत पार्क के पास जुटकर प्रदर्शन किया। यहां अलग अलग जिलों से आए अभ्यर्थियों ने परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए इसे निरस्त करने की मांग की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें