DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  UP Board Exam Results 2021: कोई छात्र फेल नहीं होगा, ऐसे समझें हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट फार्मूले का गणित
करियर

UP Board Exam Results 2021: कोई छात्र फेल नहीं होगा, ऐसे समझें हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट फार्मूले का गणित

विशेष संवाददाता,लखनऊPublished By: Alakha Singh
Sun, 20 Jun 2021 11:58 PM
UP Board Exam Results 2021: कोई छात्र फेल नहीं होगा, ऐसे समझें हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट फार्मूले का गणित

UPMSP UP Board 10th, 12th Exam Results 2021 : इंटरमीडिएट और हाईस्कूल के विद्यार्थियों का परीक्षाफल जारी करने का फार्मूला जारी कर दिया गया है। इंटरमीडिएट का रिजल्ट तय करने के लिए 50 फीसदी अंक हाईस्कूल, कक्षा 11 की वार्षिक या अर्धवार्षिक परीक्षा के 40 फीसदी अंक और कक्षा 12 की प्री-बोर्ड परीक्षा के 10% अंक शामिल किए जाएंगे। इसी तरह हाईस्कूल के रिजल्ट के लिए कक्षा-9 की लिखित परीक्षा के 50 प्रतिशत अंक, कक्षा 10 की प्री-बोर्ड परीक्षा के 50 फीसदी अंक समेत स्कूल स्तर पर हुई आंतरिक परीक्षा में मिले अंक शामिल किए जाएंगे। रविववार को उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने यूपी बोर्ड के परीक्षाफल निर्धारण का यह फार्मूला जारी किया है।

कोई छात्र फेल नहीं होगा
हर विषय के अंक इसी फार्मूले से निकाल कर रिजल्ट तैयार किया जाएगा। वर्ष 2021 के पंजीकृत परीक्षार्थी यदि अपने अंकों में सुधार चाहते हैं तो उन्हें अगली बोर्ड परीक्षा में एक या एक से अधिक विषयों में बिना शुल्क दिए शामिल होने का मौका दिया जाएगा। इस वर्ष कोई भी परीक्षार्थी फेल नहीं होगा।

जारी फार्मूले में सभी वर्गों व संस्थागत, व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का ध्यान रखा गया है। इंटरमीडिएट में मानविकी, विज्ञान, वाणिज्य, कृषि व व्यावसायिक वर्गों में परीक्षाएं होती हैं। इन विषय-वर्गों में कई विषय ऐसे हैं, जिनमें प्रयोगात्मक परीक्षाएं भी होती हैं और कुछ में आंतरिक मूल्यांकन। इसके लिए स्केलिंग की व्यवस्था लागू की गई है।

ऐसे तैयार होगा इंटरमीडिएट का रिजल्ट
इंटरमीडिएट 2021 के रिजल्ट के लिए यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर सम्बन्धित परीक्षार्थियों के कक्षा-10 की बोर्ड परीक्षा, कक्षा-11 की वार्षिक/ अर्धवार्षिक परीक्षा, कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा व प्रयोगात्मक परीक्षाओं के अंक उपलब्ध हैं।

जिन विषयों में प्रयोगात्मक परीक्षाएं नही होती हैं, जिनका पूर्णांक 100 अंकों का होता है-
-कक्षा-10 की बोर्ड परीक्षा के कुल प्राप्तांक के औसत का 50 फीसदी। औसत की गणना कक्षा-10 के सभी विषयों के कुल प्राप्तांक को कुल विषयों की संख्या अर्थात 6 से विभाजित करके आंका जाएगा।

-कक्षा-11 की वार्षिक परीक्षा में संबंधित विषय विशेष में पूर्णांक 100 अंक में मिले प्राप्तांक का 40 प्रतिशत अंक
-कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा में संबंधित विषय विशेष में पूर्णांक 100 अंक में मिले प्राप्तांक का 10 प्रतिशत अंक
इन तीनों अंकों को जोड़कर संबंधित परीक्षार्थी के विषयवार अंकों का निर्धारण किया जाएगा।
-प्रयोगात्मक विषयों के लिए 70 अंकों पर स्केल करके लिखित परीक्षा के नंबर और आंतरिक मूल्यांकन के वास्तविक अंक जोड़े जाएंगे।

इसे ऐसे समझें
कमल को कक्षा-10 की वार्षिक परीक्षा में 600 में से 300 अंक मिले, इसका औसत होगा 300/6 = 50 अंक। इसका 50 फीसदी 25 अंक होगा।
कमल को कक्षा-11 में गणित में 100 में से 60 अंक मिले तो इसका 40 फीसदी 24 अंक होगा।

कमल को कक्षा-12 की प्रीबोर्ड परीक्षा में गणित में 50 अंक मिले हैं तो इसका 10 फीसदी 5 अंक होंगे।
इंटरमीडिएट में कमल के गणित में 25+24+5=54 अंक होंगे।

-पांचों विषय के अंक इसी फार्मूले से निकाले जाएंगे और इसी के आधार पर पूरा रिजल्ट तैयार होगा।

