ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUP Police Constable Exam cancelled: रद्द हुई यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा, 6 माह में दोबारा होगा एग्जाम

UP Police Constable Exam cancelled: रद्द हुई यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा, 6 माह में दोबारा होगा एग्जाम

UP Police Constable : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। अभ्यर्थियों ने प्रश्नपत्र लीक होने के साक्ष्य बोर्ड को दे दिए थे। बोर्ड ने जांच के बाद कार्रवाई करने का आश्वासन दिया थ

UP Police Constable Exam cancelled: रद्द हुई यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा, 6 माह में दोबारा होगा एग्जाम
Pankaj Vijayसंवाददाता,लखनऊSat, 24 Feb 2024 02:06 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Police constable exam cancelled : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द कर दी गई है। पेपर लीक के चलते प्रशासन ने 17 और 18 फरवरी को हुई चारों शिफ्टों की इस भर्ती परीक्षा को निरस्त करने का फैसला लिया है। साथ ही इसे छह माह के भीतर फिर से पारदर्शिता के साथ कराने का आदेश दिया है। रीएग्जाम में अभ्यर्थियों को उत्तर प्रदेश परिवहन निगम से निशुल्क सेवा मिलेगी।  फैसले की जानकारी देते हुए सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा 'आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने तथा आगामी 06 माह के भीतर ही पुन: परीक्षा कराने के आदेश दिए हैं। परीक्षाओं की शुचिता से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। युवाओं की मेहनत के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी भी दशा में बख्शे नहीं।'

इससे पहले यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को ईको गार्डन में जोरदार प्रदर्शन किया था हजारों की संख्या में ईको गार्डन में जमा हुए अभ्यर्थियों ने पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा दोबारा कराए जाने की मांग की। अभ्यर्थियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। अभ्यर्थी शाम तक ईको गार्डन में जमा रहे। इस दौरान ईको गार्डन में बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी बल भी मौजूद रहा। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे पांच लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल का पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारियों से वार्ता भी कराई गई। पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा 17 और 18 फरवरी को चार पालियों में आयोजित की गई थी।

यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड ने अभ्यर्थियों को शुक्रवार को शाम छह बजे तक ई-मेल से साक्ष्यों व प्रमाणों के साथ अपना प्रत्यावेदन देने का मौका दिया था। अभ्यर्थियों के एक सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को भर्ती बोर्ड के अधिकारियों से मुलाकात की और ज्ञापन दिया। उनका दावा है कि प्रश्नपत्र लीक होने के साक्ष्य भी दिए गए हैं। अभ्यर्थियों के अनुसार बोर्ड ने जांच के बाद कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। 

प्रदर्शन में पहुंची विधायक पल्लवी पटेल
पुलिस भर्ती के अभ्यर्थियों के समर्थन में अपना दल (कमेरावादी) की नेता व सिराथू से विधायक पल्लवी पटेल ने ईको गार्डन पहुंच कर अभ्यर्थियों का समर्थन किया। अभ्यर्थियों को संबोधित करते हुए उन्होंने पुलिस भर्ती परीक्षा में पेपर लीक होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पेपर लीक जैसी समस्या प्रदेश में छोटी बात नहीं है। यह सरकार में बैठे लोगों का षड़यंत्र है। प्रदेश के युवा और नवजवानों का वर्तमान और भविष्य को खत्म करने की साजिश चल रही है। उन्होंने कहा कि पीपर लीक होने जैसी चीजों से प्रदेश के युवाओं का भविष्य खत्म हो रहा है। वह अपने भविष्य को लेकर चिंतित है। उन्होंने कहा कि हम सभी को मिलकर इन शोषणकारियों का सामना करना होगा, मिलकर लड़ना होगा। उन्होंने कहा कि वह पूरी ताकत के साथ सड़क से लेकर सदन तक अभ्यर्थियों के साथ खड़ी हैं।

भर्ती बोर्ड से हुई वार्ता इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे पांच लोगों को उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड के अपर सचिव से वार्ता के लिया भेजा। प्रतिनिधिमंडल में शामिल स्वप्निल अग्रवाल ने बताया कि वार्ता के दौरान उन्होंने पुलिस अधिकारियों को पेपर लीक के संबंध में कई साक्ष्य सौंपे। बताया कि अधिकारियों ने जांच का आश्वासन दिया है। प्रतिनिधिमंडल में रवि तिवारी, आरएस पैलवार, आलोक शुक्ला, मारुफ शामिल थे। वह सभी ऑनलाइन और ऑफलाइन कोचिंग संचालक हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें