ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUPMSP UP Board Exam 2024: इंटर में अंग्रेजी में टेंस, ट्रांसलेशन और वोकेबुलरी से होगा बेड़ा पार

UPMSP UP Board Exam 2024: इंटर में अंग्रेजी में टेंस, ट्रांसलेशन और वोकेबुलरी से होगा बेड़ा पार

यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2024 की परीक्षाएं 22 फरवरी 2024 से शुरू हो रही हैं। जैसे- जैसे परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं वैसे ही छात्रों की धड़कनें बढ़ने लगी हैं। छात्रों की सहूलियत को ध्यान मे

UPMSP UP Board Exam 2024: इंटर में अंग्रेजी में टेंस, ट्रांसलेशन और वोकेबुलरी से होगा बेड़ा पार
Alakha Singhप्रमुख संवाददाता,प्रयागराजFri, 16 Feb 2024 03:23 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Board 12th Exam 2024 : यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की अंग्रेजी की परीक्षा दो मार्च को होगी। यह विषय ऐसा है जिसमें नियमित अध्ययन एवं अभ्यास से ही अच्छे अंक हासिल किए जा सकते हैं। बोर्ड के विशेषज्ञों ने जो पेपर तैयार किया है उसमें कठिनाई के स्तर का खास ध्यान रखा गया है। अंग्रेजी के लिए टेंस, ट्रांसलेशन और वोकेबुलरी का मजबूत होना सबसे आवश्यक है। सही और सटीक वाक्य रचना से अंग्रेजी में अच्छे अंक प्राप्त किए जा सकते हैं। आधी अंग्रेजी का ज्ञान अनुवाद में निहित है। विद्यार्थी अपने शब्दकोष के अनुसार शुद्ध, सरल और सटीक वाक्य बनाने का अभ्यास करें।

इन बातों का रखें ध्यान:
● व्याख्या के लिए गद्यांश का विधिवत अध्ययन करें। लेखक व पाठ के नाम की स्पेलिंग में गलती न हो। संदर्भ लिखते समय लेखक व पाठ का नाम बोल्ड में लिखें। संदर्भ सहित व्याख्या के लिए बेहतर होगा कि पाठ व लेखकों के नाम अलग से लिखकर याद कर लें।
● व्याख्या करते समय काव्यगत सौंदर्य, भाषा, फिगर ऑफ स्पीच से संबंधित बिन्दुओं को अवश्य लिखें।
● प्रश्नों का जवाब टू द प्वाइंट और निर्धारित शब्दसीमा में लिखें। दीर्घ उत्तर प्रश्नों पर ज्यादा समय दे सकते हैं लेकिन लघु उत्तर और बहुविकल्पीय प्रश्नों पर क्रमश दो और एक मिनट देना चाहिए।
● प्रश्नों के उत्तर में कोट यदि संभव हो तो अवश्य लिखें। यह तभी संभव है जब पाठ को अच्छी से तैयार किया गया हो।
● कम्प्रीहेंसन पैसेज को मन से पढ़कर नीचे दिए गए प्रश्नों को हल करें, इन प्रश्नों के उत्तर आपको इसी पैसेज में मिलेंगे।
● अनुवाद करते समय व्याकरण के नियमों का ध्यान रखें। अनुवाद करने के लिए साधारण शब्दों का प्रयोग करें। यह जरूरी नहीं कि कठिन शब्दों का ही इस्तेमाल किया जाए। इसके लिए टेंस का ज्ञान बहुत जरूरी है। लंबे वाक्यों को छोटे-छोटे भाग में बांटकर अनुवाद करें। ऐसा करने से मुश्किलें आसान होंगी।
● निबंध लेखन में दिए गए विषय को विधिवत समझने का प्रयास करें फिर मैटर को अलग-अलग शीर्षक में विभाजित कर लें। प्रत्येक शीर्षक की व्याख्या करते हुए निबंध को बेहतर ढंग से लिखा जा सकता है। यदि संभव हो तो आवश्यकतानुसार कोट जरूर लिखें। कोरोना और पर्यावरण प्रदूषण आदि पर निबंध लिख कर अभ्यास करें।
● प्रथम चार पोयम्स की सेंट्रल आईडिया जरूर याद करें।
● सही और सटीक वाक्य रचना से परीक्षा में मिलेंगे अच्छे अंक

अंक विभाजन:
सेक्शन ए रीडिंग
● अनसीन पैसेज गद्यांश पर आधारित कुल 5 प्रश्नों (573) का उत्तर-15 अंक

सेक्शन बी राइटिंग
● आर्टिकल राइटिंग- 10 अंक
● लेटर राइटिंग- 10 अंक
● सेक्शन सी ग्रामर-20 अंक
● हिंदी से अंग्रेजी अनुवाद- 5 अंक

सेक्शन डी लिटरेचर
● पाठ्यपुस्तक पर आधारित दो प्रश्नों का उत्तर 40 शब्दों में देना- 8 अंक
● किसी एक प्रश्न का उत्तर 80 शब्दों में लिखना-7 अंक
● स्टैंजा पर आधारित 3 प्रश्नों का उत्तर देना-6 अंक
● सेंट्रल आइडिया-4 अंक
● दो प्रश्नों का उत्तर 40 शब्दों में लिखना-8 अंक
● किसी एक प्रश्न का उत्तर 80 शब्द में लिखना-7 अंक

परीक्षा से पहले सम्पूर्ण पाठ्यक्रम को रिवाइज करने के लिए समय सारणी बना लें। विगत् वर्षों के प्रश्नपत्रों और मॉडल पेपर से घर पर अभ्यास करना बहुत ही उपयोगी हो सकता है। उत्तर लेखन में सरल शब्दों और छोटे वाक्यों का प्रयोग करें। वाक्य रचना में व्याकरण त्रुटि से बचें। सफाई और पठनीयता का विशेष ध्यान रखें। साफ लिखावट हमेशा अंकदायी होती है।

- मोहम्मद रफीक, प्रधानाचार्य पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय मॉडल इंटर कॉलेज तेन्दुआकाजी दोस्तपुर, सुलतानपुर

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें