ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPP UP Police Constable Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द, 6 महीने के अंदर दोबारा होगा एग्जाम

UPP UP Police Constable Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द, 6 महीने के अंदर दोबारा होगा एग्जाम

UPP UP Police Constable Exam : यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों से पेपर लीक होने के आरोपों पर सबूत मांगे थे। सबूत देखने के बाद परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है।

UPP UP Police Constable Exam : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द, 6 महीने के अंदर दोबारा होगा एग्जाम
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 24 Feb 2024 02:09 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Police constable exam cancelled : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द कर दी गई है। पेपर लीक के चलते प्रशासन ने 17 और 18 फरवरी को हुई चारों शिफ्टों की इस भर्ती परीक्षा को निरस्त करने का फैसला लिया है। साथ ही इसे छह माह के भीतर फिर से पारदर्शिता के साथ कराने का आदेश दिया है। रीएग्जाम में अभ्यर्थियों को उत्तर प्रदेश परिवहन निगम से निशुल्क सेवा मिलेगी।  फैसले की जानकारी देते हुए सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा 'आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने तथा आगामी 06 माह के भीतर ही पुन: परीक्षा कराने के आदेश दिए हैं। परीक्षाओं की शुचिता से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। युवाओं की मेहनत के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी भी दशा में बख्शे नहीं।'

इससे पहले उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों से पेपर लीक होने के आरोपों पर सबूत मांगे थे। बताया जा रहा है कि करीब 1500 शिकायतें दर्ज हुई थीं। 

यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लाखों अभ्यर्थियों ने  पेपर लीक होने का आरोप लगाया था। वे लगातार एग्जाम रद्द कर फिर से कराने की मांग कर रहे थे। इसके लिए परीक्षार्थी विभिन्न जिलों में धरना प्रदर्शन कर रहे थे। विधायकों और डीएम को अपनी मांगों का ज्ञापन दे रहे थे। अभ्यर्थियों का कहना था कि बड़े पैमाने पर यूपी पुलिस की सिपाही भर्ती की परीक्षा के पेपर लीक हुए हैं, परीक्षा के पहले ही लोग के टेलीग्राम, व्हाट्सएप ग्रुप पर पहुंच गए थे।  

पुलिस भर्ती परीक्षा मामले में सपा विधायक भी धरने पर बैठे थे
उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा में पेपर लीक होने का आरोप लगाकर बुधवार को सपा ने छात्रों के समर्थन में प्रदर्शन किया। मेरठ में सपा विधायक अतुल प्रधान छात्रों की बात लेकर डीएम दफ्तर पहुंचे। इस दौरान ज्ञापन देकर पुलिस परीक्षा निरस्त करने की मांग उठाई और धरने पर बैठ गए। बुधवार को सरधना के सपा विधायक अतुल प्रधान के नेतृत्व में छात्र डीएम कार्यालय पर पहुंचे। छात्रों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश पुलिस परीक्षा में धांधली हुई है। परीक्षा का पेपर लीक हो गया। सरकार परीक्षा को निरस्त कर नए सिरे से पुलिस भर्ती परीक्षा कराए। छात्रों ने इस दौरान प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सपा विधायक अतुल प्रधान ने कहा कि सरकार,किसानों और छात्रों की अनदेखी की जा रही है। प्रदेश में बड़ी पुलिस भर्ती परीक्षा हुई है। परीक्षा की चारों पालियों का पेपर टेलीग्राम के माध्यम से वायरल हो गया था। धांधली के चलते अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हुआ है। 

सॉल्वर समेत 25 आरोपी गिरफ्तार
यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में पुलिस ने सॉल्वर समेत 25 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें कई सॉल्वर दूसरे की जगह पर परीक्षा देने पहुंचे थे। सॉल्वर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई हो चुकी है, लेकिन सॉल्वर की मदद लेने वाले अभ्यर्थी फरार हैं। जुगाड़ लगाकर सरकारी नौकरी की चाहत रखने वाले इन आरोपियों की पुलिस ने तलाश तेज कर दी है। पुलिस का कहना है कि उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है।

यूपी पुलिस कांस्टेबल के 60 हजार पदों पर भर्ती के लिए करीब 48 लाख आवेदन आए थे। करीब 43 लाख एग्जाम में बैठे। लिखित परीक्षा पास करने वालों को फिजिकल टेस्ट में शामिल होना होगा। 

Virtual Counsellor