DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  सितंबर के अंत तक यूनिवर्सिटी परीक्षाएं कराना असंभव: महाराष्ट्र सरकार

करियरसितंबर के अंत तक यूनिवर्सिटी परीक्षाएं कराना असंभव: महाराष्ट्र सरकार

PTI,नई दिल्लीPublished By: Anuradha Pandey
Fri, 10 Jul 2020 12:54 PM
सितंबर के अंत तक यूनिवर्सिटी परीक्षाएं कराना असंभव: महाराष्ट्र सरकार

महाराष्ट्र के मंत्री उदय सावंत ने गुरुवार को केंद्र को जानकारी दी कि राज्य में कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए सितंबर के अंत तक यूनिवर्सिटीज के फाइनल ईयर की परीक्षाएं कराना संभव नहीं है। 
सोमवार को यूजीसी की गाइडलाइंस आने के बाद टेक्निकल और हायर एजुकेशन मंत्री ने इस मामले में मानव संसाधन विकास मंत्रालाय को पत्र भी लिखा है। सावंत ने बताया कि मैंने यूजीसी और मानव संसाधन विकास मंत्रालय दोनों को पत्र लिखकर सूचित किया है कि कोरोना वायरस महामारी की इस परिस्थिति को देखते हुए सिंतबर के अंत तक फाइनल ईयर की परीक्षाएं कराना अंसभव है।  
आपको बता दें कि यूजीसी ने गाइडलाइंस जारी कर कहा था कि यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं अनिवार्य हैं। सितंबर के अंत तक सभी  यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं करानी हैं।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के 2,23,724  केस हो चुके हैं, जो देश में सबसे ज्यादा हैं।  उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार को  यूनिवर्सिटीज के वाइज चांसलर के सुझाव पर परीक्षाएं न कराने का फैसला लेना चाहिए। आपको बता दें कि  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के सचिव प्रो. रजनीश जैन ने गुरुवार को कहा कि अगर हम फाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षाएं नहीं कराएंगे तो इससे उनकी डिग्री की वैधता पर एक सवाल उठता है। उन्होंने कहा कि हमने देखा कि बदलती हुई कोविड-19 की परिस्थितियों और छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को देखते हुए जुलाई में अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा कराना संभव नहीं था, इसलिए 30 सिंतबर तक परीक्षा कराने की गाइडलाइंस दी गई हैं। 

न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी और कॉलेज ऑनलाइन, ऑफलाइन या ब्लेंडेड किसी भी मोड से परीक्षाएं आयोजित कर सकते हैं। परीक्षाएं आयोजित करने की गाइडलाइंस स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुझाई गई मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) के आधार पर ही जारी की गई हैं। 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें