ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPP Constable Exam: वाराणसी के जितेंद्र ने पेपर आउट की ली थी जिम्मेदारी

UPP Constable Exam: वाराणसी के जितेंद्र ने पेपर आउट की ली थी जिम्मेदारी

Constable Exam Day-1: यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के पहले दिन यूपी पुलिस ने पेपर लीक के खिलाफ बड़ी कामयाबी हासिल की है। वाराणसी ने गिरफ्तार एक व्यक्ति ने पेपर आउट कराने की जिम्मेदारी ली थी।

UPP Constable Exam: वाराणसी के जितेंद्र ने पेपर आउट की ली थी जिम्मेदारी
Alakha Singhवरिष्ठ संवाददाता,प्रयागराजSun, 18 Feb 2024 08:25 AM
ऐप पर पढ़ें

UP Police Constable Exam 17 February : सिपाही भर्ती परीक्षा से पहले पकड़े गए सॉल्वर गैंग ने नकल कराने की पूरी तैयारी कर ली थी। आरोपियों ने अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र में प्रश्नों का उत्तर बताने के लिए एक्सपर्ट तैयार कर लिए थे। शनिवार को परीक्षा शुरू होते ही उन्हें पेपर मिल जाता। पुलिस की मानें तो इनके गैंग में शामिल वाराणसी निवासी जितेंद्र ने पेपर आउट कराने की जिम्मेदारी ली थी। पुलिस ने जितेंद्र समेत तीन को वांछित किया है।

जितेंद्र व्हाट्स एप पर करता था कॉल पुलिस ने बताया कि फरार जितेंद्र ने कहा था कि वह समय पर सभी ग्रुप के पेपर व्हाट्स एप देगा। प्रयागराज में बैठे सॉल्वर एक्सपर्ट की मदद से प्रश्नों को हल कराते और इसके बाद उसका उत्तर अभ्यर्थियों को कॉल करके बताते। ब्लूटूथ डिवाइस की मदद से अभ्यर्थियों को आंसर पता चल जाता। पेपर कहां से कैसे आउट होता, यह पता नहीं चला। जितेंद्र के बारे में आरोपी जानकारी नहीं दे सके। पुलिस को सिर्फ इतना बताया कि वह प्रयागराज के विभिन्न जगहों पर मिलता था। व्हाट्स एप पर ही कॉल करता था। पेपर वाराणसी या प्रयागराज के किसी परीक्षा केंद्र से आउट होता, यह उन्हें नहीं पता। पुलिस ने जितेंद्र को वांटेड किया है। आरोपियों के मोबाइल और चैटिंग से जितेंद्र के बारे में पुलिस को पता चला है। इसके अलावा चैट में अभ्यर्थियों से लेनदेन का भी जिक्र है। पुलिस की टीम जितेंद्र की तलाश में जुटी है।

डॉ. केएल पटेल गैंग के सदस्य
इस गैंग में पकड़े गए विजय कांत और मनीष पुराने नकल माफिया हैं। 2021 में प्रयागराज एसटीएफ ने तेलियरगंज से मनीष समेत सात के खिलाफ नकल कराने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया था। पीजीटी में सेंधमारी करने के आरोप में मनीष और उसके साथी पकड़े गए थे। एसटीएफ ने ब्लूटूथ डिवाइस बरामद किया था। वहीं विजयकांत को एसटीएफ ने लेखपाल भर्ती परीक्षा 2022 में नकल कराने के आरोप में पकड़ा था। उसके साथ दिनेश और सोनू भी गिरफ्तार हुए थे। कुल छह के खिलाफ फाफामऊ में मुकदमा दर्ज किया था। उस वक्त एसटीएफ ने खुलासा किया था कि पकड़े गए आरोपी प्रयागराज के रजिस्टर्ड नकल माफिया डॉ. केएल पटेल गैंग से जुड़े हैं।

परीक्षार्थियों की भारी भीड़ ट्रेनों में चढ़ने को मारामारी
सिपाही भर्ती के अभ्यर्थियों की भीड़ बढ़ने पर रेलवे ने शनिवार को स्टेशन ट्रेनें चलाईं। परीक्षा देने के लिए बिहार, मध्य प्रदेश, हरियाणा समेत अन्य प्रदेशों से अभ्यर्थी प्रयागराज आए थे। शनिवार को परीक्षा समाप्त होने के बाद स्टेशनों पर युवाओं की भारी भीड़ रही। बिहार जाने वाली ट्रेनों में चढ़ने को मारामारी की स्थिति रही। प्लेटफॉर्म नंबर तीन व चार पर कालका और समेत अन्य ट्रेन पकड़ने के लिए भीड़ दिखी। जनरल बोगी से लेकर आरक्षित बोगियों में काफी भीड़ रही। परीक्षा देने के लिए शुक्रवार रात में ही अभ्यर्थी जंक्शन पर पहुंचे। मेला के लिए बने यात्री आश्रयों को अभ्यर्थियों के लिए खोल दिया गया। दूर-दराज से आए अभ्यर्थियों एवं उनके परिजनों ने रात में वहीं पर शरण ली। प्रयागराज मंडल की ओर से अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए प्रयागराज जंक्शन से आठ स्पेशल गाड़ियां, कानपुर से, इटावा एवं मैनपुरी से चार स्पेशल गाड़ियों का संचालन किया है। 

Virtual Counsellor