ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरUP Police constable exam: बिहार के इस सॉल्वर गैंग से पुलिस भी हैरान, रातों रात लखपति बनने की चाह में करियर दांव पर

UP Police constable exam: बिहार के इस सॉल्वर गैंग से पुलिस भी हैरान, रातों रात लखपति बनने की चाह में करियर दांव पर

UP Police constable exam: upprpb up यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा हो या शिक्षा भर्ती। दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में पकड़े जाने वाले सॉल्वर में सबसे ज्यादा बिहार के युवक है

UP Police constable exam: बिहार के इस सॉल्वर गैंग से पुलिस भी हैरान, रातों रात लखपति बनने की चाह में करियर दांव पर
Anuradha Pandeyवरिष्ठ संवाददाता।,प्रयागराजTue, 20 Feb 2024 12:43 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Police constable exam: upprpb up - सिपाही भर्ती परीक्षा हो या शिक्षा भर्ती। दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में पकड़े जाने वाले सॉल्वर में सबसे ज्यादा बिहार के युवक हैं। रातों रात लखपति बनने की चाह में वह अपना करियर दांव पर लगा दे रहे हैं। हैरानी की बात ये है कि बिहार के युवकों को सॉल्वर बनाने वाले गैंग से पुलिस भी हैरान है। हर परीक्षा में बिहार के सॉल्वर पकड़े गए, लेकिन गैंग का पुलिस खुलासा नहीं कर सकी है।

60 हजार सिपाही भर्ती परीक्षा 17 और 18 फरवरी को आयोजित हुई। दो लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। यूपी के अलावा बिहार, मध्य प्रदेश, हरियाणा समेत अन्य जिलों से अभ्यर्थी परीक्षा देने पहुंचे थे। प्रयागराज में 126 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित परीक्षा में सबसे पहले दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में मधुबनी बिहार का रमन कुमार पकड़ा गया। कर्नलगंज पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज किया। उसी दिन फाफामऊ पुलिस ने बिहार के संदीप कुमार को पकड़ा जो दिल्ली में तैयारी करता था। 18 फरवरी को एयरपोर्ट थाने की पुलिस ने पटना बिहार के अमित कुमार को दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में गिरफ्तार किया। शिवकुटी पुलिस ने नालंदा बिहार के अभिमन्यु यादव को गिरफ्तार किया। वहीं नैनी में हरियाणा का सॉल्वर पकड़ा गया। इससे पूर्व एपीएस (अपर निजी सचिव) भर्ती परीक्षा (जनवरी 2024) में ब्लूटूथ डिवाइस से नकल करते हुए पुलिस ने सचिन कुमार पटेल और जितेंद्र पटेल को गिरफ्तार किया था। शुरुआती जांच में यही खुलासा हुआ था कि बिहार के सॉल्वर ही नकल करा रहे थे लेकिन पुलिस बिहार के सॉल्वर गैंग का खुलासा नहीं कर सकी।

पुलिस ने भेजा जेल
सिपाही भर्ती परीक्षा में बिहार के पकड़े गए दोनों सॉल्वर को पुलिस ने जेल भेज दिया। हर सॉल्वर ने अपने हिसाब से परीक्षा पास कराने पर लाखों की डील की थी। एयरपोर्ट थाने की पुलिस ने सिपाही भर्ती परीक्षा के दौरान बृज बिहारी इंटर कॉलेज में मलाक खुर्द निवासी रोहित यादव की जगह पेपर देने पहुंचे अमित कुमार को पकड़ा। पटना बिहार निवासी सॉल्वर अमित के पास से रोहित यादव का फर्जी आधार कार्ड भी बरामद हुआ। पुलिस ने जांच के बाद उसके खिलाफ कूटरचित की संगीन धाराएं बढ़ा दीं और सोमवार को जेल भेज दिया। पूछताछ में अमित ने पुलिस को बताया कि वह किसान का बेटा है। उसे आठ हजार रुपये उसे मिलना था। शिवकुटी पुलिस ने रूपचंद्र की जगह परीक्षा देने पहुंचे सॉल्वर अभिमन्यु यादव को पकड़ा। उसे भी फर्जी आधार कार्ड मिलने पर कूटरचित की धाराएं बढ़ाकर जेल भेज दिया। पूछताछ में पुलिस को बताया कि परीक्षा पास कराने के लिए दो लाख रुपये में सौदा हुआ था। उसे 20 हजार रुपये एडवांस मिला था। दो दिन पहले वह प्रयागराज आ गया था। वहीं मऊआइमा में पकड़े गए साल्वर मिर्जापुर निवासी संजीव कमल पांडेय को पुलिस ने जमानत पर छोड़ दिया। बताया कि 50 हजार में प् सौदा किया था। वहीं एयरपोर्ट थाना की पुलिस ने चिट लेकर पहुंचे राजू को छोड़ दिया

इसे भी पढ़ें-यूपी Police constable exam: क्या Leak हो गया यूपी पुलिस भर्ती का पेपर? जानें सच, UPP Paper leak सोशल मीडिया पर कर रहा ट्रेंड

हरिया से वाराणसी तक तीन की तलाश
यूपी पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा में सेंधमारी करने वाले वाराणसी के जितेंद्र व बहरिया के पवन पटेल और सुभाष पटेल की तलाश में क्राइम ब्रांच छापामारी कर रही है। पुलिस ने सोमवार को बहरिया स्थित उनके गांव और घर पर छापामारी की लेकिन पवन और सुभाष का पता नहीं चला। वहीं कॉल डिटेल की मदद से पुलिस फरार जितेंद्र के बारे में सही जानकारी एकत्र कर रही है। वाराणसी पुलिस की मदद से उसकी जानकारी की जा रही है। अभी तक यह पता नहीं चला है कि जितेंद्र वाराणसी में कहां का रहने वाला है। इस बात की भी आशंका जाहिर की जा रही है कि वह प्रयागराज का भी हो सकता है। बता दें कि क्राइम ब्रांच और झूंसी पुलिस ने सिपाही भर्ती परीक्षा से पहले पांच सॉल्वर समेत 9 को गिरफ्तार किया था।

Virtual Counsellor