ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरUGC NET : यूजीसी नेट में गणित और रीजनिंग में उलझे अभ्यर्थी, जानें कितने उम्मीदवारों ने दिया एग्जाम

UGC NET : यूजीसी नेट में गणित और रीजनिंग में उलझे अभ्यर्थी, जानें कितने उम्मीदवारों ने दिया एग्जाम

UGC NET : यूजीसी नेट परीक्षा मंगलवार को ओएमआर आधारित पेन-एंड-पेपर टेस्ट मोड में आयोजित की गई। अभ्यर्थियों के अनुसार प्रश्न के स्तर सामान्य रहे जिसमें अधिकतर प्रश्न अर्थात मिलान करने वाले पूछे गये।

UGC NET : यूजीसी नेट में गणित और रीजनिंग में उलझे अभ्यर्थी, जानें कितने उम्मीदवारों ने दिया एग्जाम
Pankaj Vijayहिन्दुस्तान,प्रयागराज पटनाWed, 19 Jun 2024 08:05 AM
ऐप पर पढ़ें

यूजीसी नेट परीक्षा मंगलवार को ओएमआर आधारित पेन-एंड-पेपर टेस्ट मोड में आयोजित की गई। अभ्यर्थियों के अनुसार प्रश्न के स्तर सामान्य रहे जिसमें अधिकतर प्रश्न अर्थात मिलान करने वाले पूछे गये। पटना के कंकड़बाग केंद्रीय विद्यालय से परीक्षा देकर लौट रहे विद्यार्थियों ने बताया कि कुछ प्रश्न तर्क आधारित पूछे गये थे, जिसे हल करने में अधिक समय लगा। वहीं दानापुर कैंट रोड स्थित डीएवी से परीक्षा देकर लौट रहे छात्रों ने बताया कि परीक्षा सेंटर दूर होने की वजह से आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके अलावा ग्रामीण इलाके में परीक्षा सेंटर होने से भी विद्यार्थियों काफी देर तक जाम का सामना करना पड़ा। 

पेपर वन में डीआई से पांच प्रश्न वहीं चार प्रश्न कंप्यूटर और पांच प्रश्न गणित विषय से पूछे गये। तार्किक क्षमता एवं इतिहास सहित फिजिक्स केमिस्ट्री से पूछे गये सवालों ने भी विद्यार्थियों को काफी उलझाया। साथ ही सामान्य जागरूकता वाले प्रश्न भी शामिल रहे। अगर टीचिंग एटीट्यूड की बात करें तो यूजीसी अपने विद्यार्थियों के समक्ष नए प्रश्न पूछे। पहली पाली सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक चली और दूसरी पाली दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक हुई।

प्रयागराज में कुछ अभ्यर्थियों ने कहा कि प्रथम प्रश्नपत्र में गणित और रीजनिंग सवाल काफी कठिन रहे। जिसे हल करने में छात्र उलझे रहे। अधिकांश समय इन्हीं प्रश्नों को हल करने में लग गया। छात्रों ने दावा किया कि बदले पैटर्न पेपर-1 में डाटा इंटरप्रिटेशन से चुनौतीपूर्ण रहा। वहीं, इस बार हर यूनिट से पांच प्रश्न नहीं पूछे गए। परीक्षार्थी नवनीत ने बताया कि रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन का स्तर कठिन रहा जबकि दोनों पालियों के पेपर-1 में डाटा इंटरप्रिटेशन भी चुनौतीपूर्ण था। पैटर्न की बात करें तो पेपर-1 में अनुसंधान और शिक्षण अभियोग्यता से संबंधित 50 प्रश्न होते हैं, जिसमें 10 यूनिट शामिल हैं और प्रत्येक यूनिट से 5 प्रश्न अपेक्षित हैं। हालांकि इस बार हर यूनिट से 5 प्रश्न नहीं पूछे गए। अनुसंधान और शिक्षण योग्यता से संबंधित अपेक्षाकृत कम प्रश्न थे। अनुक्रम और कालक्रम संबंधित प्रश्नों की संख्या भी अधिक थी। दूसरी ओर कुछ अन्य अभ्यर्थियों ने बताया कि विषयों के छात्रों के लिए द्वितीय पेपर काफी अच्छा रहा। विदित हो कि प्रयागराज के 33 केंद्रों पर दो पालियों में यूजीसी नेट आयोजित किया गया। इसके लिए 20543 परीक्षार्थी पंजीकृत रहे।

यूजीसी अध्यक्ष एम जगदीश कुमार ने कहा कि यूजीसी नेट परीक्षा देश भर के 317 शहरों में 1205 परीक्षा केंद्रों पर 11,21,225 उम्मीदवारों के लिए आयोजित की गई थी। कुल पंजीकृत उम्मीदवारों में से लगभग 81 फीसदी उम्मीदवार परीक्षा में शामिल हुए।

Virtual Counsellor
Advertisement