DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरएसएससी परीक्षा में साल्वर बैठाने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

एसएससी परीक्षा में साल्वर बैठाने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

मुख्य संवाददाता,लखनऊAlakha Singh
Fri, 22 Oct 2021 10:10 PM
एसएससी परीक्षा में साल्वर बैठाने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

कर्मचारी चयन आयोग और परीक्षा नियामक प्राधिकारी द्वारा आयोजित परीक्षाओं में साल्वर बैठाने वाले गिरोह के दो सदस्यों को एसटीएफ ने गुरुवार रात को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी पटना के रहने वाले है और 21 अक्तूबर को आयोजित एसएससी परीक्षा में साल्वर के तौर पर शामिल होने आये थे। ये लोग लखनऊ के अलावा कई और जगह पर सात परीक्षाओं में असली अभ्यर्थियों की जगह परीक्षा दे चुके हैं। इस गिरोह का सरगना बिहार का नितीश कुमार है जो कि फरार है। एसटीएफ इस गिरोह के अन्य साथियों की तलाश कर रही है।

एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश के मुताबिक नाका में पकड़े गये इन आरोपियों में पटना, रुकनपुरा के आदर्श विहार कालोनी निवासी शिवम राज और पटना, महेन्द्रू निवासी सूरज कुमार है। इनके पास कई अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र, आधार कार्ड, एटीएम, 14 एटीएम कार्ड और रुपये मिले हैं। ये लोग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं में साल्वर बैठाते थे और खुद भी साल्वर बनते थे। इस गिरोह के बारे में सूचना मिलने पर एसटीएफ के इंस्पेक्टर ज्ञानेन्द्र राय, एसआई वीरेन्द्र यादव ने सर्विलांस की मदद से उन्हें चारबाग रेलवे स्टेशन के पास पकड़ लिया।

सरगना कई सालों से कर रहा फर्जीवाड़ा
एसटीएफ के मुताबिक शिवम और सूरज ने बताया कि पटना का रहने वाला नितीश गिरोह का सरगना है। उसके पास कई साल्वर है। नितीश कई सालों से यह फर्जीवाड़ा कर रहा है। वह 30 से अधिक परीक्षाओं में साल्वर बैठा चुका है। नितीश ही अपने नेटवर्क से बिहार व उत्तर प्रदेश के अभ्यर्थियों से सम्पर्क करता है। फिर पांच से सात लाख रुपये लेकर असली अभ्यर्थी के स्थान पर साल्वर को बैठा देते हैं।

मिक्स कर बनवाते फोटो
गिरफ्तार शिवम ने बताया कि परीक्षा का आवेदन करते समय असली अभ्यर्थी और साल्वर की फोटो मिक्स कर फोटो तैयार करते हैं। ताकि एक नजर में देखने पर कोई भांप नहीं सके। यही फोटो आवेदन फार्म में लगायी जाती है। नितीश साल्वर को परीक्षा केन्द्र तक आने-जाने, खाने-पीने व होटल में रुकने की व्यवस्था करता है। मल्टी टास्किंग स्टाफ परीक्षा-2020 में इस महीने में शिवम व सूरज तीन परीक्षाओं में साल्वर के तौर पर बैठ चुके हैं।

सख्ती की वजह से केन्द्र से लौटना पड़ा
आरोपी शिवम राज ने बताया कि 18 अक्तूबर को लखनऊ के एक परीक्षा केन्द्र पर वह साल्वर के तौर पर शामिल होने गया था। पर, इस केन्द्र पर स्टाफ काफी सक्रिय था और सख्ती बरती जा रही थी। इस पर वह परीक्षा केन्द्र के बाहर से ही लौट आया था।

एक महीने में सात परीक्षा में साल्वर बने
शिवम इसी महीने सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूल, सहायक अध्यापक परीक्षा में साल्वर बनकर परीक्षा दे चुका है। शिवम ने बताया कि वह आज ही कानपुर के एक परीक्षा केन्द्र पर साल्वर के रूप में बैठने जाने वाला था पर उसके पहले ही एसटीएफ ने पकड़ लिया। वर्ष 2020 मे खण्ड शिक्षा अधिकारी की परीक्षा में भी वह साल्वर बन चुका है। इसी तरह सूरज ने बताया कि वह अब तक चार अभ्यर्थियों के स्थान पर परीक्षा दे चुका है। 
 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें