DA Image
18 सितम्बर, 2020|6:58|IST

अगली स्टोरी

यूपी : कोरोना के कारण फंस गई दो लाख छात्रों की स्कॉलरशिप

Prime Minister Scholarship Scheme

कोरोना संक्रमण ने तमाम योजनाओं को पीछे ठेल दिया है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण योजनाओं में छात्रवृत्ति योजना है। इस साल अब तक छात्रों के खाते में छात्रवृत्ति का पैसा नहीं गया है। तमाम विभागों की प्रक्रिया भी नहीं शुरू हुई है जबकि कुछ विभागों ने ऑनलाइन आवेदन को शुरू कराया है। इस बार छात्रवृत्ति के लिए प्रदेश सरकार ने बजट तो जारी किया है, लेकिन बजट विभागों के खाते में जाने के लिए वित्त आयोग की अनुमति की जरूरत है। अब तक आयोग से अनुमति नहीं मिली है। इसके साथ ही सभी विभाग और शिक्षण संस्थानों के ज्यादातर लोग भी इस वक्त कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में ही लगे हैं। छात्रवृत्ति का जो काम अप्रैल और मई में शुरू होना चाहिए था वो अब तक नहीं शुरू हो सका है। 

पिछले साल समाज कल्याण विभाग से प्री मैट्रिक में सभी वर्गों के लिए 30 हजार 551 छात्रों का लक्ष्य था। इसके सापेक्ष 28 हजार 404 लाभार्थियों के आवेदन स्वीकृत हुए थे। ऐसे ही इंटर में सभी वर्गों के लिए कुल 28 हजार 459 के लक्ष्य के सापेक्ष 24 हजार 942 आवेदन स्वीकृत हुए और 22 हजार 787 लाभार्थियों के खाते में छात्रवृत्ति की राशि गई थी। स्नातक कक्षाओं के लिए कुल एक लाख तीन हजार 596 का लक्ष्य था, जिसके सापेक्ष 94 हजार 886 आवेदन स्वीकृत हुए और छात्रवृत्ति 78 हजार 382 लाभार्थियों के खाते में गई थी। इस साल अब तक आवेदन शुरू नहीं हो सका है। ऐसे ही अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की ओर से दो छात्रवृत्ति दी जाती है। एक केंद्र सरकार की योजना के तहत और एक राज्य सरकार की योजना के तहत। गत वर्ष केंद्र और राज्य की योजना में लगभग 19-19 हजार लाभार्थियों को छात्रवृत्ति का लाभ दिया गया था। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी एसपी तिवारी का कहना है कि संस्थाओं को आवेदन के लिए कहा गया है। ऑनलाइन आवेदन शुरू हो चुका है। 

दो अक्टूबर को होगा छात्रवृत्ति दिवस
छात्रों को छात्रवृत्ति योजना का लाभ दिलाने के लिए दो अक्टूबर को छात्रवृत्ति दिवस मनाया जाएगा। इस क्रम में सभी शिक्षण संस्थाओं से नवीनीकरण के लिए कहा गया है। संस्थाओं की ओर से स्वीकृत आवेदन आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। 

यहां फंसा है पेच
छात्रवृत्ति योजना में अलग-अलग पेच हैं। एक तो वित्त आयोग की अनुमति का मामला है। साथ ही इस बार छात्रों को प्रमोट करने के लिए बोला गया है। अब तक तमाम जगह पर परिणाम अपलोड करने के काम चल रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि जब सभी संस्थाओं से परिणाम अपलोड होंगे। इसके बाद ही अंतिम पात्रों की सूची मिलेगी। जिस पर कार्रवाई हो सकती है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UP : Scholarship of two lakh students stuck due to Corona situation in uttar pradesh