DA Image
हिंदी न्यूज़ › करियर › UP Board Marksheet: यूपी बोर्ड रिजल्ट को लेकर पहुंच रही शिकायतें, 10वीं के अंकपत्र पर अंक नहीं, 11वीं में प्रोन्नत
करियर

UP Board Marksheet: यूपी बोर्ड रिजल्ट को लेकर पहुंच रही शिकायतें, 10वीं के अंकपत्र पर अंक नहीं, 11वीं में प्रोन्नत

संवाददाता,ऩई दिल्लीPublished By: Anuradha Pandey
Tue, 03 Aug 2021 08:08 AM
UP Board Marksheet: यूपी बोर्ड रिजल्ट को लेकर पहुंच रही शिकायतें, 10वीं के अंकपत्र पर अंक नहीं, 11वीं में प्रोन्नत

यूपी बोर्ड के बिना परीक्षा घोषित कक्षा 10 व 12 के परिणाम को लेकर बच्चों और स्कूल संचालकों में खासी नाराजगी है। 31 जुलाई को परिणाम घोषित होने के बाद रविवार को अवकाश हो गया। सोमवार को कार्यालय खुलने पर 29 लोग शिकायत लेकर हेल्प डेस्क पर पहुंचे। दोपहर एक बजे तक ही 500 से अधिक लोगों ने ई-मेल से शिकायत दर्ज कराई। हजारों छात्र ऐसे हैं जिनके अंकपत्र पर अंकों के स्थान पर क्रास बना है और नीचे प्रमोटेड (प्रोन्नत) लिखा हुआ है। छात्रों का कहना है कि ऐसी मार्कशीट किसको दिखाएंगे।

पिछले कुछ सालों में ये पहला मौका था कि हेल्प डेस्क गठित होने के पहले दिन सुबह 10 से शाम 5 बजे तक इतनी बड़ी संख्या में 10वीं व 12वीं के परीक्षाफल में शिकायतें मिलीं। क्षेत्रीय कार्यालय प्रयागराज के अपर सचिव विनय कुमार गिल ने कर्मचारियों के साथ बैठक कर शिकायतों का निस्तारण संबंधित जिलों के डीआईओएस कार्यालय और स्कूलों से संपर्क कर जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए। गौरतलब है कि पिछले साल 27 जून को परिणाम घोषित होने के अगले दिन 28 जून को हेल्प डेस्क पर एक भी शिकायत नहीं पहुंची थी। 

दूसरे बोर्ड के हजारों छात्रों का परिणाम भी रुका
सीबीएसई या सीआईएससीई जैसे दूसरे बोर्ड के हजारों छात्रों का परिणाम भी रुक गया है। बताया जा रहा है कि वांछित सूचनाएं नहीं मिलने के कारण समस्या आई है। इसके लिए स्कूलों से सूचनाएं मांगी जा रही हैं।

केस-01
मालती देवी आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सरायइनायत, प्रयागराज के हाईस्कूल के तकरीबन 100 बच्चों को बिना अंक दिए 11वीं में प्रोन्नत कर दिया गया। 

केस-02
ग्लोबल इंटर कॉलेज चौराडीह चायल कौशाम्बी के हाईस्कूल के 40 बच्चों को बिना अंक दिए 11वीं में प्रमोट कर दिया गया। स्कूल के चन्द्रकेतु मणि त्रिपाठी का कहना है कि कक्षा 9 के अंक वेबसाइट पर अपलोड नहीं हो सके थे। 16 व 17 जून को बोर्ड कार्यालय से संपर्क कर अंक फीड करने के लिए अभिलेख दिए थे, लेकिन नंबर अपलोड नहीं किए गए। बच्चों को बिना नंबर प्रमोट कर दिया गया।

केस-03
पं. मिश्री लाल इंटर कॉलेज रानीगंज प्रतापगढ़ के हाईस्कूल के लगभग दो दर्जन छात्र-छात्राओं को सभी विषयों में काफी कम अंक दिए गए और गणित विषय में फेल कर दिया गया।

केस-04
सनबीम स्कूल एंड कॉलेज महुवारी नैनी और शिव बालक सिंह इंटर कॉलेज बरामार नैनी ने 12वीं के छात्रों को मानक से कम अंक देने की शिकायत की। प्रधानाचार्यों का कहना है कि फॉर्मूले के विपरीत काफी कम अंक दिए गए हैं।

संबंधित खबरें