DA Image
24 जनवरी, 2020|1:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UP Police Constable भर्ती 2018: मेडिकल फिटनेस में बाहर हुए उम्मीदवारों की नियुक्ति पर निर्णय लेने का निर्देश

army recruitment race

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मेडिकल फिटनेस के आधार पर चयन से बाहर किए गए कांस्टेबल भर्ती के अभ्यर्थी को इलाज के बाद स्वस्थ्य होने पर नियुक्ति देने पर निर्णय लेने का निर्देश दिया है।

अदालत ने कहा कि याची पुलिस भर्ती बोर्ड के समक्ष सभी दस्तावेज के साथ प्रत्यावेदन प्रस्तुत करे और बोर्ड उस पर नियमानुसार निर्णय ले। यह आदेश न्यायमूर्ति महेश चंद्र त्रिपाठी ने कुशीनगर के लाल साहब कुमार की याचिका पर दिया है।

याची के अधिवक्ता अनिल सिंह बिसेन का कहना था कि याची 2018 की कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा में सफल हुआ। कान में कुछ परेशानी होने के कारण उसे मेडिकल से बाहर कर दिया। उसके बाद उसने कान की बीमारी का इलाज किया और ठीक हो गया। इलाज के बाद डॉक्टर ने उसे फिटनेस प्रमाण पत्र भी दे दिया। इसके बाद उसने नियुक्ति के लिए पुलिस भर्ती बोर्ड को प्रत्यावेदन दिया लेकिन उस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। अदालत ने कहा कि याची आदेश की प्रति के साथ बोर्ड के समक्ष प्रत्यावेदन दे और सभी आवश्यक कागजात भी प्रस्तुत करे। साथ ही बोर्ड उस पर तीन सप्ताह में निर्णय ले।  

 

यह भी पढ़ें- UP Police Constable DV PST Dates : D-13 से D-20 तक का शेड्यूल जारी हुआ, यहां देखें पूरा शेड्यूल

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UP Police Constable Recruitment 2018: Instructions to decide on the appointment of rejected candidates in medical fitness