ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरTiranga Images Photos Messages Pics: तिरंगे की ये तस्वीरें शेयर कर मनाएं स्वतंत्रता दिवस का जश्न

Tiranga Images Photos Messages Pics: तिरंगे की ये तस्वीरें शेयर कर मनाएं स्वतंत्रता दिवस का जश्न

अब देशभक्ति के रंग में डूबे देशवासी अपनी व्हाट्सऐप डीपी और फेसबुक प्रोफाइल फोटो पर तिरंगा लगा रहे हैं। तिरंगे की कुछ आकर्षक तस्वीरें जिन्हें आप अपनी डीपी या प्रोफाइल पिक के तौर पर लगा सकते हैं।

Tiranga Images Photos Messages Pics: तिरंगे की ये तस्वीरें शेयर कर मनाएं स्वतंत्रता दिवस का जश्न
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 14 Aug 2022 05:29 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Tiranga Images Photos : सरकार आजादी के 75 वर्ष पूरा होने के अवसर पर 13-15 अगस्त तक हर घर तिरंगा अभियान चला रही है। सरकार ने लोगों से घर पर तिरंगा फहराने और आजादी की वर्षगांठ को उल्लास से मनाने की अपील की है। पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि सभी लोग सोशल मीडिया अकाउंट में तिरंगे की डीपी लगाकर इस अभियान को और सशक्त बनाएं। यह तिरंगा ही है, जो हमारी सांस्कृतिक विभिन्नता को एकजुटता में बदलता है। इससे अलग हमारी कोई पहचान ही नहीं। तिरंगा हमारी आन-बान और शान का प्रतीक है। तिरंगा हमारी भारतीयता की पहचान है, जो कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक, सबको एक डोर में बांधता है। अब देशभक्ति के रंग में डूबे देशवासी अपनी व्हाट्सऐप डीपी और फेसबुक प्रोफाइल फोटो पर तिरंगा लगा रहे हैं। 

यहां हम पेश कर रहे हैं तिरंगे की कुछ आकर्षक तस्वीरें जिन्हें आप अपनी डीपी या प्रोफाइल पिक के तौर पर लगा सकते हैं। 

ये भी जानें- पिंगली वेंकैया इस राष्ट्रध्वज के रचनाकार थे। उनका भारत के स्वतंत्रता संग्राम में भी उनका अतुलनीय योगदान रहा। 1921 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने एक भारतीय ध्वज की आवश्यकता महसूस की। गांधी जी ने पिंगली वेंकय्या को ध्वज डिजाइन करने को कहा था। 

तिरंगे में किस रंग का क्या है मतलब- इसके शीर्ष पर केसरिया रंग है जो शक्ति और साहस का प्रतीक है। इसके मध्य में सफेद रंग है, जो शांति और सत्य का प्रतीक है। सबसे नीचे हरा रंग है, जो भूमि की उर्वरता, विकास और शुभता प्रदर्शित करता है। ध्वज के वर्तमान रूप के केन्द्र में 24 तीलियों वाला चक्र है। इस चक्र का उद्देश्य यह दिखाना है कि गति में ही जीवन है ।

नए प्रावधान के तहत अब देश के नागरिकों द्वारा झंडा दिन के साथ रात में भी फहराया जा सकता है। सूर्यास्त के समय झंडा उतारना अनिवार्य नहीं है। पहले, मशीन से बने और पॉलिएस्टर से बने राष्ट्रीय ध्वज को फहराने की अनुमति नहीं थी। लेकिन दिसंबर 2021 में इसकी अनुमति दे दी गई। अब हाथ या मशीन से बना हुआ कपास/पॉलिएस्टर/ऊन/ रेशमी खादी से बना तिरंगा भी अपने घर पर फहराया जा सकता है। 

झंडे की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 का होना चाहिए। अशोक चक्र का कोई माप तय नही हैं सिर्फ इसमें 24 तिल्लियां होनी आवश्यक हैं। झंडा अगर फट जाए या फिर मैला हो जाए तो उसे एकांत में मर्यादित तरीके से नष्ट करना चाहिए

epaper