ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरयूपी पुलिस एटीएस SPOT की पहली महिला कमांडो की कहानी, जिसकी तगड़ी फिटनेस के चलते बदलना पड़ा था नियम

यूपी पुलिस एटीएस SPOT की पहली महिला कमांडो की कहानी, जिसकी तगड़ी फिटनेस के चलते बदलना पड़ा था नियम

यूपी पुलिस एटीएस की स्पेशल पुलिस ऑपरेशंस टीम ( SPOT ) की पहली महिला कमांडो प्रियंका पंवार की जिसे पूर्व आईपीएस व योगी सरकार के मंत्री असीम अरुण ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर शेयर किया है। 

यूपी पुलिस एटीएस SPOT की पहली महिला कमांडो की कहानी, जिसकी तगड़ी फिटनेस के चलते बदलना पड़ा था नियम
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 28 Jan 2024 09:24 AM
ऐप पर पढ़ें

पुलिस हो या फिर भारतीय सेना, हर जगह महिलाएं जबरदस्त दम दिखा रही हैं। रक्षा सेवाओं में उनकी संख्या बढ़ती जा रही है। नारी शक्ति की बढ़ती भागीदारी के बीच एक ऐसी महिला की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसकी जांबाजी से और युवतियां डिफेंस में करियर बनाने के लिए प्रेरित होंगी। ये कहानी है यूपी पुलिस एटीएस की स्पेशल पुलिस ऑपरेशंस टीम (SPOT) की पहली महिला कमांडो प्रियंका पंवार की जिसे पूर्व आईपीएस अधिकारी और वर्तमान में योगी सरकार के मंत्री असीम अरुण ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर शेयर किया है। 

असीम अरुण ने बताया कि कैसे प्रियंका पंवार की तगड़ी फिटनेस के चलते उन्हें यूपी पुलिस एटीएस के स्पॉट यूनिट कमांडो भर्ती के नियमों को बदलना पड़ गया था। पहले इसमें यूपी पुलिस के पुरुष कर्मियों को प्रवेश प्रक्रिया में शामिल होने की अनुमति थी, महिलाकर्मियों को नहीं। साल 2011 में पहलवान प्रियंका पंवार उत्तर प्रदेश पुलिस में शामिल हुईं। प्रावधान बदले जाने के बाद वह 2017 में यूपी एटीएस की स्पॉट यूनिट का हिस्सा बनीं।

कंफर्म, इस दिन होगी यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा, एडमिट कार्ड पर भी आई अपडेट

असीम अरुण ने प्रियंका पंवार की फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'मिलिए प्रियंका पंवार से जो उत्तर प्रदेश पुलिस एटीएस की स्पेशल पुलिस ऑपरेशंस टीम (SPOT) की कमांडो हैं
इनके कमांडो बनने की कहानी भी दिलचस्प है। जब योगी जी ने मुझे एटीएस चीफ के रूप में SPOT के गठन का आदेश दिया, तब समस्त पुलिस व पीएसी से इच्छुक नाम मांगे गए ... कई पुरुष पुलिसकर्मी आकर परीक्षा देते थे, कठिन टेस्ट था, कुछ ही उत्तीर्ण हो पाते थे। एक दिन स्पॉट के इंस्पेक्टर साहब ने मुझे बताया कि एक लड़की भी आयी है परीक्षा देने, क्या करें? मैंने कहा बुलाओ इस लड़की को, तो मेरे सामने पहली बार प्रकट हुई प्रियंका...बोली सर मैं भी कमांडो बनूँगी, मैं कुश्ती की खिलाड़ी हूँ  । लड़की में जोश था और स्पोर्टस वाली फिटनेस। मुझे लगा कि मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई थी, जो हमने आवदेन मांगे थे उसमें हमने महिला पुलिसकर्मी का प्राविधान रखा ही नहीं था।'

असीम अरुण ने आगे लिखा, 'हमने गलती सुधारी, प्रियंका का टेस्ट लिया जाहिर है, प्रियंका चयनित हुई और SPOT प्रशिक्षण में शामिल हुई । प्रियंका ने बहुत श्रेष्ठ परफॉर्म किया और उससे प्रेरणा लेकर और लड़कियां SPOT टीम का हिस्सा बनीं और ख़तरनाक आपरेशन्स में शामिल रहीं। और बात जोखिम लेने की हो या कार्यक्षमता की, म्हारी छोरियां किसी से कम हैं के। 

क्या है स्पॉट (SPOT)
यूपी पुलिस एटीएस (एंटी टेररिस्ट स्क्वाड) ने 2017 में खुफिया जानकारी जुटाने और आतंकवाद विरोधी और नक्सल विरोधी अभियान चलाने के लिए स्पेशल पुलिस ऑपरेशंस टीम  (एसपीओटी - स्पॉट) का गठन किया गया था। स्पॉट टीम के सदस्यों को स्पेशल ट्रेनिंग दी जाती है।

Virtual Counsellor