DA Image
4 अप्रैल, 2020|12:04|IST

अगली स्टोरी

UP Board Exams 18 फरवरी से, परीक्षार्थी खुद पर हावी न होने दें एग्जाम फोबिया

up board exam 2020

सीबीएसई की 10वीं-12वीं की परीक्षाएं शनिवार से शुरू हो गईं। यूपी बोर्ड हाईस्कूल-इंटर की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होंगी। इस समय हर घर का माहौल बदला हुआ है। परीक्षा में अच्छे नंबर पाने का दबाव छात्र-छात्राओं के चेहरे पर साफ देखा जा सकता है। बच्चों के साथ ही अभिभावक भी एग्जाम फोबिया के शिकार हो गए हैं।

अभिभावक सुबह से शाम तक बच्चों को नसीहत देते नहीं थक रहे हैं। सबसे अधिक दबाव में 10वीं के बच्चे हैं क्योंकि यह उनकी पहली बोर्ड परीक्षा है। मनोविज्ञानशाला की निदेशक उषा चन्द्रा ने बच्चों को सलाह दी है कि जो पढ़ रहे हैं, उससे जुड़े अधिक से अधिक प्रश्न स्वयं बनाएं। खुद सोचें कि उस टॉपिक पर क्या, कितना और कितने तरीके से पूछा जा सकता है। जो पढ़ा है उसे रिवाइज करें और फिर आगे की पढ़ाई करें। किसी टॉपिक को पढ़ें तो समझने की कोशिश करें कि क्या मुख्य बात है। किसी विषय को अपने शब्दों में लिखने की कोशिश करें। क्योंकि किताबी भाषा बहुत लंबे समय तक याद नहीं रहती। खुद से लिखने से आत्मविश्वास बढ़ता है और परीक्षा के दौरान कभी भी तनाव महसूस नहीं होता।

मुख्यमंत्री योगी बोले- मन लगा कर परीक्षा दीजिए
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों से कहा है कि वह बिना किसी तनाव के मन लगा कर परीक्षा दें। सीबीएसई की परीक्षाएं शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री ने शनिवार सुबह ट्वीट कर परीक्षा देने जा रहे बच्चों की हौसला अफजाई कर संदेश दिया। उन्होंने कहा- प्यारे विद्यार्थियों, युवा साथियों आज से आप सभी की सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो रहीं हैं। बिना किसी तनाव के या दबाव को महसूस किए, एकाग्र होकर एवं मन लगा कर परीक्षा दीजिए। मेहनत और लगन का कोई विकल्प नहीं है और इसका परिणाम सदैव सुखद होता है। आखिरी में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UP Board Exams from 18th February student should overcome from exam phobia says experts