DA Image
1 अगस्त, 2020|7:21|IST

अगली स्टोरी

University Exams : यूजीसी की नई गाइडलाइन्स का इंतजार जारी, फाइनल ईयर छात्रों के लिए जल्द आएगी अच्छी खबर

hrd minister and ugc

University Exams : देशभर में विश्वविद्यालय और कॉलेजों में फाइनल ईयर की परीक्षा पर यूजीसी नई गाइडलाइन्स के बीच राज्यों के विभिन्न विश्वविद्यालयों ने छात्रों को प्रमोट करने के नीति को अमल करना शुरू कर दिया है। 03 जुलाई गुरुवार को कलकत्ता यूनिवर्सिटी ने अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर स्टूडेंट्स को इंटरनल असेसमेंट और पिछले सेमेस्टर की परीक्षा के आधार पर प्रोन्नत करने का फैसला किया है। इस नियम में 20 फीसदी अंक छात्रों को उनके इंटरनल असेसमेंट और 80 फीसदी अंक पिछली परीक्षा के आधार पर दिए जाएंगे। इसी प्रकार फाइनल ईयर/सेमेस्टर (BA/B.Sc. पार्ट III और B.Com पार्ट III) पुरानी शिक्षा पद्धति में पिछले दो सालों के मार्क्स का बेस्ट एग्रीगेट परसेंटेज से 80 फीसदी मार्क्स दिए जाएंगे जबकि इंटरनल असेसमेंट से 20 फीसदी मार्क्स दिए जाएंगे। यूजीसी की गाइडलाइन्स का इंतजार कर रहे छात्रों को जल्द ही राहत देने वाली खबर मिल सकती है।

इसी बीच देश की प्रतिष्ठित परीक्षाएं जेईई मेन और नीट 2020 को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से 30 अगस्त तक स्थगित करने का फैसला किया गया है। ये परीक्षांए अब JEE Main 01 सितंबर से 5 सितंबर तक, जेईई एडवांस 27 सितंबर को और नीट 2020 का आयोजन 13 सितंबर को किया जाएगा। काफी समय से जेईई और एनईईटी के छात्रों द्वारा परीक्षाएं स्थतगित कर नई परीक्षा तिथियां घोषित करने की मांग की जा रही थी।

 

इससे तीन-चार दिन पहले 29 जून को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा व्रिश्वविद्यालय परीक्षा पर बनी समिति ने सभी परीक्षाओं को रद्द कर छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने की शिफारिश की थी जिसे राज्य सरकार ने स्वीकार कर लिया था। उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालयों की परीक्षा व रिजल्ट की रणनीति बनाने का मंथन अंतिम चरण में है। इसी सप्ताह या अगले सप्ताह छात्रों को इस बारे में कोई अच्छी खबर मिल सकती है।

वहीं कई विश्वविद्यालय और स्नातक/परास्नातक फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स यूजीसी की नई गाइडलाइंस के इंतजार में हैं। यूजीसी की नई गाइडलाइन में फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को पास करने के वाले किसी फॉर्मूले का सुधाव आ सकता है। क्योंकि इसे पहले मई में जारी की गई गाइडलाइन्स में यूजीसी ने फाइनल की परीक्षाएं कराने पर ही जोर दिया था। आपको बता दें कि यूजीस के अधिकारी पहले ही संकते दे चुके हैं कि अकादमिक सत्र 2020-2021 और फाइनल परीक्षाओं के बारे में यूजीसी जल्द ही नई गाइडलाइन्स जारी करेगी।

उत्तर प्रदेश में प्रोन्नत करने के फॉर्मूले पर मंथन
उत्तर प्रदेश के राज्य विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं रद्द कर छात्रों को अगली कक्षाओं में भेजने के मामले में गुरुवार को कोई आदेश जारी नहीं हो सका। छात्रों को परीक्षाएं कराए बगैर अगली कक्षाओं और अगले सेमेस्टर में प्रमोट करने के फॉर्मूले पर मंथन जारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को उनके सरकारी आवास पर हुई बैठक में ही परीक्षाएं निरस्त करने का फैसला ले लिया गया था। परीक्षाओं के संबंध में गठित चार कुलपतियों की कमेटी ने परीक्षाएं निरस्त कर छात्रों को अगली कक्षाओं में प्रोन्नत करने की सिफारिश की थी। बैठक में यह भी तय किया गया था कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय की गाइड लाइन देखने के बाद छात्रों को अगली कक्षाओं में प्रोन्नत करने का फारमूला तय किया जाएगा।

हरियाणा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में सभी स्टूडेंट्स की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। स्टूडेंट्स को उनके पहले के पेपरों में प्रदर्शन के आधार पर पास किया जाएगा। 
   
दिल्ली में कॉलेज परीक्षाएं-
दिल्ली यूनिवर्सिटी ने फाइनल ईयर के छात्रों के लिए ओपन बुक एग्जाम का नया शेड्यूल जारी कर दिया है। अब ये परीक्षाएं 10 जुलाई से शुरू होंगी। पहले यह 1 जुलाई से शुरू हो रही थीं।

राजस्थान यूनिवर्सिटी ने जारी की परीक्षा की डेटशीट
राजस्थान यूनिवर्सिटी ने यूजी फाइनल ईयर एग्जाम का टाइम टेबल घोषित कर दिया है। परीक्षाएं 15 जुलाई से शुरू होंगी। जो कि 7 सितंबर तक चलेंगी। परीक्षा कार्यक्रम विवि की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:University Exams: Waiting for new guidelines of UGC continues good news for final year students will come soon