हाईस्कूल का रिजल्ट निर्धारण
हाईस्कूल में 70 अंकों की लिखित परीक्षा और 30 अंकों का आंतरिक मूल्यांकन होता है। वर्ष 2021 के आन्तरिक मूल्यांकन के अंक वेबसाइट पर हैं। कक्षा-9 की वार्षिक परीक्षा और कक्षा-10 की लिखित प्री-बोर्ड परीक्षा के अंक बोर्ड की वेबसाईट पर अपलोड है। ये 70-70 अंकों की हैं।

ये रहा फार्मूला-
-कक्षा-9 की 70 अंकों की वार्षिक विषयवार लिखित परीक्षा के प्राप्तांकों के 50 प्रतिशत अंक ।
-कक्षा-10 की 70 अंकों की प्री-बोर्ड विषयवार लिखित परीक्षा के प्राप्तांकों के 50 प्रतिशत अंक ।
-वर्ष 2021 में स्कूल स्तर पर सम्पादित 30 अंकों की आन्तरिक मूल्यांकन परीक्षा के अंक।
तीनों को जोड़कर सम्बन्धित परीक्षार्थी के विषयवार अंकों का निर्धारण किया जाएगा।

इसे ऐसे समझें
-निशा को कक्षा-9 की सामाजिक विज्ञान की वार्षिक परीक्षा में 70 में 60 अंक मिले तो इसका 50 फीसदी हुआ 30
-कक्षा-10 की प्री-बोर्ड लिखित परीक्षा में 70 अंकों में 40 अंक मिले तो इसका 50 फीसदी हुआ 20
-आंतरिक मूल्यांकन में 30 में से 28 अंक हासिल किए
ये रहे सामाजिक विज्ञान में निशा के अंक- 30+20+28=78 अंक।

# छह विषय के अंक इसी फार्मूले से निकाले जाएंगे और इसी के आधार पर रिजल्ट तैयार होगा।

खास-खास
2021 की परीक्षा में कुल पंजीकृत परीक्षार्थी- 56,04,628
-हाईस्कूल में 29,94,312 परीक्षार्थी पंजीकृत (संस्थागत - 29,74,487 (99.34 प्रतिशत) व व्यक्तिगत 19,825 (0.66 प्रतिशत)
-इण्टरमीडिएट में कुल 26,10,316 परीक्षार्थी पंजीकृत, (संस्थागत परीक्षार्थी 25,17,658 (96.45 प्रतिशत) व व्यक्तिगत परीक्षार्थी 92,658 (3.55 प्रतिशत)

अन्य फार्मूले

  1. -इण्टरमीडिएट के व्यक्तिगत/संस्थागत विद्यार्थी के यदि कक्षा-11 की दोनों परीक्षाओं (वार्षिक परीक्षा व अर्धवार्षिक) या कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा या हाईस्कूल के (व्यक्तिगत/संस्थागत) परीक्षार्थी के कक्षा-9 की वार्षिक परीक्षा या कक्षा-10 की प्री-बोर्ड परीक्षा के अंक उपलब्ध नहीं होंगे, उन्हें बिना अंकों के सामान्य रूप से प्रोन्नत किया जाएगा।
  2. - जिस परीक्षार्थी के वार्षिक, अर्धवार्षिक, प्री-बोर्ड परीक्षा के अधिकतम तीन विषयों तक अंक नहीं होंगे तो उस परीक्षा के शेष विषयों के प्राप्तांक का औसत उन तीन विषयों में दिया जाएगा।
  3. - यदि परीक्षार्थियों के कक्षा-12 की प्रयोगात्मक परीक्षा/कक्षा-10 के आंतरिक मूल्यांकन के अंक उपलब्ध नहीं हैं तो परीक्षार्थी को उस विषय विशेष में लिखित परीक्षा के लिए निर्धारित प्रक्रिया से प्राप्त अंक को उस विषय विशेष के पूर्णांक के आधार पर स्केल करके प्रयोगात्मक परीक्षा के अंक दिए जाएंगे।
  4. -लिखित परीक्षा में न्यूनतम उत्तीर्णांक प्राप्त नहीं होने लेकिन आंतरिक मूल्यांकन/ प्रयोगात्मक परीक्षा में उत्तीर्ण होने की स्थिति में परीक्षार्थी को बिना अंक के सामान्य प्रोन्नति दी जाएगी।
  5. -प्रयोगात्मक विषयों में कक्षा 9/10/11/12 के उपलब्ध अंकों को बोर्ड की लिखित परीक्षा के निर्धारित अंकों पर स्केल करके प्रयोगात्मक/ आंतरिक मूल्यांकन के अंक (जो भी लागू होते हैं) से जोड़ा जाएगा।
  6. -अन्य बोर्डों के परीक्षार्थियों (जिनके पूर्णांक माध्यमिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0 प्रयागराज के संगत विषयों से भिन्न हैं) के प्राप्तांक का आगणन माध्यमिक शिक्षा परिषद के पूर्णांक के सापेक्ष स्केल करके किया जाएगा।
  7. -प्रयोगात्मक विषयों में कक्षा 9/10/11/12 के उपलब्ध अंकों को बोर्ड की लिखित परीक्षा के निर्धारित अंकों पर स्केल करके प्रयोगात्मक/ आंतरिक मूल्यांकन के अंक (जो भी लागू होते हैं) से जोड़ा जायेगा।

संबंधित खबरें