ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरUP Board 2023: स्टूडेंट्स परीक्षा में नहीं कर सकेंगे नकल, योगी सरकार ने जारी की सख्त गाइडलाइंस

UP Board 2023: स्टूडेंट्स परीक्षा में नहीं कर सकेंगे नकल, योगी सरकार ने जारी की सख्त गाइडलाइंस

UP Board 2023: यूपी बोर्ड परीक्षा शुरू होने में कुछ ही दिन बाकी है। ऐसे में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने राज्य में निष्पक्ष और नकल मुक्त बोर्ड परीक्षाओं को सुनिश्चित करने के लिए दिशानिर्देश ज

UP Board 2023: स्टूडेंट्स परीक्षा में नहीं कर सकेंगे नकल, योगी सरकार ने जारी की सख्त गाइडलाइंस
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 30 Jan 2023 08:13 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

UP Board 2023: यूपी बोर्ड परीक्षा शुरू होने में कुछ ही दिन बाकी है।  ऐसे में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने राज्य में निष्पक्ष और नकल मुक्त बोर्ड परीक्षाओं को सुनिश्चित करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। आइए विस्तार जानते हैं।

- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के अनुसार, परीक्षा केंद्रों पर 50 फीसदी इंविजिलेटर बाहर से होंगे जबकि जिस विषय की परीक्षा होनी है उस विषय के शिक्षक को इनविजिलेटर के तौर पर उनकी ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी।

- इसके अलावा, किसी भी छात्रा की तलाशी पुरुष निरीक्षक द्वारा नहीं ली जाएगी। वहीं परीक्षा के दौरान इन्वेस्टिगेटर को मोबाइल, कैलकुलेटर या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का उपयोग करने की भी अनुमति नहीं होगी।

- माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव दिव्यकांत शुक्ला के मुताबिक, 'प्रत्येक परीक्षा हॉल में दो इन्वेस्टिगेटर होंगे जबकि 40 से अधिक छात्रों वाले हॉल में तीन इन्वेस्टिगेटर होंगे।

हर पांच परीक्षा कक्ष के बाद एक रिलीजर तैनात किया जाएगा। एक परीक्षा केंद्र पर आवश्यक संख्या में इन्वेस्टिगेटर की अनुपस्थिति में, वरिष्ठता के आधार (seniority basis) पर माध्यमिक शिक्षकों को प्राथमिकता दी जाएगी, जबकि प्राथमिक शिक्षक सबसे बाद में आएंगे।"

- गाइडलाइंस में आगे कहा गया है कि जिन केंद्रों पर छात्राओं की परीक्षा हो रही है वहां महिला इन्वेस्टिगेटर  तैनात की जाएंगी।

- किसी भी शिक्षक को उनके अनुरोध करने पर किसी विशेष परीक्षा केंद्र पर नियुक्त नहीं किया जाएगा। वहीं जहां किसी के0 परिचित और रिश्तेदार परीक्षा दे रहे हैं, वहां इन्वेस्टिगेटर ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी।

- इसमें आगे कहा गया है कि: "परीक्षाओं की निष्पक्षता बनाए रखने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में जिन स्कूलों के छात्र उस केंद्र पर शामिल हो रहे हैं, उनके शिक्षकों को केंद्र पर तैनात नहीं किया जाएगा।

- इन्वेस्टिगेटर को प्रश्नपत्रों की गोपनीयता और सुरक्षा को भी सुनिश्चित करना होगा साथ ही यह भी देखना होगा कि परीक्षार्थी नकल, मोबाइल फोन, कैलकुलेटर या ऐसे किसी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के लिए परीक्षा हॉल में प्रवेश न करें।

-इन्वेस्टिगेटर  परीक्षा हॉल का निरीक्षण करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि ब्लैकबोर्ड पर कोई  टेक्स्ट मैटेरियल, पोस्टर, चार्ट, लिखित निर्देश नहीं है, जो परीक्षार्थियों के लिए फायदेमंद हो। बता दें, उत्तर प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 16 फरवरी से शुरू होंगी।