University of Allahabad Students and teachers protest in delhi at jantar mantar - इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों और शिक्षकों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर दिया धरना DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों और शिक्षकों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर दिया धरना

                                                                                                                                                                     -

दिल्ली के जंतर-मंतर पर गुरुवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों, पुराछात्रों और शिक्षकों ने यूनिवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ धरना दिया। प्रोफेसर रामकिशोर शास्त्री (पूर्व अध्यक्ष शिक्षक संघ, इविवि) और रोहित मिश्रा (पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष, इविवि) ने धरने का नेतृत्व किया। इस दौरान रोहित मिश्रा ने कहा कि आज शिक्षक दिवस के दिन विवि में हो रहे दीक्षांत समारोह में किसी भी आम छात्र को जाने की इजाजत नहीं है, एक तरफ जहां विवि प्रशासन जश्न मना रहा है वहीं विवि का आम छात्र सड़क पर पुलिसिया लाठियों से पीटा जा रहा है। साथ ही विवि के पुराछात्र रहे यूपी डीजीपी ने ओपी सिंह ने मानद उपाधि लेने से मना कर दिया है। ये तमाम घटनाएं पूरब के ऑक्सफ़ोर्ड के ऊपर एक एक दाग की तरह है। उन्होंने ये भी कहा कि इस महान शिक्षण संस्थान और उसके दीक्षांत समारोह की इस दुर्गति को देखते हुए हम सभी लोगों ने आज का दिन "अधःपतन दिवस" के रूप में मनाया।

"इविवि बचाओ संयुक्त संघर्ष समिति" के तत्वाधान में धरने के दौरान प्रोफेसर शास्त्री ने कहा कि विगत साढ़े तीन वर्षों से भ्रष्टाचार चरम पर है और परिसर के लोकतांत्रिक मूल्यों की नृशंस हत्या की जा चुकी है। कुलपति हांगलू और विवि प्रशासन पर लगभग 500 मुकदमे न्यायालय में लंबित है साथ ही लगभग 3 दर्जन अवमानना के मामले माननीय न्यायालय में लंबित है जो कुलपति हांगलू की प्रशासनिक असफलता का खुला उदाहरण है। मंत्रालय द्वारा विवि की इस दुःखद दुर्व्यवस्था की जांच हेतु तीन तीन जांच समितियां भेजी गई जिन्होंने विवि के कुलपति रतन लाल हांगलू द्वारा प्रायोजित अकादमिक अराजकता, भ्रष्टाचार और अलोकतांत्रिक गतिविधियों को सही पाया किन्तु इसके बावजूद भी मंत्रालय मौन बैठा हुआ है। हमारी मांग है कि कुलपति रतन लाल हांगलू को तत्काल निलंबित कर उन्हें छुट्टी पर भेजा जाय साथ ही कुलपति के कार्यकाल में हुई समस्त नियुक्तियों/कार्यवाहियों/निर्णयों की सीबीआई जांच कराई जाए।

धरना में जनकवि गौरव अधिराष्ट्र, सचिन पाठक, विश्वदीपक त्रिपाठी, विश्वदीप शुक्ला,  प्रकाश, प्रशांत, अमित, सचिन, लकी सिंह, अनुराग ओझा,आकांक्षा, रागिनी, वंदना सहित सैकड़ों छात्र/पुराछात्र मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:University of Allahabad Students and teachers protest in delhi at jantar mantar